अनिल अंबानी के खिलाफ ब्लैक मनी एक्ट ऑर्डर! 800 करोड़ की अघोषित विदेशी संपत्ति का मामला

By Ritika Singh
June 06, 2022, Updated on : Mon Jun 06 2022 07:32:50 GMT+0000
अनिल अंबानी के खिलाफ ब्लैक मनी एक्ट ऑर्डर! 800 करोड़ की अघोषित विदेशी संपत्ति का मामला
कथित अघोषित विदेशी संपत्ति को लेकर अनिल अंबानी को पहले भी कई नोटिस जारी हो चुके हैं.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

रिलायंस समूह (Reliance Anil Dhirubhai Ambani Group) के चेयरमैन अनिल अंबानी (Anil Ambani) की मुश्किलें कम होने के बजाय बढ़ रही हैं. दो साल पहले उन्होंने साल 2020 में अनिल अंबानी ने ब्रिटेन की एक कोर्ट को घोषणा की थी कि वह दिवालिया हैं और उनकी नेटवर्थ जीरो है. लेकिन सामने आ रहा है कि अनि​ल अंबानी के विदेश में 800 करोड़ रुपये के एसेट हैं. इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के मुताबिक, इनकम टैक्स इन्वेस्टिगेशन विंग की मुंबई इकाई ने मार्च 2022 में अनिल अंबानी के खिलाफ 2015 काला धन अधिनियम (BMA) के तहत एक आदेश पारित किया. अनिल अंबानी के अघोषित विदेशी एसेट और इन्वेस्टमेंट्स का पता लगने पर यह आदेश पारित किया गया है.


कथित अघोषित विदेशी संपत्ति को लेकर अनिल अंबानी को पहले भी कई नोटिस जारी हो चुके हैं. अक्टूबर 2021 में 'इंटरनेशनल कंसोर्शियम ऑफ इन्वेस्टिगेटिव जर्नलिस्ट्स' (ICIJ) ने गुप्त वित्तीय लेन-देन और कारोबार पर 'पेंडोरा पेपर्स' के नाम से बड़ा खुलासा किया था. इसमें सामने आया था कि अनिल अंबानी और उनके प्रतिनिधियों के पास जर्सी, ब्रिटिश वर्जिन आईलैंड्स और साइप्रस जैसी जगहों पर कम से कम 18 विदेशी कंपनियां हैं. इसके बाद से ही अनिल अंबानी के वाकई में कंगाल होने को लेकर सवाल खड़े होने लगे थे.

एंटिटीज और बैंक अकाउंट्स के ट्रांजेक्शंस

इनकम टैक्स इन्वेस्टिगेशन विंग की मुंबई इकाई की ओर से बीएमए के तहत पारित किए गए आदेश में आदेश में ऑफशोर एंटिटीज और लिंक किए गए बैंक खातों में 800 करोड़ रुपये से अधिक के लेनदेन सामने आए हैं. इनसे पता लगता है कि अनि​ल अंबानी के विदेश में 800 करोड़ रुपये के एसेट हैं. इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि यह अमाउंट मौजूदा रुपया-डॉलर एक्सचेंज रेट के आधार पर कैलकुलेट किया गया है. BMA में कहा गया है कि अनिल अंबानी का बहामास और ब्रिटिश वर्जिन आयलैंड्स में मौजूद एंटिटीज में लाभकारी स्वामित्व है.

बहामास और ब्रिटिश वर्जिन आयलैंड्स में कौन सी कंपनियां

बहामास में अनिल अंबानी ने 2006 में एक ऑफशोर कंपनी ड्रीमवर्क होल्डिंग्स इंक के साथ डायमंड ट्रस्ट की स्थापना की. सीबीडीटी द्वारा विदेशी कर और कर अनुसंधान (एफटीटीआर) डिवीजन के माध्यम से बहामास को भेजे गए अनुरोधों के बाद यूबीएस बैंक की ज्यूरिख शाखा में एक लिंक्ड स्विस बैंक खाता होने का पता चला. ब्रिटिश वर्जिन आयलैंड्स में अनिल अंबानी ने साल 2010 में एक और अघोषित ऑफशोर कंपनी North Atlantic Trading Unlimited स्थापित की थी. इस कंपनी का बैंक ऑफ साइप्रस के साथ एक लिंक्ड बैंक खाता पाया गया. “Pandora Papers” इन्वेस्टिगेशन में अनिल अंबानी से जुड़ी हुई जिन 18 कंपनियों का पता चला था, उनमें से एक कंपनी Atlantic Trading Unlimited भी है.