4 मार्च: देश-दुनिया के इतिहास में आज के दिन की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ

By रविकांत पारीक
March 04, 2022, Updated on : Fri Mar 04 2022 00:31:34 GMT+0000
4 मार्च: देश-दुनिया के इतिहास में आज के दिन की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ
ग्रेगोरी कैलंडर के अनुसार 4 मार्च वर्ष का 63 वाँ (लीप वर्ष में यह 64 वाँ) दिन है। साल में अभी और 302 दिन शेष हैं।
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

4 मार्च की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ

1921 - असहयोग आंदोलन में इस दिन ननकाना के एक गुरुद्वारे, जहाँ पर शान्तिपूर्ण ढंग से सभा का संचालन किया जा रहा था, पर सैनिकों के द्वारा गोली चलाने के कारण 70 लोगों की जानें गई।


1931 - ब्रिटिश वायसराय, गवरनोर-जनरल एडवर्ड फ्रेदेरिक्क लिन्द्ले वुड और मोहनदास करमचंद गाँधी जी (महात्मा गाँधी) में भेंट राजनीतिक कैदियों की रिहाई और नमक के सर्वजन उपयोग की छूट को लेकर मंत्रणा और इकरारनामे की घोषणा।


1998 - भारत के प्रकाश शाह सं.रा. महासचिव द्वारा बगदाद में विशेष प्रतिनिधि नियुक्त।


1999 - संयुक्त राष्ट्र के कर्मचारियों को अपनी परित्यक्ता पतनी एवं बच्चों को जीवन निर्वाह भत्ता देने की घोषणा।


2001 - तालिबान ने मूर्तियों को ख़रीदने की ईरान की पेशकश ठुकराई।


2002 - राष्ट्रमंडल में जिम्बाब्वे के ख़िलाफ़ प्रस्ताव नामंजूर, अफ़ग़ानिस्तान में भूस्खलन से 150 मरे।


2003 - नाइजीरिया के कब्बी राज्य में एक नौका के नाइजर नदी में डूब जाने से 80 व्यक्ति मारे गये।


2008 - तेलंगाना राज्य के गठन में हो रही देरी से नाराज़ तेलंगाना राष्ट्र समिति (टी.आर.एस) के विधायकों ने आन्ध्र प्रदेश विधानमण्डल की सदस्यता से इस्तीफा दिया। हिन्दी के प्रसिद्ध विद्वान् डॉ. मदन लाल मधु को प्रतिष्ठित सम्मान मीडिया यूनियन ने स्वर्णाक्षर पुरस्कार से सम्मानित किया। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने ईरान के ख़िलाफ़ नई पाबंदियाँ लागू की।


2009 - रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया ने प्रमुख ब्याज दरों में आधा प्रतिशत की कटौती की घोषणा की। पटना उच्च न्यायालय के चन्दमौली कुमार प्रसाद को इलाहाबाद उच्च न्यायालय व कर्नाटक उच्च न्यायालय को न्यायधीश दीपक वर्मा को राजस्थान उच्च न्यायालय का मुख्य न्यायधीश बनाया गया है। राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल ने नवीन चावला के मुख्यचुनाव आयुक्त पद पर नियुक्ति को मंज़ूरी दी। राजस्थान के पोखरन से ब्रह्मोस मिसाइल के नये संस्करण का परीक्षण किया गया।

4 मार्च को जन्मे व्यक्ति

1996 - कमलप्रीत कौर - भारतीय डिस्कस थ्रोअर महिला खिलाड़ी हैं।


1941 - प्रमोद काले - भारतीय अंतरिक्ष वैज्ञानिक हैं।


1856 - तोरु दत्त - अंग्रेज़ी भाषा की सर्वश्रेष्ठ प्रतिभासम्पन्न कवयित्री।


1883 - दरबान सिंह नेगी - प्रथम विश्व युद्ध के दौरान उन चंद भारतीय सैनिकों में से एक थे, जिन्हें ब्रिटिश राज का सबसे बड़ा युद्ध पुरस्कार "विक्टोरिया क्रॉस" मिला था।


1881 - रामनरेश त्रिपाठी, प्राक्छायावादी युग के महत्त्वपूर्ण कवि।


1886 - बलुसु संबमूर्ति, मद्रास के प्रमुख स्वतंत्रता सेनानी।


1921 - फणीश्वरनाथ रेणु, साहित्यकार।


1922 - दीना पाठक, प्रसिद्ध गुजराती रंगमंच और फ़िल्म अभिनेत्री।


1929 - कोमल कोठारी - राजस्थान के ऐसे व्यक्ति, जो राजस्थानी लोक गीतों व कथाओं आदि के संकलन एवं शोध हेतु समर्पित थे।


1930 - वीरेंद्र कुमार सकलेचा - मध्य प्रदेश के भूतपूर्व 10वें मुख्यमंत्री थे।


1980 - रोहन बोपन्ना, भारतीय टेनिस खिलाड़ी। कामालिनी मुखर्जी, भारतीय फ़िल्म अभिनेत्री।

4 मार्च को हुए निधन

1899 - ठाकुर जगमोहन सिंह - मध्य प्रदेश स्थित विजयराघवगढ़ के राजकुमार और प्रसिद्ध साहित्यकार।


1928 - सत्येन्द्र प्रसन्न सिन्हा - प्रसिद्ध भारतीय अधिवक्ता और राजनेता।


1939 - लाला हरदयाल - भारत के प्रसिद्ध क्रांतिकारी और 'गदर पार्टी' के संस्थापक।


2007 - सुनील कुमार महतो, भारतीय सांसद।


2011 - अर्जुन सिंह - भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के वरिष्ठ राजनीतिज्ञों में से एक थे।


2016 - पी. ए. संगमा - भारत के राजनीतिज्ञों में से एक थे।


2002 - के. वी. रघुनाथ रेड्डी - भारतीय राजनीतिज्ञ थे।

4 मार्च के महत्त्वपूर्ण अवसर एवं उत्सव

राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस (औद्योगिक संस्थानों की सुरक्षा)