गरीबी के खात्मे के लिए बिल गेट्स की बड़ी घोषणा, 1 खरब रुपये की आर्थिक मदद करेंगे

By yourstory हिन्दी
September 22, 2022, Updated on : Thu Sep 22 2022 14:35:59 GMT+0000
गरीबी के खात्मे के लिए बिल गेट्स की बड़ी घोषणा, 1 खरब रुपये की आर्थिक मदद करेंगे
रिपोर्ट ने गरीबी, असमानता और जलवायु परिवर्तन सहित उलझे हुए मुद्दों के लिए लॉन्ग टर्म सॉल्यूशंस और इनोवेटिव अप्रोचों में निवेश करके प्रगति में तेजी लाने के अवसरों को हाईलाइट किया.
Clap Icon0 claps
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Clap Icon0 claps
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

बिल एंड मेलिंडा गेस्ट फाउंडेशन ने गरीबी और सामाजिक असमानता को दूर करने के लिए 1.27 अरब डॉलर (1 खरब रुपये) की नई आर्थिक सहायता की घोषणा की है. यह घोषणा एक दो-दिवसीय कार्यक्रम के अंत में की गई. इस कार्यक्रम में दुनियाभर के ऐसे 300 युवा शामिल हुए जिन्होंने समाज में बदलाव लाया है.


पिछले सप्ताह ही फाउंडेशन ने अपनी वार्षिक गोलकीपर्स रिपोर्ट में इस बात का उल्लेख किया कि साल 2030 तक संयुक्त राष्ट्र के सतत विकास लक्ष्यों को हासिल कर पाना संभव नजर नहीं आ रहा है. हालांकि, इन चुनौतियों के बावजूद, रिपोर्ट ने गरीबी, असमानता और जलवायु परिवर्तन सहित उलझे हुए मुद्दों के लिए लॉन्ग टर्म सॉल्यूशंस और इनोवेटिव अप्रोचों में निवेश करके प्रगति में तेजी लाने के अवसरों को हाईलाइट किया.


फाउंडेशन ने मंगलवार को कहा कि फंडिंग उन अतिव्यापी वैश्विक संकटों को संबोधित करेगी जिन्होंने संयुक्त राष्ट्र के सतत विकास लक्ष्यों (वैश्विक लक्ष्यों) को प्राप्त करने की दिशा में पहले से की गई प्रगति को उलट दिया है. न्यूयॉर्क के लिंकन सेंटर में आयोजित दो दिवसीय गेट्स फाउंडेशन का दो दिन का गोलकीपर्स इवेंट ऐसे समय पर हुआ जब संयुक्त राष्ट्र महासभा का सालाना सत्र भी शहर में आयोजित हो रहा है.


गेट्स फाउंडेशन की सीईओ मार्क सुजमान ने कहा कि इस सप्ताह ने हमारे सामने आने वाली चुनौतियों की तात्कालिकता और जीवन को बचाने और बेहतर बनाने वाले स्थायी समाधानों के वादे को रेखांकित किया है. उन्होंने कहा कि हम एसडीजी की ओर वापस ट्रैक पर आ सकते हैं, लेकिन यह हर क्षेत्र से एक नए स्तर पर सहयोग और निवेश हासिल करने जा रहा है. इसलिए हमारा फाउंडेशन अब संकटों का सामना करने में मदद करने और स्वास्थ्य और विकास के महत्वपूर्ण निर्धारकों पर लॉन्ग टर्म इफेक्ट सुनिश्चित करने के लिए अपनी प्रतिबद्धता को महत्वपूर्ण रूप से आगे बढ़ा रहा है.


मंगलवार को समाप्त हुए गोलकीपर्स इवेंट में ग्लोबल लीडर्स और चेंजमेकर्स ने ग्लोबल गोल्स को हासिल करने में मौजूदा और भविष्य के प्रयासों पर चर्चा की. इस इवेंट में बारबाडोस की प्रधानमंत्री मिया मोटली, स्पेन के प्रधानमंत्री पेड्रो सैंचेज, बिल गेट्स, मेलिंडा फ्रेंच गेट्स और दुनिया के अलग-अलग हिस्सों से आए 300 से अधिक चेंजमेकर्स, उभरते और स्थापित लीडर्स ने हिस्सा लिया.


यह सहायता राशि एचआईवी, ट्यूबरक्यूलोसिस (टीबी) और मलेरिया से 2 करोड़ और लोगों की जान बचाने, भविष्य की महामारियों को रोकने के लिए अधिक लचीली स्वास्थ्य प्रणालियों का निर्माण और 2030 तक इन बीमारियों को समाप्त करने के लिए दुनिया को फिर से पटरी पर लाने के उद्देश्य के ग्लोबल फंड में जाएगी.


बता दें कि, ग्लोबल फंड 74 अरब रुपये का है और हालिया आर्थिक सहायता गेट्स फाउंडेशन का इस फंड में किया गया सबसे अधिक योगदान है. फाउंडेशन ने एक बयान में कहा कि 2002 के बाद से, ग्लोबल फंड साझेदारी द्वारा समर्थित स्वास्थ्य कार्यक्रमों ने 5 करोड़ लोगों की जान बचाई है.


फाउंडेशन ने कहा कि 8 अरब रुपये का उपयोग खाद्य संकट को कम करने में मदद के लिए किया जाएगा और इसके कारणों का समाधान करेगा, जो अफ्रीका और दक्षिण एशिया में समुदायों को असमान रूप से प्रभावित कर रहा है. इसके साथ ही, फाउंडेशन ने कहा है कि यह चाइल्ड न्यूट्रिशन फंड के लिए आर्थिक सहायता को 81 करोड़ रुपये से बढ़ाकर 1.62 अरब करने जा रहा है. वहीं, ग्लोबल डिजिटल पब्लिक इंफ्रास्ट्रक्चर के विस्तार के लिए 16.17 अरब रुपये खर्च किए जाएंगे.

भारत की राधिका बत्रा गेट्स फाउंडेशन द्वारा सम्मानित

इससे पहले मंगलवार को भारत की राधिका बत्रा, अफगानिस्तान की जारा जोया, युगांडा की वेनेसा नाकाटे और यूरोपीय संघ की प्रमुख उर्सुला वोन डेर लेयेन को संयुक्त राष्ट्र के सतत विकास लक्ष्यों (एसडीजी) को प्राप्त करने की दिशा में उनके असाधारण कार्य के लिए बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन द्वारा सम्मानित किया गया है.


गैर-लाभकारी संगठन ‘एवरी इन्फैंट मैटर्स’ की सह-संस्थापक बत्रा को भारत में वंचित वर्ग के बच्चों को बेहतर स्वास्थ्य समाधान प्रदान करने में उनके काम के लिए पुरस्कृत किया गया है.


Edited by Vishal Jaiswal