Apple ने आईक्लाउड को और सिक्योर बनाने के लिए पेश किए 3 नए फीचर, जानिए कैसे काम करेंगे

By yourstory हिन्दी
December 08, 2022, Updated on : Thu Dec 08 2022 06:41:25 GMT+0000
Apple ने आईक्लाउड को और सिक्योर बनाने के लिए पेश किए 3 नए फीचर, जानिए कैसे काम करेंगे
एपल की ओर से पेश ये तीन नए फीचर हैं- आईमैसेज कॉन्टैक्ट Key वेरिफिकेशन, सिक्योरिटीज Keys फॉर एपल आईडी और एडवॉन्स्ड डेटा प्रोटेक्शन आईक्लाउड.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

आईफोन मैन्युफैक्चरर एपल ने गुरुवार को तीन नए सिक्योरिटीज फीचर डिजाइन किए हैं. ये फीचर यूजर्स के डेटा को क्लाउड में सिक्योर रखने के मकसद से डिजाइन किए गए हैं.


आईमैसेज कॉन्टैक्स की वेरिफिकेशन इनमें से एक है, इस फीचर की मदद यूजर्स ये सुनिश्चित कर पाएगा कि स्क्रीन के पीछे वही शख्स बात कर रहा है जिससे बात करने के लिए वो मैसेज कर रहा है.


दूसरा है, सिक्योरिटीज कीज फॉर एपल आईडी, इसके बाद यूजर्स को अपने एपल आईडी अकाउंट में साइन इन करने के लिए फिजिकल सिक्योरिटीज की जरूरत पड़ेगी. 


तीसरा फीचर है, आईक्लाउड में स्टोर डेटा का प्रोटेक्शन. इसे सुनिश्चित करने के लिए एपल ने एंड-टू-एंड एनक्रिप्शन को पेश किया है जो सबसे उच्च स्तर की डेटा सिक्योरिटी देगा.


ये सभी फीचर सेलेब्रिटीज, राजनेता, पत्रकार जैसे पब्लिक फिगर और जानी मानी हस्तियों को ध्यान में रखकर बनाए गए हैं क्योंकि इन पर साइबरअटैक होने की अधिक संभावना रहती है.


एपल ने बताया कि मैसेज कॉन्टैक्ट की वेरिफिकेशन, सिक्योरिटी कीज पर एफल आईडी दुनिया भर में 2023 की शुरुआत से उपबल्ध होंगे. एडवान्स्ड डेटा प्रोटेक्शन को अमेरिका में एपल बीटा सॉफ्टवेयर प्रोग्राम के लिए लॉन्च कर दिया गया है.


साल के आखिर तक अमेरिका के सभी यूजर्स को और अगले साल की शुरुआत में पूरी दुनिया को ये फीचर ऑफर कर दिया जाएगा. 

iMessage Contact Key Verification

ये फीचर ऐसे यूजर्स के लिए है जिन्हें डिजिटल ईकोसिस्टम में काफी खतरे हैं जैसे- पत्रकार, मानवाधिकार एक्टिविस्ट और सरकारी अधिकारी. ये फीचर तय करेगा कि ये वही शख्स उनसे बात कर रहा है जिसे उन्होंने मैसेज किया है.


वैसे तो ज्यादातर लोगों पर साइबरअटैक का शिकार की गुंजाइश नहीं है लेकिन जिन लोगों पर है उन्हें ये फीचर अतिरिक्त स्तर की सुरक्षा मुहैया कराएगा.


अगर कोई दो लोगों ने ये फीचर एक्टिवेट कर रखा है और उनके बीच हुई कनवर्जेशन को किसी एडवान्स्ड अटैकर ने हैक करने की कोशिश की तो दोनों शख्स के पास अपने आप अलर्ट मैसेज पहुंच जाएगा. अगर कोई मालवेयर जासूसी करने की कोशिश करता है तो भी यूजर्स के पास अलर्ट आ जाएगा.

Security Keys

एपल ने टू फैक्टर ऑथेंटिकेशन के जरिए यूजर्स के अकाउंट को और सिक्योर बना दिया है. सिक्योरिटी कीज के जरिए यूजर्स थर्ड पार्टी हार्डवेयर का इस्तेमाल कर प्रोटेक्शन और मजबूत बना सकते हैं.


ये फीचर ऐसे लोगों के लिए है जिनके ऑनलाइ अकाउंट्स पर हैकिंग का खतरा रहता है जैसे कि सेलेब्रिटीज, पत्रकार और सरकार में काम करने वाले लोग. इस फीचर से फिशिंग स्कैम को रोकने में मदद मिलेगी.

Advanced Data Protection for iCloud

आईक्लाउड के लिए पेश किया गया एडवॉन्स्ड डेटा प्रोटेक्शन एंड-टू-एंड एनक्रिप्शन का इस्तेमाल करता है जो क्लाउड डेटा को उच्च स्तर की सिक्योरिटी देता है.


यह फीचर यूजर्स को अपने सेंसिटिव आईक्लाउड डेटा को एनक्रिप्शन के जरिए सुरक्षित करने की मंजूरी देता है. साथ ही इस डेटा को चुनिंदा डिवाइसेज पर ही डिक्रिप्ट किया जा सकता है. क्लाउड में डेटा ब्रीच की खबरों को देखते हुए एपल ने ये फीचर पेश किया है.


इस फीचर को एक्टिवेट करने के बाद एपल में एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन के जरिए सुरक्षित डेटा कैटिगरीज की कुल संख्या 23 होगी. इनमें आईक्लाउड बैकअप, नोट्स और फोटोज जैसी चीजें शामिल होती हैं. जो बड़ी कैटिगरी इस सिक्योरिटी लेयर के अंदर अभी नहीं हैं उनमें आईक्लाउड मेल, कॉन्टैक्ट्स और कैलेंडर आते हैं.


Edited by Upasana

Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close