दो घरेलु महिलाओं ने अपने खाने का दीवाना बनाया कॉर्पोरेट एम्पलॉइज को, शुरू किया ‘कॉरपोरेट ढाबा’

    By Ashutosh khantwal
    November 23, 2015, Updated on : Thu Sep 05 2019 07:19:24 GMT+0000
    दो घरेलु महिलाओं ने अपने खाने का दीवाना बनाया कॉर्पोरेट एम्पलॉइज को, शुरू किया ‘कॉरपोरेट ढाबा’
    • +0
      Clap Icon
    Share on
    close
    • +0
      Clap Icon
    Share on
    close
    Share on
    close

    मई 2013 में रखी मुन्नी देवी और पल्लवी प्रीति ने रखी कॉरपोरेट ढाबा की नीव...

    कॉरपोरेट ढाबा एक ऑफिस टिफिन सर्विस है...

    प्रतिदिन लगभग 400-500 ऑर्डर्स को डिलिवर कर रही है कंपनी...

    घर के स्वाद के साथ क्वालिटी दे रहा है कॉरपोरेट ढाबा...


    घर के खाने का महत्व वही सबसे ज्यादा जानता है जो घर से दूर हो। होटल्स रेस्तरां और कैंटीन का खाना कितना ही स्वादिष्ट क्यों न हो उसमें वो बात नहीं होती जो घर के खाने में होती है साथ ही उस खाने को आप ज्यादा दिन नहीं खा सकते वो स्वास्थ्य की दृष्टि से भी ज्यादा अच्छा नहीं होता। ऐसे में घर से दूर रह रहे नौकरीपेशा लोगों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। चूंकि आजकल लाइफ काफी बिजी है इसलिए अकेले रह रहे लोगों के लिए यह मुमकिन नहीं हो पाता कि वे हर समय खुद खाना बनाएं उन्हें दिन में एक दो बार बाहर से खाना ही पड़ता है।

    image


    मुन्नी देवी बिहार के आरा से हैं उनके दोनो बेटे पढ़ाई और नौकरी के लिए दिल्ली आ गए मुन्नी देवी को हमेशा ही अपने बेटों की सेहत संबंधी फिक्र रहती थी। वे साल में कुछ दिन अपने बेटो के पास आया करती थीं। एक बार जब वे दिल्ली आई तो उनकी मुलाकात अपने बेटे के दोस्त की पत्नी पल्लवी प्रीति से हुई क्योंकि उनकी पत्नी भी बिहार से ही थीं तो दोनों में अच्छी बातचीत होनें लगी। दोनों ने सोचा कि क्यों न वे मिलकर कुछ ऐसा काम करें जिससे घर से दूर रह रहे लोगों को घर का साफ और हेल्थी खाना मिल सके। उसके बाद दोनों ने रिसर्च शुरू कर दी और जल्द ही अपनी रिसर्च को फाइनल करके मई 2013 में कॉरपोरेट ढाबा की नीव रखी। यह एक ऑफिस टिफिन सर्विस है जो दिल्ली एनसीआर में काम कर रही है।

    image


    कॉरपोरेट ढाबा का मकसद कॉरपोरेट जगत में नौकरी कर रहे लोगों को शुद्ध, बढ़िया घर का खाना मुहैया करवाना था। लॉंचिंग के पहले ही दिन इनको 38 मील्स का ऑर्डर मिला जो कि काफी ज्यादा था । शुरूआत के कुछ दिन तो दोनों ने मिलकर ही खाना बनाया लेकिन लगातार बढ़ती डिमांड के चलते कुछ लोगों को काम पर रखा गया।

    मुन्नी देवी बताती हैं कि हम खाने की क्वालिटी से बिलकुल समझौता नहीं करते आम तौर पर जब डिमांड ज्यादा आने लगती है तो कई फूड प्रोवाइडर क्वालिटी से समझौता कर देते हैं ताकि बढ़ी हुई डिमांड को पूरा किया जा सके और ज्यादा से ज्यादा मुनाफा कमाया जा सके लेकिन हम लोग चाहते हैं कि भले ही मुनाफा कम हो लेकिन हम अपनी क्वालिटी का स्तर नहीं गिराएंगे। मुन्नी देवी कहती हैं कि मैं अपने ग्राहकों को अपने बच्चों की तरह ही मानती हूं और फिर उसी हिसाब से हम लोग काम करते हैं।

    image


    दिल्ली एनसीआर में कई टिफिन सर्विस प्रोवाइडर हैं लेकिन वे सब बहुत छोटे स्तर पर काम कर रहे हैं अमूमन वे घरों में अकेले रह रहे लोगों तक ही खाना पहुंचाते हैं लेकिन कॉरपोरेट ढाबा ने अपने क्लाइंट रेंज को बढ़ाया और कॉरपोरेट ऑफिसिज में खाना पहुंचाना शुरू किया।

    आज कॉरपोरेट ढ़ाबा एक दिन में लगभग 400-500 मील्स कॉरपोरेट लोगों तक पहुंचाता है और कई दिन ये आंकड़ा 600 से पार भी हो जाता है। ये लोग नौकरी.कॉम, ट्रूली मैडली, पटेल इंजीनियरिंग, मैगनस, यूनिवर्सल सोफ्टवेयर, अर्थकॉन ग्रुप, शिक्षा.कॉम, संचार निगम (दिल्ली) जैसी कंपनियों में अपना खाना डिलिवर करते हैं।

    image


    काम के बढ़ने के साथ ही नए पार्टनर के तौर पर आफशा अजीज ने भी कंपनी को हाल ही में ज्वाइन किया है। इसके अलावा मुन्नी देवी बताती हैं कि उनके यहां पर काम कर रहे लोग काफी प्रोफेश्नल हैं जिन्हें कार्य का लंबा अनुभव है मो. ताहिर कंपनी के चीफ शेफ हैं जिन्होंने विभिन्न देशों में काफी समय काम किया है। इसके अलावा कंपनी के पास आज लगभग 25 प्रोफेश्नल लोगों की एक अच्छी टीम है।

    कंपनी ऑफिसिज के अलावा कॉरपोरेट में काम कर रहे लोगों के घर में भी खाना पहुंचाती है। ये लोग अभी केवल सोशल नेटवर्किग के जरिए ही अपनी मार्केटिंग कर रही है साथ ही उनके ग्राहक माउथ पब्लिसिटी करके लगातार कंपनी की सेल बढ़ा रहे हैं। कंपनी अभी दिल्ली एनसीआर में ऑपरेट कर रही है आने वाले समय में ये लोग इसी क्षेत्र में अपने काम का विस्तार करना चाहते हैं।

    कंपनी का मानना है कि अगर वे क्वालिटी बनाए रखेंगे तो लोग खुद उनके पास आएंगे और उन्हें मार्केटिंग वगैरा करने की जरूरत नहीं पड़ेगी। ये एक बहुत बड़ा बाजार है जहां पर अपार संभावनाएं हैं और कंपनी का फोकस आने वाले समय में क्वालिटी के साथ अपना क्लाइंट बेस बढ़ाने का है।

    Clap Icon0 Shares
    • +0
      Clap Icon
    Share on
    close
    Clap Icon0 Shares
    • +0
      Clap Icon
    Share on
    close
    Share on
    close