कोविड-19 की वजह से प्रौद्योगिकी आधारित स्वास्थ्य सेवा समाधान की मांग बढ़ी : रिपोर्ट

By yourstory हिन्दी
August 17, 2020, Updated on : Mon Aug 17 2020 10:31:30 GMT+0000
कोविड-19 की वजह से प्रौद्योगिकी आधारित स्वास्थ्य सेवा समाधान की मांग बढ़ी : रिपोर्ट
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

नयी दिल्ली, कोविड-19 महामारी की वजह से उपभोक्ताओं की पसंद और प्राथमिकता में बड़ा बदलाव आया है। परामर्शक कंपनी डेलॉयट इंडिया की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि अब उपभोक्ता प्रौद्योगिकी आधारित और ‘संपर्क-रहित’ स्वास्थ्य सेवाओं को प्राथमिकता दे रहे हैं।


k

सांकेतिक फोटो (साभार: shutterstock)


रिपोर्ट में कहा गया है कि अब उपभोक्ता अस्पताल जाने के बजाय घर पर ही स्वास्थ्य सेवा, इलाज और मरीजों की देखभाल चाहते हैं।


‘स्वास्थ्य देखभाल सेवाओं को लेकर उपभोक्ताओं का बदलता नजरिया’ शीर्षक की रिपोर्ट में कहा गया है कि कोविड-19 के प्रभाव की वजह से सामाजिक दूरी की जरूरत और डर के चलते उपभोक्ता चिकित्सकों से आमने-सामने बैठकर सलाह लेने के बजाय ऑनलाइन परामर्श को प्राथमिकता दे रहे हैं।


रिपोर्ट कहती है,

‘‘उपभोक्ताओं में लगातार अपने घर में सुरक्षित बैठकर स्वास्थ्य सेवाओं की जरूरत को पूरा करने की प्राथमिकता बढ़ रही है। वे चाहते हैं कि उनके स्वास्थ्य सेवा प्रदाता सुरक्षा प्रोटोकॉल को अपनी प्राथमिकताओं में शामिल करें।’’

रिपोर्ट में कहा गया है कि ‘टेलीमेडिसिन’ सेवाओं की मांग अभी जारी रहेगी, क्योंकि उपभोक्ता चाहते हैं कि उन्हें घर बैठकर ही प्रभावी सलाह मिल सके। इससे उन्हें चिकित्सक के पास जाने की जरूरत नहीं होगी और उनका ‘इंतजार करने का समय’ भी बचेगा।


डेलॉयट इंडिया की भागीदार अनुपमा जोशी ने कहा कि इस रिपोर्ट में हमने उपभोक्ताओं की प्राथमिकताओं में बदलाव के मद्देनजर स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र के लिए अवसरों और चुनौतियों का जिक्र किया है।


जोशी ने कहा,

‘‘हमारा मानना है कि इससे स्वास्थ्य सेवा पारिस्थतिकी तंत्र के संगठनों को बेहतर कारोबारी रणनीति बनाने, स्टार्टटप्स के साथ गठजोड़ करने में मदद मिलेगी। वे कोविड-19 के बाद नए वातावरण और आपूर्ति श्रृंखला की जरूरत के हिसाब से खुद को ढाल सकेंगे।’’


(सौजन्य से- भाषा पीटीआई)