अपने घर जाने के लिए दिल्ली में 65 हज़ार लोगों ने कराया रजिस्ट्रेशन, सरकार ने 50 हज़ार लोगों के लिए किया इंतजाम

अपने घर जाने के लिए दिल्ली में 65 हज़ार लोगों ने कराया रजिस्ट्रेशन, सरकार ने 50 हज़ार लोगों के लिए किया इंतजाम

Monday May 18, 2020,

2 min Read

अब तक दिल्ली में 65 हज़ार से अधिक लोगों ने अपने घर वापस जाने के लिए सरकार के पास पंजीकरण कराया है।

देश के तमाम हिस्सों से प्रवासी मजदूर अपने घरों के लिए पैदल ही निकले हुए हैं।

देश के तमाम हिस्सों से प्रवासी मजदूर अपने घरों के लिए पैदल ही निकले हुए हैं।



कोरोना वायरस के चलते लागू हुए लॉकडाउन ने मजदूरों को बड़ी मुश्किल में डाल दिया है, इसी के साथ उनके लिए पर्याप्त इंतजाम न होने चलते उन्हे और अधिक परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। बड़ी संख्या में मजदूर देश के तमाम हिस्सों से अपने घरों की ओर लौट रहे हैं और इस बीच वे पैदल ही रास्ता तय कर रहे हैं।


इस संबंध में दिल्ली से अच्छी खबर सामने आई है। दिल्ली में फसे मज़दूरों को उनके घर पहुंचाने में राज्य सरकार ने उनकी तरफ मदद का हाथ बढ़ाया है। अब तक दिल्ली में 65 हज़ार से अधिक लोगों ने अपने घर वापस जाने के लिए सरकार के पास पंजीकरण कराया है।


हालांकि इन 65 हज़ार मजदूरों में दिल्ली सरकार ने अब तक 50 हज़ार लोगों के लिए इंतजाम कर लिया है। गौरतलब है कि देशव्यापी लॉकडाउन होने के बावजूद केंद्र सरकार ने 29 अप्रैल को प्रवासी लोगों को विभिन्न हिस्सों से उनके घर जाने के लिए अनुमति दे दी थी।


दिल्ली से पहली श्रमिक स्पेशल ट्रेन 7 मई को मध्यप्रदेश के लिए निकली थी, जिसमें 1050 प्रवासी लोग अपने गृह राज्य के लिए रवाना हुआ थे, उसके बाद से बसों और ट्रेनों के द्वारा लगातार लोगों को उनके गृह राज्य भेजने का काम जारी है।


दिल्ली सरकार ने प्रवासी लोगों के लिए एक पोर्टल शुरू किया है, जहां पर रजिस्ट्रेशन कराया जा सकता है। बीते शनिवार तक श्रमिक विशेष ट्रेनों के जरिये 35 हज़ार यात्रियों को उनके गंतव्य स्थान के लिए रवाना किया जा चुका है।


रविवार शाम तक देश में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों का आंकड़ा 91 हज़ार पार कर चुका था, जबकि देश में अब तक 34 हज़ार से अधिक लोग इससे रिकवर हुए हैं।