बैटरी स्वैपिंग स्टार्टअप Battery Smart ने Tiger Global के नेतृत्व में 196 करोड़ रुपये जुटाए

इलेक्ट्रिक वाहनों (electric vehicles) के लिए भारत के तेजी से बढ़ते बैटरी-स्वैपिंग (battery-swapping) नेटवर्क, Battery Smart ने सोमवार को घोषणा की कि उसने सीरीज़ ए फंडिंग राउंड में 25 मिलियन डॉलर (करीब 196 करोड़ रुपये) जुटाए हैं. Blume Ventures और Orios Ventures की भागीदारी के साथ-साथ Tiger Global ने फंडिंग राउंड का नेतृत्व किया.

नवंबर 2021 में, इसने Blume Ventures और Orios Ventures के नेतृत्व में एक प्री-सीरीज ए राउंड में उल्लेखनीय एंजेल निवेशकों से 7 मिलियन डॉलर जुटाए थे. फंडिंग का उपयोग नए क्षेत्रों में विस्तार करने, अपनी बैटरी असाइनमेंट टेक्नोलॉजी को मजबूत करने और ऑपरेशंस स्केल करने के साथ अपनी टीम बनाने के लिए किया जाएगा.

Battery Smart इलेक्ट्रिक टू और थ्री-व्हीलर्स के लिए भारत का सबसे बड़ा और सबसे तेजी से बढ़ने वाला बैटरी-स्वैपिंग नेटवर्क बनाने की राह पर है. स्टार्टअप को जून 2020 में, सीरियल आंत्रप्रेन्योर्स और IIT-कानपुर (IIT Kanpur) के ग्रेजुएट्स पुलकित खुराना और सिद्धार्थ सिक्का ने मिलकर शुरू किया है. दोनों हर एक वर्ग किमी क्षेत्र में एक स्वैपिंग स्टेशन बनाने का लक्ष्य रखते हुए 2025 तक 17 बिलियन के स्वैपिंग बाजार को लक्षित कर रहे हैं. Battery Smart एक यूनिक पार्टनर के नेतृत्व वाले मॉडल के माध्यम से इलेक्ट्रिक मोबिलिटी को सरल, किफायती और सुलभ बनाकर ईवी सेक्टर में क्रांति लाने का प्रयास कर रहा है. Battery Smart का दावा है कि अब तक, इसके 10 शहरों में 200+ लाइव स्वैप स्टेशन हैं.

Battery Smart का बैटरी-एज-ए-सर्विस (battery-as-a-service) मॉडल दो मिनट से कम समय में इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए इंटरऑपरेबल बैटरी स्वैपिंग को सक्षम बनाता है और उपभोक्ता द्वारा वहन किए जाने वाले अप-फ्रंट निवेश को 60% तक कम करता है. इसकी डेटा-ड्रिवन सिस्टम और बेहतर बैटरी टेलीमैटिक्स ने इसे तेजी से बढ़ने में सक्षम बनाया है. कंपनी ने 2.5 मिलियन से अधिक बैटरी स्वैप और 80 मिलियन उत्सर्जन-मुक्त (emission-free) किमी संचालित किया है.

Battery Smart के को-फाउंडर पुलकित खुराना ने कहा, “हम भारत के सबसे बड़े ईवी बैटरी स्वैपिंग नेटवर्क के निर्माण के लिए Tiger Global को अपनी यात्रा का हिस्सा बनने के लिए रोमांचित हैं. बैटरी की अदला-बदली में देश के ईवी अपनाने को तेजी से ट्रैक करने की अविश्वसनीय क्षमता है, क्योंकि यह रेंज की चिंता, हाई अप-फ्रंट लागत और लंबे चार्जिंग डाउनटाइम जैसी प्रमुख बाधाओं को हल करता है. इस निवेश के साथ, हम स्वैप स्टेशनों की संख्या बढ़ाकर और ओईएम और फ्लीट ऑपरेटरों के साथ साझेदारी जारी रखते हुए, पूरे भारत में और भी अधिक ईवी उपयोगकर्ताओं के लिए अपनी पेशकश लाने पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं. हम प्रभावी नेटवर्क योजना के लिए अपनी तकनीक को मजबूत करने और अपनी बढ़ती टीम में और हायरिंग करने पर भी विचार कर रहे हैं."

Tiger Global के पार्टनर कोनी ली (Connie Lee) ने कहा, “Battery Smart का तकनीक-संचालित बैटरी-स्वैपिंग नेटवर्क फूड डिलीवरी और ई-कॉमर्स के लिए भारत के ईवी को तेजी से अपनाने के लिए इनोवेटिव समाधान प्रदान करता है. हम पुलकित और सिद्धार्थ के साथ साझेदारी करने के लिए उत्साहित हैं क्योंकि वे प्रमुख बाजारों में तेजी से अपने पदचिह्न का विस्तार कर रहे हैं.”

नीति आयोग (Niti Aayog) ने पिछले महीने बैटरी स्वैपिंग नीति (battery swapping policy) को लेकर एक ड्राफ्ट पब्लिश किया था. बैटरी स्वैपिंग इन्फ्रास्ट्रक्चर और ईवी फंडिंग पर सरकार का ध्यान केंद्रित करना जारी रहेगा. रिपोर्टों से पता चलता है कि भारत में बैटरी स्वैपिंग बाजार में मजबूत विकास संभावनाएं हैं, ईवी टू और थ्री व्हीलर वाहनों के 2027 तक पहली और अंतिम मील वाहन बिक्री में 30% तक योगदान करने की उम्मीद है.