चौतरफा आलोचना से एलन मस्क बैकफुट पर, पत्रकारों के सस्पेंडेड ट्विटर अकाउंट किए बहाल

By yourstory हिन्दी
December 18, 2022, Updated on : Sun Dec 18 2022 10:05:22 GMT+0000
चौतरफा आलोचना से एलन मस्क बैकफुट पर, पत्रकारों के सस्पेंडेड ट्विटर अकाउंट किए बहाल
पत्रकारों के ट्विटर अकाउंट्स सस्पेंड किए जाने के बाद शुक्रवार को दुनिया के कई हिस्सों से सरकारी अधिकारियों, वकालत समूहों और पत्रकारिता संगठनों ने इसकी तीखी आलोचना की.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

16 दिसंबर को खबर आई थी कि Twitterने कई ऐसे पत्रकारों के ट्विटर अकाउंट्स को सस्पेंड कर दिया है, जो एलन मस्क (Elon Musk) के प्लेन को लेकर डेटा सार्वजनिक करते हैं. लेकिन अब खबर है कि इस सस्पेंशन के विवादास्पद हो जाने और चौतरफा आलोचना होने से, एक दिन बाद ही ट्विटर ने पत्रकारों के सस्पेंडेड अकाउंट्स को बहाल कर दिया. बता दें कि एलन मस्क अब ट्विटर के मालिक हैं. उन्होंने 44 अरब डॉलर में इसे खरीद लिया है.


रॉयटर्स की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि पत्रकारों के ट्विटर अकाउंट्स सस्पेंड किए जाने के बाद शुक्रवार को दुनिया के कई हिस्सों से सरकारी अधिकारियों, वकालत समूहों और पत्रकारिता संगठनों ने इसकी तीखी आलोचना की. कुछ लोगों ने तो यहां तक कहा कि माइक्रोब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म ट्विटर, प्रेस की स्वतंत्रता को खतरे में डाल रहा है. मस्क द्वारा बाद में किए गए एक ट्विटर पोल में भी यह सामने आया कि अधिकांश उत्तरदाता चाहते थे कि सस्पेंडेड खातों को तुरंत बहाल किया जाए. मस्क ने शनिवार को एक ट्वीट में कहा, "लोगों ने बोल दिया. मेरी लोकेशन को डॉक्स करने वाले खातों का सस्पेंशन अब हटा दिया जाएगा."

रॉयटर्स ने चेक किया है कि न्यूयॉर्क टाइम्स, सीएनएन और वाशिंगटन पोस्ट के​ जिन पत्रकारों के ट्विटर अकाउंट्स को सस्पेंड किया गया था, उनके अकाउंट अब रिस्टोर हो गए हैं.

क्यों हुआ यह सस्पेंशन

दरअसल ElonJet नामक एक ट्विटर अकाउंट पर असहमति के कारण यह सस्पेंशन हुआ, जिसने सार्वजनिक रूप से उपलब्ध जानकारी का उपयोग करके मस्क के निजी विमान को ट्रैक किया. मस्क के पिछले ट्वीट के बावजूद ट्विटर ने बुधवार को निजी जेट को ट्रैक करने वाले इस अकाउंट और कुछ अन्य अकाउंट्स को भी सस्पेंड कर दिया. मस्क ने अपने उस ट्वीट में कहा था कि वह फ्री स्पीच के नाम पर एलोनजेट को सस्पेंड नहीं करेंगे.


सस्पेंशन के कुछ ही वक्त बाद ट्विटर ने "लाइव लोकेशन इन्फॉर्मेशन" साझा करने पर रोक लगाने के लिए अपनी प्राइवेसी पॉलिसी बदल दी. इसके बाद गुरुवार शाम को न्यूयॉर्क टाइम्स, सीएनएन और वाशिंगटन पोस्ट सहित कई मीडिया हाउसेज के कई पत्रकारों को बिना किसी सूचना के ट्विटर से सस्पेंड कर दिया गया.


पत्रकारों के अकाउंट सस्पेंड करने के ट्विटर के कदम की फ्रांस, जर्मनी, ब्रिटेन, यूरोपीय यूनियन के कई अधिकारियों ने आलोचना की थी. लोगों ने इसे फ्री स्पीच के खिलाफ कदम बताया था. फ्रांसीसी उद्योग मंत्री रोलैंड लेस्क्योर ने शुक्रवार को ट्वीट किया कि मस्क द्वारा पत्रकारों के निलंबन के बाद, वह ट्विटर पर अपनी गतिविधि को निलंबित कर देंगे. यूनाइटेड नेशंस के लिए हेड ऑफ कम्युनिकेशंस, मेलिसा फ्लेमिंग ने ट्वीट किया था कि वह इन सस्पेंशंस से बहुत ज्यादा डिस्टर्ब हैं. उन्होंने यह भी कहा था कि मीडिया की स्वतंत्रता खिलौना नहीं है.

क्या बोले थे मस्क

दरअसल मस्क ने पत्रकारों पर अपनी रियल टाइम लोकेशन को पोस्ट करने का आरोप लगाया है, जो कि उनके परिवार की जान के लिए जोखिम पैदा कर सकता है. कुछ दिनों पहले पत्रकारों द्वारा होस्ट किए गए एक ट्विटर स्पेसेज ऑडियो चैट में अरबपति थोड़ी देर के लिए दिखाई दिए थे. मस्क ने सवालों के जवाब में बार-बार कहा था, "यदि आप डॉक्स करते हैं, तो आपका ट्विटर अकाउंट सस्पेंड कर दिया जाएगा. कहानी खत्म." डॉक्स आमतौर पर दुर्भावनापूर्ण इरादे से किसी के बारे में निजी जानकारी प्रकाशित करने के लिए एक शब्द है.


अकाउंट सस्पेंड करने की इस कार्रवाई के बाद मस्क ने कहा था, "पत्रकारों पर भी वही नियम लागू होते हैं जो बाकी सभी पर होते हैं. ये लोग मेरी रियल टाइम लोकेशन को ट्रैक कर रहे थे. ये मूल रूप से हत्या से संबंधित ट्विटर के प्राइवेसी रूल्स का सीधा उल्लंघन है." ट्विटर के नए सीईओ एलन मस्क ने अपने एक अन्य ट्वीट में कहा कि दिन भर मेरी आलोचना करना पूरी तरह से ठीक है, लेकिन मेरी रियल टाइम लोकेशन को फॉलो करना और मेरे परिवार को खतरे में डालना ठीक नहीं है.


Edited by Ritika Singh