Facebook ने बदला कंपनी का नाम, नया नाम रखा Meta

By रविकांत पारीक
October 29, 2021, Updated on : Fri Oct 29 2021 11:01:39 GMT+0000
Facebook ने बदला कंपनी का नाम, नया नाम रखा Meta
Facebook, जिसे अब Meta के नाम से जाना जाता है, ने वर्चुअल रियलेटी की दुनिया में काम करने के लिए अपनी दृष्टि का वर्णन करने के लिए, sci-fi शब्द Metaverse की तर्ज पर नया नाम रखा है।
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

Facebook ने गुरुवार को घोषणा की कि उसने अपनी कंपनी का नाम बदलकर Meta कर लिया है।


Facebook Connect augmented and virtual reality कॉन्फ्रेंस में नाम बदलने की घोषणा की गई थी। नया नाम सोशल मीडिया से परे कंपनी की बढ़ती महत्वाकांक्षाओं को दर्शाता है। फेसबुक, जिसे अब मेटा के नाम से जाना जाता है, ने वर्चुअल रियेलिटी की दुनिया में काम करने के लिए अपनी दृष्टि का वर्णन करने के लिए, sci-fi शब्द metaverse की तर्ज पर नया नाम रखा है।


मेटा के सीईओ मार्क जुकरबर्ग ने कहा,

"आज हमें एक सोशल मीडिया कंपनी के रूप में देखा जाता है, लेकिन हमारे DNA में हम एक ऐसी कंपनी हैं जो लोगों को जोड़ने के लिए तकनीक का निर्माण करती है, और मेटावर्स सोशल नेटवर्किंग की तरह ही अगला फ्रंटियर है।"

Facebook changes name to Meta

कंपनी ने नए नाम की घोषणा करते हुए यह भी कहा कि वह 1 दिसंबर से अपने स्टॉक टिकर को FB से MVRS में बदल देगी।


रिपोर्ट्स के मुताबिक, जुलाई में, कंपनी ने एक टीम के गठन की घोषणा की थी जो मेटावर्स पर काम कर रही थी। दो महीने बाद, कंपनी ने कहा कि वह 2022 में चीफ़ टेक्नोलॉजी ऑफिसर की भूमिका के लिए Andrew “Boz” Bosworth, जो वर्तमान में कंपनी के हार्डवेयर डिवीजन के हेड हैं, को पदोन्नत करेगी। और सोमवार को अपनी तीसरी तिमाही के आय परिणामों में, कंपनी ने घोषणा की कि वह चौथी तिमाही से शुरू होने वाले अपने स्वयं के रिपोर्टिंग सेगमेंट में, अपने हार्डवेयर डिवीजन, Reality Labs के बारे में बताएगी।


जुकरबर्ग ने गुरुवार को एक पत्र में लिखा,

"हमें उम्मीद है कि अगले दशक के भीतर, मेटावर्स एक अरब लोगों तक पहुंच जाएगी, सैकड़ों अरबों डॉलर के डिजिटल कॉमर्स की मेजबानी करेगी और लाखों क्रिएटर्स और डेवलपर्स के लिए नौकरियों का समर्थन करेगी।"


पिछले कुछ वर्षों में, कंपनी ने हार्डवेयर में अपने प्रयासों को तेज कर दिया है, पोर्टल वीडियो-कॉलिंग डिवाइसेज की एक लाइन की शुरुआत की है, Ray-Ban Stories चश्मा लॉन्च किया है और Oculus वर्चुअल-रियलिटी हेडसेट के विभिन्न संस्करणों को रोल आउट किया है। कंपनी ने संकेत दिया है कि आने वाले वर्षों में ऑग्मेंटेड और वर्चुअल रियेलिटी उसकी रणनीति का एक महत्वपूर्ण हिस्सा होगी।


जुकरबर्ग ने गुरुवार को मेटावर्स के लिए कंपनी की महत्वाकांक्षाओं को लेकर बात की।


मेटा ने अपने पहले पूरी तरह से एआर-सक्षम स्मार्ट ग्लास: Project Nazare के कोड नाम की भी घोषणा की। कंपनी ने एक ब्लॉग पोस्ट में कहा, चश्में में "अभी भी कुछ साल लगेंगे"। जुकरबर्ग ने कहा, "हमें Nazare को लॉन्च करने में थोड़ा और वक्त लगेगा, लेकिन हम अच्छी प्रगति कर रहे हैं।"


आपको बता दें कि Facebook ने कंपनी का नाम अपनी रिब्रांडिंग प्रक्रिया के तहत बदला है।