जीएसटी से यात्रा होगी महंगी,लेकिन होटल व एयरलाइंस पर कर का दोहराव समाप्त होने से होगा फायदा

    By YS TEAM
    August 05, 2016, Updated on : Thu Sep 05 2019 07:17:15 GMT+0000
    जीएसटी से यात्रा होगी महंगी,लेकिन होटल व एयरलाइंस पर कर का दोहराव समाप्त होने से होगा फायदा
    • +0
      Clap Icon
    Share on
    close
    • +0
      Clap Icon
    Share on
    close
    Share on
    close

    यात्रा सेवा प्रदाताओं का मानना है कि जीएसटी का कार्यान्वयन होने पर अल्पकालिक स्तर पर उपभोक्ताओं को यात्रा व छुट्टी (होलीडे) आदि पर अपेक्षाकृत अधिक खर्च करना पड़ सकता है, लेकिन दीर्घकालिक स्तर पर होटल व एयरलाइंस पर कर का दोहराव समाप्त होने से उन्हें फायदा होगा।

    काक्स एंड किंग्स के सीएफओ अनिल खंडेलवाल ने पीटीआई भाषा से कहा,‘ उपभोक्ताओं के लिहाज से अल्पकालिक स्तर पर हो सकता है कि दर बढ़ें। लेकिन यह तो जीएसटी परिषद द्वारा दरें तय करने पर ही निर्भर करता है।’ उन्होंने कहा कि मध्यावधि व दीर्घकालिक स्तर पर उपभोक्ताओं को निश्चित रूप से फायदा होगा।

    image


    थामस कुक इंडिया के मुख्य परिचालन अधिकारी महेश अयजीर ने कहा कि जीएसटी प्रणाली के तहत होटल व रेस्त्राओं को आपुर्ति पर एक ही कर लगेगा जिससे लागत में कमी आ सकती और इसका फायदा ग्राहकों को होगा।

    यात्रा डाट काम के अध्यक्ष शरत ढल्ल ने कहा कि सरकार को विमानन क्षेत्र को अलग रखना होगा क्योंकि मौजूदा सेवा कर आधार किराये का 5.6 प्रतिशत से 9 प्रतिशत है जो कि 15-18 प्रतिशत की जीएसटी दर से काफी कम है।

    नेशनल रेस्टोरेंट एसोसिएशन आफ इंडिया के अध्यक्ष रियाज अमलानी ने शराब को जीएसटी के दायरे से बाहर रखने पर खेद जताया है।-पीटीआई