ओला, उबर के लिए किराये की ऊपरी सीमा तय कर सकती है सरकार

    By YS TEAM
    June 14, 2016, Updated on : Thu Sep 05 2019 07:31:24 GMT+0000
    ओला, उबर के लिए किराये की ऊपरी सीमा तय कर सकती है सरकार
    • +0
      Clap Icon
    Share on
    close
    • +0
      Clap Icon
    Share on
    close
    Share on
    close

    सरकार द्वारा नियुक्त एक उच्चस्तरीय समिति ने आज एप आधारित टैक्सी सेवा मुहैया कराने वाली ओला और उबर जैसी एग्रीगेटर कंपनियों के लिए किराये की उपरी सीमा तय किए जाने की सिफारिश की।

    केंद्र द्वारा यातायात और सड़क सुरक्षा नियमों का ढांचा तैयार करने के लिए बनाई गयी राज्य परिवहन मंत्रियों की एक समिति ने आज सिफारिश की, ‘‘शहर टैक्सी परमिट योजना का उदारीकरण किया जाना चाहिए। एग्रीगेटर कंपनियों को परिवहन विभाग द्वारा तय किराये, ईंधन और सुरक्षा के अनिवार्य नियमों का पालन करना चाहिए। किराये की उपरी सीमा परिवहन विभाग द्वारा तय की जाएगी।’’

    हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला में दो दिवसीय बैठक के बाद मंत्रियों के समूह ने कहा कि केवल उन्हीं कंपनियों को एग्रीगेटर के साथ जोड़ा जा सकता है जिनके पास वैध परमिट हो।

    गौरतलब है कि टैक्सी एग्रीगेटर अक्सर व्यस्त समय में किराया बढ़ा देते हैं जिसे वह ‘सर्ज प्राइसिंग’ का नाम देते हैं। इसे लेकर काफी विवाद भी होता रहा है। (पीटीआई)

    Clap Icon0 Shares
    • +0
      Clap Icon
    Share on
    close
    Clap Icon0 Shares
    • +0
      Clap Icon
    Share on
    close
    Share on
    close