नौकरी जाने के डर से Amazon के एम्पलॉयी ने कोडिंग में ‘बग’ को अप्रूव किया

By रविकांत पारीक
January 20, 2023, Updated on : Sun Jan 22 2023 15:14:12 GMT+0000
नौकरी जाने के डर से Amazon के एम्पलॉयी ने कोडिंग में ‘बग’ को अप्रूव किया
डेवलपर ने कहा कि उसे अपने सहयोगी की चेंज रिक्वेस्ट में एक बग (कोडिंग एरर) दिखी और इसे प्राइमरी सर्वर में मर्ज कर दिया. यदि बाद में सुधार नहीं किया गया तो बग Amazon के प्रोडक्ट्स में से किसी एक को नुकसान पहुँचा सकती है.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

गुमनाम कम्यूनिटी वर्कस्पेस ऐप Blind पर एक पोस्ट, जिसे कथित रूप से एक असंतुष्ट Amazon डेवलपर द्वारा लिखा गया है, कंपनी के प्रोडक्ट को नुकसान पहुंचाने के कर्मचारी के प्रयास का विवरण देता है, अगर उसे नौकरी से निकाल दिया जाता है.


डेवलपर ने खुलासा किया कि उसने अपने सहकर्मी के कोड में एक बग पाया लेकिन Amazon की वेबसाइट को ब्रेक करने या डिस्र्प्ट करने के दुर्भावनापूर्ण प्रयास में कोड को मंजूरी दे दी. यह उसने तब किया जब कंपनी हजारों कर्मचारियों को नौकरी से निकाल रही है. डेवलपर ने कहा कि उसे अपने सहयोगी की चेंज रिक्वेस्ट में एक बग (कोडिंग एरर) दिखी और इसे प्राइमरी सर्वर में मर्ज कर दिया. यदि बाद में सुधार नहीं किया गया तो बग Amazon के प्रोडक्ट्स में से किसी एक को नुकसान पहुँचा सकती है.


"Amazon में छंटनी से पहले टी माइनस 21 घंटे है. मैंने अपने सहकर्मी के सीआर में एक बग देखी और मैंने इसे मंजूरी दे दी. बग अभी मर्ज हो गयी है और अगर मुझे नौकरी से निकाला जाता है, तो यह मेरे जाने के बाद नुकसान पहुंचाएगी.",असंतुष्ट कर्मचारी ने Blind ऐप पर "cPk3du" यूजर नेम से लिखा.

उसने आगे लिखा, "आप में से उन लोगों के लिए जो अनजान हैं, Amazon थैंक्सगिविंग से एक हफ्ते पहले, नवंबर से छंटनी कर रही है. और यह छंटनी अभी भी चल रहा है. हमारे 'लीडर' लगभग 3 महीने से किनारा कर रहे हैं और छंटनी का भार बढ़ता जा रहा है. इस छंटनी से कर्मचारियों का मनोबल लगातार टूटता जा रहा है."


Amazon ने दुनिया भर में अपने 18,000 कर्मचारियों की छंटनी करने की घोषणा की है. कटौती ई-कॉमर्स दिग्गज की वर्कफोर्स का 6% है.


ब्लाइंड ऐप के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट ने ट्विटर पर पोस्ट का एक स्क्रीनशॉट साझा किया, जहां कई लोगों ने "अपराधी" और "अनैतिक" होने के लिए कर्मचारी की आलोचना की.


Edited by रविकांत पारीक

Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close