[फंडिंग अलर्ट] रूरल सोशल नेटवर्क स्टार्टअप Krisify ने प्री-सीरीज़ ए राउंड में जुटाए $6.2 मिलियन

By Trisha Medhi & रविकांत पारीक
February 22, 2022, Updated on : Tue Feb 22 2022 07:55:44 GMT+0000
[फंडिंग अलर्ट] रूरल सोशल नेटवर्क स्टार्टअप Krisify ने प्री-सीरीज़ ए राउंड में जुटाए $6.2 मिलियन
गुरुग्राम स्थित स्टार्टअप ने इस राउंड का उपयोग पूरे भारत में अपने विकास में तेजी लाने और कृषि क्षेत्र में बेहतर उपयोगकर्ता अनुभव के लिए टेक्नोलॉजी को और परिष्कृत करने के लिए, करने की योजना बनाई है।
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

ग्रामीण सोशल नेटवर्क Krishifyने मंगलवार को घोषणा की कि उसने मौजूदा निवेशकों Ankur Capital, Omidyar Network India, और Orios Venture Partners के साथ एग्रीटेक वीसी फंड Omnivore की अतिरिक्त भागीदारी के साथ प्री-सीरीज ए राउंड में 6.2 मिलियन डॉलर जुटाए हैं। इससे पहले अगस्त 2021 में Krishify ने 2.7 मिलियन डॉलर जुटाए थे, और अब अतिरिक्त 3.5 मिलियन डॉलर की फंडिंग के साथ प्री-सीरीज़ ए राउंड को पूरा किया है।


6.5 मिलियन से अधिक डाउनलोड और 1.3 मिलियन मासिक सक्रिय उपयोगकर्ताओं के साथ, Krishify किसानों और ग्रामीण समुदायों के लिए भारत का सबसे बड़ा सोशल नेटवर्क है। मशीन लर्निंग, एआई और नेचुरल लैंग्वेज प्रोसेसिंग (NLP) का लाभ उठाते हुए, Krishify का ऐप कृषि प्रतिभागियों को अत्यधिक व्यक्तिगत अनुभव प्रदान करता है।


गुरुग्राम स्थित स्टार्टअप ने इस फंडिंग का उपयोग पूरे भारत में अपने विकास में तेजी लाने और कृषि क्षेत्र में बेहतर उपयोगकर्ता अनुभव के लिए टेक्नोलॉजी को और परिष्कृत करने के लिए, करने की योजना बनाई है।


IIT के पूर्व छात्र राजेश रंजन, मनीष अग्रवाल और अविनाश कुमार द्वारा 2019 में स्थापित, Krishify ग्रामीण उपभोक्ताओं को लक्षित करने वाली कंपनियों के लिए विज्ञापन, लीड जनरेशन और मार्केटिंग सेवाओं के माध्यम से नेटवर्क पर मुद्रीकरण में तेजी ला रहा है।

agritech

फोटो साभार: ShutterStock

निवेश पर टिप्पणी करते हुए, Krishify के को-फाउंडर राजेश रंजन ने कहा, “हम भारत के कृषि क्षेत्र के निर्माण की अपनी यात्रा में Omnivore के साथ साझेदारी करके उत्साहित हैं। अधिक से अधिक भारतीय किसान हर दिन Krishify के माध्यम से जुड़ रहे हैं, क्योंकि नेटवर्क भौगोलिक बाधाओं को तोड़ता है और लोगों को ज्ञान तक पहुंचने और व्यापार करने में मदद करता है। हमने हाल ही में राजस्थान में एक तीसरी पीढ़ी के अमरूद किसान से मुलाकात की, जो बिहार, मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र के किसानों को रिकॉर्ड संख्या में अमरूद के पौधे बेच रहा था, जो केवल Krishify ऐप के माध्यम से ही उनसे जुड़ पाया।“


Omnivore के मैनेजिंग पार्टनर मार्क कहन ने कहा, "ग्रामीण भारत में स्मार्टफोन की बढ़ती पहुंच ने भारत के 130 मिलियन किसानों और उनके परिवारों, जिनकी कुल आबादी 600 मिलियन से अधिक है, के लिए एक किसान-केंद्रित सोशल नेटवर्क बनाने का अवसर पैदा किया है। Krishify किसानों और ग्रामीण समुदायों को पीयर-टू-पीयर जुड़ाव के माध्यम से अधिक सफलता और खुशी का एहसास कराने में मदद करने के लिए एक सामग्री-केंद्रित कृषि का निर्माण कर रहा है।”


Edited by Ranjana Tripathi