आखिर स्वास्थ्य मंत्रालय ने क्यों रोकी Covid टीकों की खरीद

By Rajat Pandey
October 17, 2022, Updated on : Mon Oct 17 2022 02:01:31 GMT+0000
आखिर स्वास्थ्य मंत्रालय ने क्यों रोकी Covid टीकों की खरीद
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

अगर साल 2022 के 8 जनवरी को याद करें तो हांथों और पैरों में एक अजीब सी कंपन महसूस होने लगती है. वो कुछ ऐसा दुखद दौर था जब कोरोना पीड़ितों की संख्या हर दिन लगभग 1,41,986 हुआ करती थी. मगर सरकार द्वारा लिए गए निर्णायक फैसलों के चलते और भारी संख्या में लोगों को लगाए गए कोविड टीकों से इन आकड़ों पर काबू पाना संभव हो सका है. कोरोना महामारी के बाद हमारी स्वास्थ्य सुविधाओं में भी खासा सुधार हुआ है.

स्वास्थ्य मंत्रालय ने वित्त मंत्रालय को लौटाए 4,237 करोड़ रुपए

लम्बे समय से सरकार द्वारा चलाया जा रहा कोविड टीकाकरण (Covid Vaccination Programme) कार्यक्रम अब अपने अंतिम चरण में है और स्वास्थ्य मंत्रालय ने अब और टीकों की खरीद रोकने का फैसला किया है. स्वास्थ्य मंत्रालय ने टीकाकरण के लिए आवंटित बजट की बची हुई धनराशी को वित्त मंत्रालय को वापस करने का भी फैसला किया है. वित्त मंत्रालय की ओर से वर्ष 2022-23 के लिए आवंटित धन राशी का बचा हुआ लगभग 85 प्रतिशत यानी 4,237 करोड़ रुपये वित्त मंत्रालय को लौटा दिया गया है.

केंद्र और राज्यों सरकरों के पास उपलब्ध है 1.8 करोड़ डोज

आधिकारिक सूत्रों का कहना है कि केंद्र और राज्यों में सरकारों के पास अभी भी 1.8 करोड़ से अधिक डोज उपलब्ध हैं और यह स्टाक लगभग छह महीने तक टीकाकरण अभियान जारी रखने के लिए पर्याप्त है, क्योंकि कोविड के मामलों में गिरावट की वजह से लोग टीकारण कम करवा रहे हैं.

पिछले 24 घंटे में कोरोना के 2,401 नए मामले

देश में कोरोना के मामले में लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है. स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक, पिछले 24 घंटे के दौरान कोरोना के 2,401 नए मामले सामने आए हैं. भारत में 15 अक्टूबर को कोविड-19 के 2 हजार 430 नए मामले सामने आए थे.

219 करोड़ से ज्यादा लोगों का हो चुका कोविड टीकाकरण

सरकार का स्टाक खत्म होने पर भी बाजार में कोविड के टीके उपलब्ध रहेंगे. छह महीने बाद टीकों की खरीद के लिए सरकार किसी नए बजट को आवंटित करेगी या नहीं यह फैसला उस समय देश में व्याप्त कोविड की स्थिति पर निर्भर करेगा. देश में अब तक 219 करोड़ से ज्यादा लोगों को डोज लगाए जा चुके हैं.

5 लाख 28 हजार 895 लोगों हुए कोरोना के शिकार

देश में अब तक संक्रमण के कुल 4 करोड़ 46 लाख 28 हजार 828 मामले सामने आए हैं. इसमें से कुल 4 करोड़ 40 लाख 73 हजार 308 लोग महामारी से ठीक हो चुके हैं. कोरोना संक्रमण से अब तक कुल 5 लाख 28 हजार 895 लोगों की मौत हो चुकी है. हालांकि इस दौरान कुल 219 करोड़ से अधिक लोगों को वैक्सीन लगाई जा चुकी है.