Elon Musk नहीं रहे दुनिया के सबसे अमीर शख्स! जानिए किसने उनकी बादशाहत को दे दी चुनौती

By Anuj Maurya
December 08, 2022, Updated on : Thu Dec 08 2022 06:30:15 GMT+0000
Elon Musk नहीं रहे दुनिया के सबसे अमीर शख्स! जानिए किसने उनकी बादशाहत को दे दी चुनौती
एलन मस्क की बादशाहत अब खतरे में है. बर्नार्ड अरनॉल्ट ने देश के सबसे अमीर शख्स की गद्दी को कुछ वक्त के लिए हासिल कर लिया था. अभी एलन मस्क की दौलत 185 अरब डॉलर के करीब आ चुकी है.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

काफी लंबे वक्त से दुनिया के सबसे अमीर शख्स की गद्दी पर बैठे ट्विटर और टेस्ला मोटर्स के सीईओ एलन मस्क (Elon Musk) की बादशाहत अब खतरे में है. ये खतरा उन्हें है लग्जरी ब्रांड लुई वुइटन की मूल कंपनी LVMH के बर्नार्ड अरनॉल्ट ( Bernard Arnault) से. फोर्ब्स की रीयलटाइम अमीरों की लिस्ट (Forbes List) में बुधवार को एक वक्त ऐसा आया जब एलन मस्क फिसलकर दूसरे नंबर पर चले गए. वहीं बर्नार्ड अरनॉल्ट ने उनकी जगह ले ली. हालांकि, कुछ ही वक्त बाद फिर से एलन मस्क पहले नंबर पर पहुंच गए और बर्नार्ड अरनॉल्ट दूसरे नंबर पर आ गए.


अगर फोर्ब्स की अमीरों की रीयल टाइम लिस्ट को देखें तो गुरुवार सुबह 10 बजे एलन मस्क 185.4 अरब डॉलर की दौलत के साथ पहले नंबर पर हैं. हालांकि, एक वक्त ऐसा था जब उनकी दौलत 250 अरब डॉलर से भी अधिक हो गई थी. वहीं 184.7 अरब डॉलर की नेटवर्थ के साथ बर्नार्ड अरनॉल्ट इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर हैं. बता दें कि एलन मस्क सितंबर 2021 से ही दुनिया के सबसे अमीर शख्स रहे हैं. अभी इस लिस्ट में भारत के सबसे अमीर शख्स गौतम अडानी 135.7 अरब डॉलर की दौलत के साथ दुनिया के तीसरे सबसे अमीर सख्स हैं.

क्यों एलन मस्क की हालत है खराब?

एलन मस्क की खराब हालत के लिए उनका ट्विटर को खरीदने का फैसला जिम्मेदार माना जा रहा है. इसकी वजह से उनकी कंपनी टेस्ला के शेयर्स भी तेजी से गिरते ही जा रहे हैं. अप्रैल 2022 में ट्विटर डील की शुरुआत हुई थी, तब से लेकर अब तक टेस्ला का मार्केट कैप करीब आधी रह गई है. ट्विटर डील की शुरुआत के दौरान टेस्ला के शेयर की कीमत करीब 350 डॉलर की थी, जो अब गिरते-गिरते 175 डॉलर के करीब आ चुकी है. यानी इस शेयर की कीमत करीब आधी हो चुकी है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक एलन मस्क अब तक अपनी कंपनी टेस्ला के करीब 25 अरब डॉलर के शेयर बेच चुके हैं.


टेस्ला के शेयर दो साल में अपने सबसे निचले स्तर पर आ गए हैं. कोरोना काल में टेस्ला को भारी चुनौतियां झेलनी पड़ी थीं. कंपनी को चीन में लगे कोविड प्रतिबंधों से बहुत नुकसान हुआ. वहीं ट्विटर को खरीदने के फैसले से भी उनकी कंपनी के शेयरों पर बुरा असर पड़ा और लोगों ने शेयर बेचने शुरू कर दिए. बता दें कि एलन मस्क के ट्विटर खरीदने और सीईओ बनने के बाद कंपनी ने अपने लगभग 60% कर्मचारियों को खो दिया है.