Canara Bank ने डेबिट कार्ड के चार्जेस बढ़ाए, 13 फरवरी से ये शुल्क होंगे लागू

केनरा बैंक के डेबिट कार्ड वेरिएंट्स में क्लासिक/स्टैंडर्ड, प्लेटिनम, बिजनेस और सिलेक्ट कार्ड वेरिएंट शामिल हैं.

Canara Bank ने डेबिट कार्ड के चार्जेस बढ़ाए, 13 फरवरी से ये शुल्क होंगे लागू

Monday January 16, 2023,

2 min Read

सार्वजनिक क्षेत्र के केनरा बैंक (Canara Bank) ने अपने ​विभिन्न तरह के डेबिट कार्ड्स के चार्जेस (Debit Card Charges) बढ़ा दिए हैं. रिवाइज्ड चार्जेस 13 फरवरी 2023 से प्रभावी हैं. बैंक ने इस बारे में अपनी वेबसाइट पर जानकारी उपलब्ध कराई है. केनरा बैंक ने डेबिट कार्ड के मामले में सालाना फीस, कार्ड रिप्लेसमेंट चार्जेस और डेबिट कार्ड इनएक्टिविटी फीस पर चार्जेस को बढ़ाया है. इसके अलावा एसएमएस अलर्ट के लिए चार्जेस में भी बदलाव किया गया है.

केनरा बैंक के डेबिट कार्ड वेरिएंट्स में क्लासिक/स्टैंडर्ड, प्लेटिनम, बिजनेस और सिलेक्ट कार्ड वेरिएंट शामिल हैं. बैंक के नए डेबिट कार्ड सर्विस चार्जेस इस तरह हैं...

canara-bank-increases-debit-card-service-charges-canara-bank-loan-rates

ध्यान रहे कि इन सर्विस चार्जेस में टैक्स शामिल नहीं है. ग्राहकों को एप्लीकेबल टैक्स, इन चार्जेस के ऊपर अतिरिक्त रूप से देना होगा.

लोन रेट भी बढ़ा चुका है

केनरा बैंक जनवरी माह में लोन रेट भी बढ़ा चुका है. यह वृद्धि 0.25 प्रतिशत तक की है. 7 जनवरी 2023 से केनरा बैंक की रेपो लिंक्ड लेंडिंग रेट (RLLR) 9.15 प्रतिशत, शॉर्ट टर्म रेपो लिंक्ड लेंडिंग रेट (STRLLR) 6.25 प्रतिशत और एक्सटर्नल बेंचमार्क लेंडिंग रेट (EBLR) 6.25 प्रतिशत है. वहीं नई MCLR (Marginal Cost of Funds Based Lending Rates) 7 जनवरी 2023 से इस तरह हैं...

canara-bank-increases-debit-card-service-charges-canara-bank-loan-rates

SBI ने एक दिन पहले ही बढ़ाई है MCLR

भारतीय स्टेट बैंक (State Bank of India or SBI) ने 15 जनवरी 2023 को मार्जिनल कॉस्ट ऑफ फंड बेस्ड लेंडिंग रेट्स (MCLR) में वृद्धि की. SBI ने MCLR में 0.10 प्रतिशत का इजाफा किया है. हालांकि बैंक ने केवल 1 साल वाली MCLR को बढ़ाया है. ज्यादातर रिटेल लोन्स इसी MCLR पर बेस्ड होते हैं. SBI के इस कदम से MCLR पर बेस्ड नया लोन लेने वालों को तो कर्ज वर्तमान की तुलना में महंगा मिलेगा ही, साथ ही MCLR पर बेस्ड लोन लिए हुए मौजूदा बॉरोअर्स के लिए भी EMI बढ़ जाएगी. इस वृद्धि से MCLR के अलावा किसी और बेंचमार्क लेंडिंग रेट पर बेस्ड लोन लेने वालों की EMI पर कोई असर नहीं पड़ेगा.

एक महीने के अंदर SBI द्वारा MCLR में की गई यह दूसरी वृद्धि है. इससे पहले बैंक ने 15 दिसंबर 2022 को MCLR, एक्सटर्नल बेंचमार्क बेस्ड लेंडिंग रेट (EBLR), रेपो बेस्ड लेंडिंग रेट (RLLR), बेंचमार्क प्राइम लेंडिंग रेट (BPLR) और बेस रेट समेत सभी लोन रेट्स में बढ़ोतरी की थी. वर्तमान में SBI की EBLR 8.90 प्रतिशत+CRP+BSP है. वहीं RLLR 8.50 प्रतिशत+CRP है. इसके अलावा BPLR 14.15 प्रतिशत और बेस रेट 9.40 प्रतिशत है.

यह भी पढ़ें
SBI का कर्ज हुआ और महंगा, एक माह के अंदर दूसरी बार बढ़ाई MCLR