ईडी ने बेंगलुरु में बायजू रवींद्रन के ठिकानों की तलाशी ली; BYJU'S ने बताया 'रूटीन इंक्वायरी'

BYJU'S की कानूनी टीम के प्रवक्ता ने बताया कि ईडी अधिकारियों का दौरा FEMA के तहत एक नियमित जांच से संबंधित था. यह तलाशी विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम (FEMA) के प्रावधानों के तहत ली गई.

ईडी ने बेंगलुरु में बायजू रवींद्रन के ठिकानों की तलाशी ली; BYJU'S ने बताया 'रूटीन इंक्वायरी'

Saturday April 29, 2023,

3 min Read

बायजू रवींद्रन (Byju Raveendaran) और उनकी कंपनी थिंक एंड लर्न प्राइवेट लिमिटेड (Think & Learn Private Limited) के बेंगलुरु में तीन ठिकानों (दो कारोबारी और एक रिहायशी) की शनिवार को प्रवर्तन निदेशालय (Enforcement Directorate - ED) ने तलाशी ली है. यह तलाशी विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम (FEMA) के प्रावधानों के तहत ली गई.

एंजेसी ने ट्विटर पर इसकी जानकारी दी. कंपनी BYJU'S के नाम से पॉपुलर ऑनलाइन एजुकेशन पोर्टल चलाती है. ED ने बताया कि तलाशी के दौरान Byju's के ठिकानों से विभिन्न आपत्तिजनक दस्तावेज और डिजिटल डेटा जब्त किए गए.

तलाशी से पता चला है कि एडटेक यूनिकॉर्न को 2011-2023 के दौरान 28,000 करोड़ रुपये (लगभग) का प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (FDI) प्राप्त हुआ है.

इसके अलावा, कंपनी ने विदेशी प्रत्यक्ष निवेश के नाम पर इसी अवधि के दौरान विभिन्न विदेशी प्राधिकारों को मोटे तौर पर ₹9,754 करोड़ का भुगतान भी किया है.

बायजू और उनकी फर्म थिंक एंड लर्न प्राइवेट लिमिटेड ने विज्ञापन और मार्केटिंग खर्च के नाम पर लगभग 944 करोड़ रुपये खर्च किए हैं, जिसमें विदेशी प्राधिकारों को भेजी गई राशि भी शामिल है.

इसके अलावा, कंपनी ने वित्त वर्ष 2021 से अपने फाइनेंशियल स्टेटमेंट तैयार नहीं किए हैं और ED के प्रेस बयान के अनुसार कंपनी ने अपने अकाउंट्स का ऑडिट नहीं कराया है.

निजी व्यक्तियों से प्राप्त विभिन्न शिकायतों के आधार पर प्लेटफॉर्म के खिलाफ जांच शुरू की गई थी.

प्रेस बयान में कहा गया है कि ईडी द्वारा की गई जांच के दौरान, फाउंडर बायजू रवींद्रन को कई समन जारी किए गए थे, हालांकि, वह टालमटोल करते रहे. जांच अभी जारी है.

इससे पहले, ED ने गुरुवार को कहा कि उसने विदेशी मुद्रा कानून का कथित रूप से उल्लंघन करने और चीन को 'अवैध' रूप से 82 करोड़ रुपये भेजने के लिए बेंगलुरु स्थित एक एडटेक कंपनी के ठिकानों की तलाशी ली. यह कंपनी पूरी तरह से चीनी नागरिकों के स्वामित्व और नियंत्रण में है. ईडी की टीम ने FEMA के प्रावधानों के तहत Pigeon Education Technology India Pvt Ltd के दो स्थानों की तलाशी ली. कंपनी 'Oda Class' नाम से ऑनलाइन क्लासेज चलाती है.

ED की तलाशी पर क्या बोला BYJU'S?

मिंट की एक रिपोर्ट के मुताबिक, BYJU'S की कानूनी टीम के प्रवक्ता ने बताया कि ईडी अधिकारियों का दौरा FEMA के तहत एक नियमित जांच से संबंधित था.

प्रवक्ता ने कहा, “हम अधिकारियों के साथ पूरी तरह से सहयोग कर रहे हैं और उन्हें उनके द्वारा मांगी गई सभी जानकारी प्रदान की है. हमें अपने संचालन की अखंडता में विश्वास है, और हम नैतिकता के उच्चतम मानकों को बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध हैं. हम यह सुनिश्चित करने के लिए अधिकारियों के साथ मिलकर काम करना जारी रखेंगे कि उनके पास आवश्यक सभी जानकारी है, और हमें विश्वास है कि इस मामले को समय पर और संतोषजनक तरीके से सुलझा लिया जाएगा."

यह भी पढ़ें
ईडी ने बेंगलुरु में चीनी नागरिकों की एडटेक कंपनी की तलाशी ली