22 साल के लड़के के ऑनलाइन मीट डिलिवरी ब्रांड को मिली 1 करोड़ रुपये की फंडिंग

By yourstory हिन्दी
September 23, 2022, Updated on : Sun Sep 25 2022 14:21:54 GMT+0000
22 साल के लड़के के ऑनलाइन मीट डिलिवरी ब्रांड को मिली 1 करोड़ रुपये की फंडिंग
Freshsharp की स्थापना मजाज़ हसन ने 2020 में की थी. अपने लॉन्च के बाद से, इसने 200% की वृद्धि का दावा किया है और दरभंगा, पटना और कोलकाता में उपभोक्ताओं को सेवा दी है.
Clap Icon0 claps
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Clap Icon0 claps
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

बिहार स्थित स्टार्टअप Freshsharp ने लीड इन्वेस्टर Ok Acquired और एंजेल इन्वेस्टर सैयद अकबर रज़ा अहमद और हुसैन अहमद से इक्विटी के जरिए $125k (करीब 1 करोड़ रुपये) की सीड फंडिंग जुटाई है. स्टार्टअप ताजा मांस, समुद्री भोजन और अन्य ताजा पशु प्रोटीन की ऑनलाइन डिलिवरी करता है.


ताजा सीड फंडिंग के साथ ही Freshsharp की मौजूदा वैल्यूएशन अब 1 मिलियन डॉलर हो गई है. ब्रांड का उद्देश्य अपने कारोबार को बढ़ाने के लिए फाइनेंशियल और टेक्नोलॉजिकल सहायता के लिए ताजा फंडिंग का उपयोग करना है.


दिसंबर 2020 में 22 वर्षीय मजाज़ हसन द्वारा स्थापित Freshsharp Private Limited ने पारंपरिक व्यवसायों को मजबूत किया और 2022 में बिहार और पश्चिम बंगाल में विस्तार करना शुरू किया. मज़ाज़ हसन वर्तमान में यूनिवर्सिटी ऑफ़ इंजीनियरिंग एंड मैनेजमेंट, कोलकाता से ग्रेजुएशन की पढ़ाई कर रहे हैं.

(L-R) Freshsharp के मजाज़ हसन (सीईओ, फाउंडर) और शुभम भगत (बिजनेस डेवलपमेंट मैनेजर)

(L-R) Freshsharp के मजाज़ हसन (सीईओ, फाउंडर) और शुभम भगत (बिजनेस डेवलपमेंट मैनेजर)

फंडरेज़ पर बोलते हुए Freshsharp के सीईओ और फाउंडर मजाज़ हसन ने कहा, “Freshsharp लगातार किसान समुदायों और पारंपरिक व्यवसायों की बेहतरी के लिए सप्लाई चेन, टेक्नोलॉजी और सेवाओं के माध्यम से अपनी सर्वोत्तम सेवाओं को सक्षम करने का प्रयास करता है. हम छोटे और पारंपरिक विक्रेताओं, डीलरों / वितरकों, किसान समुदायों, प्रोसेसर और खुदरा विक्रेताओं की आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए अपने इकोसिस्टम को मजबूत करने के लिए इस फंडिंग का उपयोग करेंगे. वर्तमान में हमारे पास मौजूद विभिन्न अवसरों को देखते हुए इससे डिस्बर्समेंट्स को और बढ़ावा मिलेगा. हम अपने निवेशकों के भरोसे के लिए बहुत विनम्र और आभारी हैं और हमारे विकास में उनके निरंतर समर्थन के लिए उनके आभारी हैं.”


मजाज़ ने आगे बताया, "हम B2B सेगमेंट के साथ भी काम कर रहे हैं, और रेस्तरां, होटल, क्लाउड किचन और संस्थानों के साथ हमने कई साझेदारियां की है."


इन्वेस्टमेंट पर कमेंट करते हुए Ok Acquired के मैनेजिंग डायरेक्टर और सीईओ सुजीत झा ने कहा, "हम मीट वैल्यू चेन में छोटे व्यवसायों को सशक्त बनाने की अपनी विकास यात्रा में फ्रेशशार्प का समर्थन करने के लिए खुश हैं. फ्रेशशार्प मीट इकोसिस्टम में आपूर्तिकर्ताओं को नए बाजार के रास्ते प्रदान करने के साथ-साथ भुगतान आश्वासन प्रदान करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. उनका प्लेटफॉर्म लोकल इकोसिस्टम के खिलाड़ियों को उनके मार्जिन को प्रभावित किए बिना व्यवसाय को बढ़ाने में मदद करता है जिससे सकारात्मक प्रभाव पैदा होता है. हम उनकी यात्रा में अपनी भागीदारी जारी रखने के लिए उत्सुक हैं."


हुसैन अहमद (एंजेल इन्वेस्टर) ने कहा, “फ्रेशशार्प की क्वालिटी और मजबूत एग्जीक्यूशन पर ध्यान केंद्रित करने के कारण, यह सफलतापूर्वक एक अभ्यस्त और वफादार ग्राहक आधार बनाता है. हम मानते हैं कि मजाज़ के नेतृत्व में, फ्रेशशार्प भारत के ताजे मांस और समुद्री भोजन की जरूरतों को पूरा करने के लिए सबसे अच्छी स्थिति में है, और हमारा उद्देश्य ग्राहकों को क्वालिटी वाले प्रोडक्ट्स देने के साथ-साथ किसानों को फायदा पहुंचाना है."


सैयद अकबर रजा अहमद (एंजेल इन्वेस्टर) ने कहा, “हम मजाज़ हसन और फ्रेशशार्प की टीम के साथ साझेदारी करके बहुत उत्साहित हैं क्योंकि वे अपने ब्रांड को राष्ट्रीय बाजारों में ले जाते हैं और घरेलू बाजार में विकास जारी रखते हैं. हमारा निवेश फ्रेशशार्प और इस सेक्टर में महारथी फाउंडर्स के समर्थन के साथ बहुत अच्छी तरह से फिट बैठता है.”


Freshsharp की स्थापना मजाज़ हसन ने 2020 में की थी. अपने लॉन्च के बाद से, इसने 200% की वृद्धि का दावा किया है और दरभंगा, पटना और कोलकाता में उपभोक्ताओं को सेवा प्रदान की है. स्टार्टअप ने कई भारतीय शहरों में एक सप्लाई चेन नेटवर्क बनाया है ताकि वे मांस और समुद्री भोजन को खरीद सकें, उन्हें ताजा रख सकें और ऑर्डर के कुछ घंटों के भीतर उन्हें डिलिवर कर सकें. यह उन बढ़ते स्टार्टअप्स के समूह में से एक है जो मीट और सीफूड कैटेगरी में अच्छा काम कर रहे हैं.


फ्रेशशर्प को सप्लाई चेन से लेकर टेक्नोलॉजी तक - मजबूत टीम का समर्थन प्राप्त है, जिसमें शुभम भगत, मोहम्मद अमानुल्लाह और अन्य शामिल हैं.


Edited by रविकांत पारीक