एडटेक स्टार्टअप Udayy पर लगे ताले, 100 कर्मचारियों की गई नौकरी

Udayy को साल 2019 में सौम्या यादव, महक गर्ग और करण वार्ष्णेय ने लॉन्च किया था.

एडटेक स्टार्टअप Udayyने अपना कामकाज बंद कर दिया है. इसके साथ ही कंपनी के इस कदम से एक साथ करीब 100-120 कर्मचारियों की नौकरी चली गई है.

दो साल की ऑनलाइन क्लास के बाद जब से स्कूल और कॉलेज खुलने लगे हैं, एडटेक इंडस्ट्री, विशेष रूप से ऑनलाइन लर्निंग प्लेटफॉर्म्स ने या तो बाजार में बने रहने के लिए ऑफ़लाइन क्लासेज शुरू कर दी हैं, या फिर फंडिंग की कमी के कारण अपने कई कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया है. Udayy जैसे स्टार्टअप्स पर तो ताले ही लग गए.

इसी कड़ी में एक और एडटेक स्टार्टअप का नाम आता है. Lido Learningने बीते महीने कामकाज बंद कर दिया. इससे पहले इसी साल जनवरी में Lido ने एक साथ 1200 कर्मचारियों को नौकरी से निकाला था.

Udayy को साल 2019 में सौम्या यादव, महक गर्ग और करण वार्ष्णेय ने लॉन्च किया था. स्टार्टअप ने Falcon Edge के Alpha Wave और Info Edge Ventures से सीड राउंड में 25 लाख डॉलर जुटाए थे. इसने Norwest Partners के नेतृत्व में एक नए राउंड में 10 मिलियन डॉलर जुटाए थे.

इकोनॉमिक टाइम्स से बात करते हुए, को-फाउंडर सौम्या यादव ने पुष्टि की कि स्टार्टअप ने "निवेशकों को $8-$8.5 मिलियन" लौटा दिए है.

वहीं, अलग-अलग मीडिया रिपोर्ट्स में Udayy की को-फाउंडर सौम्या यादव के हवाले से कहा गया है कि स्टार्टअप ने अप्रैल 2022 में कामकाज बंद कर दिया था. क्योंकि बच्चों ने वापस स्कूल जाना शुरू कर दिया था. रिपोर्ट्स के मुताबिक, यादव ने कहा, "हम ऑनलाइन लाइव लर्निंग क्लासेज चला रहे थे. हमने ग्रेड 1 से 8 तक के बच्चों को पढ़ाया है. हम महामारी के दौरान बहुत अच्छा ट्रैफिक देख रहे थे क्योंकि 5,000 बच्चे हमारी क्लासेज में पढ़ रहे थे. लेकिन अब स्कूलें खुल चुकी हैं. और हम बाजार में सर्वाइव में नहीं कर पा रहे थे."

यादव ने यह भी बताया है कि कर्मचारियों को उनकी सैलरी और नौकरी जाने को लेकर पैकेज का भुगतान किया गया था और अधिकांश कर्मचारियों को नई जॉब्स भी मिल गई थी.

आपको बता दें कि हाल ही के वक्त में भारत के एडटेक सेक्टर में कर्मचारियों की छंटनी लगातार बढ़ती जा रही है. Unacademy, FrontRowऔर Vedantu जैसी एडटेक कंपनियों ने हाल के दिनों में कई कर्मचारियों की छंटनी की है.