Jack Ma पर अब तक भारी पड़ रहा चीनी सरकार के खिलाफ बयान देना, Ant Group का कंट्रोल भी हाथ से निकला

जैक मा ने एंट ग्रुप के चेयरमैन एरिक जिंग, पूर्व चीफ एग्जिक्यूटिव सिमोन हू और अलीबाबा ग्रुप के जिएंग फैंग के साथ पैक्ट साइन किया था जिसे जैक मा खत्म कर देंगे. पैक्ट के मुताबिक जैक के पास 53.46 फीसदी वोटिंग अधिकार थे. इसके अलावा उनके पास एंट ग्रुप में महज 10 फीसदी हिस्सेदारी रह जाएगी.

Jack Ma पर अब तक भारी पड़ रहा चीनी सरकार के खिलाफ बयान देना, Ant Group का कंट्रोल भी हाथ से निकला

Monday January 09, 2023,

3 min Read

जाने माने अरबपति जैक मा ने चीन के सबसे बड़े फिनटेक प्लैटफॉर्म एंट ग्रुप पर अपना नियंत्रण छोड़ दिया है. इस फैसले को कंपनी के आईपीओ का रास्ता साफ करने के लिहाज से उठाए जा रहे कदमों का हिस्सा माना जा रहा है.

साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट के मुताबिक जैक मा का एंट ग्रुप के चेयरमैन एरिक जिंग, पूर्व चीफ एग्जिक्यूटिव सिमोन हू और अलीबाबा ग्रुप के होल्डिंग वेटरन जिएंग फैंग के साथ एक्टिंग-इन-कॉन्सर्ट पैक्ट साइन किया था जिसे जैक मा खत्म कर देंगे.

इस पैक्ट के मुताबिक जैक मान के पास कंपनी में 53.46 फीसदी वोटिंग अधिकार थे, जो इस रिस्ट्रक्चरिंग के बाद खत्म हो जाएंगे. कंट्रोलिंग राइट्स खत्म होने के साथ उनके पास एंट ग्रुप में महज 10 फीसदी हिस्सेदारी रह गई है.

इस खबर के बाद सोमवार को चीन में एंट ग्रुप की अधिकांश हिस्सेदारी वाली कंपनियों के शेयरों में तेजी देखी गई. कभी एशिया के सबसे रईस शख्स माने जाने वाले जैक मा को चीनी सरकार की आलोचना का खामियाजा भुगतना पड़ रहा है.

उन्होंने एक सार्वजनिक मौके पर नियामकों की आलोचना की थी, जिसके बाद से ही वो लगातार चीनी सरकारी अधिकारियों के निशाने पर थे. 


जैक मा ने 2020 में चीन की नीतियों की आलोचना की थी. उन्होंने चीन के वित्तीय नियामक प्रणाली की आलोचना करते हुए सरकारी बैंकों की तुलना सूदखोरों से करते हुए सरकारी बैंकों पर सूदखोरों वाला रवैया रखने का आरोप लगाया था. उन्होंने अंतरराष्ट्रीय वित्तीय विनियमन समझौते पर भी सवाल खड़े किए थे.


इस आलोचना का जैक मा एंट ग्रुप और अलीबाबा को अच्छा खासा खामियाजा भुगतना पड़ा. चीनी सरकार ने 2020 में एंट ग्रुप के 37 अरब डॉलर के दुनिया के सबसे बड़े आईपीओ को रोक दिया था. जैक मा और अन्य अधिकारियों को चीनी नियमकों के साथ मीटिंग में भी बुलाया गया.

साल के आखिर तक आते आते चीनी सरकार ने अलीबाबा पर गलत कारोबारी आदतों को अपनाने का आरोप लगाते हुए 2.75 अरब डॉलर का जुर्माना भी लगाया था.

इन वाकयों के बाद से जैक मा सार्वजनिक रूप से गायब हो गए थे. लंबे अरसे तक वो दुनिया की नजरों के सामने से गायब रहे. 

इतना ही नहीं तब से जैक मा ने राष्ट्रपति शी जिनपिंग के विजन के लिए चैरिटी के लिए दान में बड़ा इजाफा किया है.

एंट ग्रुप ने तब से नियामकों को खुश करने के लिए अपने बिजनेस ऑपरेशन के आंकलन पर ध्यान केंद्रित किया है. एंट ग्रुप ने अपने कंज्यूमर लोन के लिए अपने कैपिटल बेस में भी बढ़ोतरी की है.

कभी एशिया के सबसे रईस शख्स माने जाने वाले जैक मा की संपत्ति आधी होकर 34.1 अरब डॉलर रह गई है. ब्लूमबर्ग मिलियनेयर इंडेक्स के मुताबिक जैक मा अब दुनिया के अमीरों की लिस्ट में 34वें नंबर पर रह गए हैं. 


Edited by Upasana

Montage of TechSparks Mumbai Sponsors