20 साल के छात्र ने बनाई देसी डिवाइस, कहीं से भी मैनेज करें घर की बिजली को

By yourstory हिन्दी
February 19, 2018, Updated on : Thu Sep 05 2019 07:15:18 GMT+0000
20 साल के छात्र ने बनाई देसी डिवाइस, कहीं से भी मैनेज करें घर की बिजली को
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

पॉलिटेक्निक की पढ़ाई करने वाले रोशन ने सिर्फ 900 रुपये की लागत में ऐसी डिवाइस बनाई है जिसकी मदद से घर की बिजली को आसानी से कहीं से बैठकर कंट्रोल किया जा सकता है। इसके जरिए घर में लगे किसी भी उपकरण को बंद या चालू किया जा सकता है। 

रोशन गुप्ता अपने प्रॉजेक्ट के साथ

रोशन गुप्ता अपने प्रॉजेक्ट के साथ


सिर्फ तीन दिन के मेहनत में ही रोशन ने होम ऑटोमेशन डिवाइस तैयार कर ली। उन्होंने इसके लिए प्रोग्रामिंग बोर्ड, मोबाइल चार्जर सर्किट, रिले, तार, इलेक्ट्रिक सॉकेट और प्लास्टिक बोर्ड का इंतजाम किया। वे बताते हैं कि इसे खरीदने में सिर्फ 900 रुपये का खर्च आया। 

देश में प्रतिभाओं की कोई कमी नहीं है। जरूरत है बस उन्हें सही मार्गदर्शन और संसाधन की। दूर दराज इलाकों से अक्सर ऐसी कहानियां सुनने को मिलती हैं जब कोई व्यक्ति कम संसाधनों में अनोखी चीज बना डालता है। ऐसा ही किया है यूपी के मऊ जिले में रहने वाले 20 साल के रोशन गुप्ता ने। पॉलिटेक्निक की पढ़ाई करने वाले रोशन ने सिर्फ 900 रुपये की लागत में ऐसी डिवाइस बनाई है जिसकी मदद से घर की बिजली को आसानी से कहीं से बैठकर कंट्रोल किया जा सकता है। इसके जरिए घर में लगे किसी भी उपकरण को बंद या चालू किया जा सकता है। बिजली बचाने की दिशा में यह डिवाइस काफी कारगर हो सकती है।

भास्कर की एक रिपोर्ट के मुताबिक मऊ के फतेहपुर गांव में रहने वाले रोशन की आर्थिक स्थिति बहुत अच्छी नहीं है। उनके पिता इलेक्ट्ऱनिक्स के सामान रिपेयर करने की एक छोटी सी दुकान चलाते हैं। उनकी मां घर का काम संभावती हैं और उनके दो भाई व एक बहन भी है। रोशन ने बताया कि वे बीटेक करना चाहते थे, लेकिन पैसों के आभाव के कारण उनका यह सपना पूरा नहीं हो पाया। इसके बाद उन्होंने पॉलिटेक्निक यानी डिप्लोमा इंजिनियरिंग में दाखिला लिया। इसके बाद उन्हें लगा कि वह यहां भी काफी कुछ कर सकते हैं। इसके बाद कॉलेज में वह अपने सीनियर्स से मिले जिनसे उन्हें काफी प्रेरणा मिली।

रोशन ने स्कूल के दौरान कंप्यूटर प्रोग्रामिंग की बेसिक्स सीखी थीं। उन्होंने कॉलेज में सीनियर्स को प्रॉजेक्ट में ब्लूटूथ के जरिए पावर कंट्रोल करे हुए देखा। सीनियर्स अपने प्रॉजेक्ट में ब्लूटूथ के जरिए कई चीजों को अपने कंट्रोल में कर रहे थे। इसे देखकर रोशन को लगा कि वह भी ऐसा कुछ कर सकते हैं। उनके मन में एक ऐसी डिवाइस बनाने का आइडिया आया जिससे घर की बिजली को कहीं से भी चालू या बंद किया जा सके। इसके बाद उन्होंने कंप्यूटर प्रोग्रामिंग के बारे में और भी पढ़ाई की। रोशन ने पहले सारी चीजें पता की फिर जरूरत का बाजार से जरूरी उपकरण खरीद के लाए और अपनी डिवाइस बनाने में लग गए।

सिर्फ तीन दिन के मेहनत में ही रोशन ने होम ऑटोमेशन डिवाइस तैयार कर ली। उन्होंने इसके लिए प्रोग्रामिंग बोर्ड, मोबाइल चार्जर सर्किट, रिले, तार, इलेक्ट्रिक सॉकेट और प्लास्टिक बोर्ड का इंतजाम किया। वे बताते हैं कि इसे खरीदने में सिर्फ 900 रुपये का खर्च आया। रोशन ने बताया कि इसे बनाने के लिए सबसे पहले एक प्रोग्रामिंग बोर्ड लेते हैं। उसके अंदर एक डिजिटल पिन होता है। उसे स्विच से कनेक्ट कर देते हैं। उसके बाद रिले को सॉकेट से कनेक्ट कर देते हैं। जब ये सब आपस में कनेक्ट हो जाते हैं। तब हम कम्प्यूटर की हेल्प से माइक्रो कंट्रोलर में प्रोग्राम को अपलोड कर देते हैं। प्रोग्राम को अपलोड करते टाइम हमें उसमें आईडी और पासवर्ड भी अपलोड करना होता है।

इसके बाद अपने स्मार्टफोन में से‘Blynk’ नाम का ऐप डाउनलोड कर लेते हैं। जब ये ऐप मोबाइल में डाउनलोड हो जाता है उसके बाद हम उसे क्लिक करके ओपन करने की कोशिश करते है। ऐप जैसे ही ओपन होता है, वो आईडी और पासवर्ड मांगता है। उसके अंदर हम माइक्रो कंट्रोलर में फीड इमेल आईडी और पासवर्ड को फीड कर देते है। जैसे ही आईडी और पासवर्ड उसके अंदर फीड होता है Blynk ऐप सर्चिंग करने लगता है। उसके 2 से 3 मिनट के अंदर ऑनलाइन का बटन शो करने लगता है और ये डिवाइस हमारे मोबाइल से कनेक्ट हो जाता है। रोशन बताते हैं कि इस टेक्निक की मदद से आप दुनिया के किसी भी कोने से अपने घर की इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस को कंट्रोल कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें: नवदंपती ने अपनी शादी के मौके पर लगाया रक्तदान कैंप, 35 मेहमानों ने डोनेट किया ब्लड