दिवाली तक ई-कॉमर्स सेक्टर में आएंगी 5 लाख नौकरियां: रिपोर्ट

By yourstory हिन्दी
October 07, 2022, Updated on : Fri Oct 07 2022 08:23:04 GMT+0000
दिवाली तक ई-कॉमर्स सेक्टर में आएंगी 5 लाख नौकरियां: रिपोर्ट
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

त्योहारों के इस सीजन में बिक्री जोरों पर होने के साथ, बढ़ती उपभोक्ता मांग को पूरा करने के लिए ई-कॉमर्स कंपनियां हायरिंग में तेजी ला रही हैं. TeamLease की एक रिपोर्ट के मुताबिक़, इस सेक्टर में अब तक करीब 300,000 नई नौकरियां पैदा हुई हैं और दिवाली तक 500,000 से अधिक नौकरियां तैयार होने की उम्मीद है.


हालांकि गिग वर्कर्स की मांग टियर-1 शहरों तक ही सीमित नहीं है. TeamLease की रिपोर्ट के अनुसार, टियर-2 और टियर-3 शहरों में डिलीवरी वर्कर्स की अधिक मांग के साथ 40 प्रतिशत की वृद्धि देखी गई है.


TeamLease में वाइस प्रेसिडेंट और बिजनेस हेड (रिटेल, ई-कॉमर्स, लॉजिस्टिक्स और ट्रांसपोर्टेशन) अजय थॉमस ने कहा, “लॉजिस्टिक्स डोमेन में हायरिंग भी बढ़ गई है क्योंकि ई-कॉमर्स कंपनियां अपने डिलीवरी टाइम को कम करने की कोशिश कर रही हैं. वास्तव में, तेजी से बढ़ते थर्ड पार्टी लॉजिस्टिक्स सेगमेंट में दिसंबर 2022 तक 800,000 नौकरियों के जुड़ने की उम्मीद है.”


"क्विक-कॉमर्स, QSR, रिटेल स्टोर, FMCG, और FOS (फुट-ऑन-द-स्ट्रीट) सेल्समैन डिलीवरी एक्जीक्यूटिव के अलावा अन्य सबसे अधिक मांग वाली भूमिकाएं हैं," उन्होंने कहा.


वर्तमान में, भारत को कम मार्जिन वाला बाजार माना जाता है जहां 300,000-400,000 लोग डिलीवरी एक्जीक्यूटिव के रूप में काम करते हैं. इसलिए, ई-कॉमर्स कंपनियां अपने डिलीवरी फ्लीट (बेड़े) की मैनेजमेंट कोस्ट से निपटने के तरीकों की तलाश कर रही हैं. स्टार्टअप के लिए, उनके खर्च का 50 प्रतिशत बाइकर फ्लीट के मैनेजमेंट से आता है, यह बात रिपोर्ट में सामने आई है.


750, 000 से अधिक रजिस्टर्ड वर्कर्स के साथ एक गिग प्लेटफॉर्म Taskmo ने कहा कि उसने ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म से सीजनल हायरिंग में 50-70 प्रतिशत की वृद्धि देखी है, खासकर जुलाई के बाद से, त्योहारी सीजन के कारण. प्लेटफॉर्म ने कहा कि वह प्रति माह लगभग 500,000-600,000 डिलीवरी पूरी कर रहा था, जोकि मई में 300,000 से अधिक है.


Taskmo के को-फाउंडर प्रशांत जनाद्री ने कहा, "पिछले दो हफ्तों के दौरान पूरी की गई डिलीवरी में हमने लगभग 8 गुना से 10 गुना की वृद्धि देखी है. हमने ई-कॉमर्स की मांग को पूरा करने के लिए अनिवार्य की तुलना में लगभग 4 गुना अधिक गिग वर्कर्स को शामिल किया है, जिसमें टियर-2 और टियर-3 शहरों से महत्वपूर्ण भागीदारी है."


उन्होंने कहा, "दिवाली की मांग को पूरा करने के लिए, हम पिछले दो महीनों से बहुत अधिक कार्यभार ग्रहण कर रहे हैं."


लॉजिस्टिक्स यूनिकॉर्न Ecom Express के अनुसार, डिलीवरी टैलेंट की मांग में वृद्धि हुई है जो पिछले वर्ष की तुलना में 35 प्रतिशत बढ़ी है.


Ecom Express के चीफ़ स्ट्रैटेजी ऑफिसर आशीष सिक्का ने कहा, “हम डिलीवरी कर्मियों की मांग में वृद्धि देख सकते हैं. पीक सीजन की भीड़ के लिए, ईकॉम एक्सप्रेस सीजनल स्टाफ और गिग वर्कर्स की भर्ती कर रही है, जो पिछले साल की तुलना में 35 प्रतिशत की छलांग है. लगभग 60-65 प्रतिशत हायरिंग टियर-3 और 4 शहरों और देश के दूरदराज के हिस्सों में होगी."


जॉब्स और प्रोफेशनल नेटवर्किंग प्लेटफॉर्म Apna.co ने भी त्योहारी सीजन के चलते ई-कॉमर्स गिग वर्कर्स की मांग में इजाफा देखा है.


Apna.co के चीफ़ बिजनेस ऑफिसर मानस सिंह ने कहा, “पिछले कुछ महीनों में, हमने अपने प्लेटफॉर्म पर गिग वर्कर्स की मांग में तेजी देखी है. हमने इस समय अवधि (जुलाई-सितंबर) के दौरान डिलीवरी पार्टनर जैसी भूमिकाओं के लिए नौकरी के पदों में 100 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की है.”


Edited by रविकांत पारीक