[फंडिंग अलर्ट] ओटिपी ने इंफ़्लेशन पॉइंट वेंचर्स से जुटाया 1 मिलियन डॉलर का निवेश

By yourstory हिन्दी
August 25, 2020, Updated on : Tue Aug 25 2020 04:35:19 GMT+0000
[फंडिंग अलर्ट] ओटिपी ने इंफ़्लेशन पॉइंट वेंचर्स से जुटाया 1 मिलियन डॉलर का निवेश
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

ओटिपी एक सोशल कमर्शियल स्टार्टअप है, जो उपभोक्ताओं को ताजे फल और सब्जियां प्रदान करके कृषि क्षेत्र पर ध्यान केंद्रित करता है और किसानों को उचित मूल्य प्राप्त करने में सक्षम बनाता है।

(सांकेतिक चित्र)

(सांकेतिक चित्र)



फार्म-टू-फोर्क एग्रीटेक स्टार्टअप क्रोफार्म के सोशल कॉमर्स वेंचर ओटिपी ने शुरुआती स्तर के निवेश मंच इंफ्लेशन प्वाइंट वेंचर्स (आईपीवी) से 1 मिलियन डॉलर जुटाए हैं।


स्टार्टअप के एक बयान के अनुसार इसने पिछले तीन महीनों में 4 गुना वृद्धि की है और उम्मीद की जाती है कि नए फंडिंग से इसकी गति को और बढ़ावा मिलेगा क्योंकि देश कोविड-19 लॉकडाउन प्रतिबंधों से उबर रहा है।


ओटिपी उपभोक्ताओं के साथ महिला रीसेलर के माध्यम से उपभोक्ताओं को जोड़ता है। इस उद्यम का दावा है कि इसके 100,000 से अधिक उपभोक्ताओं के लिए 1,000 से अधिक भागीदार रीसेलर हैं।


ओटिपी का कहना है कि सोशल कॉमर्स प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध फल और सब्जियां सीधे खेत से आती है और रासायनिक-मुक्त और स्वास्थ्यकर होती हैं।


फंडिंग पर ओटिपी के सह-संस्थापक और सीईओ वरुण खुराना ने कहा,

“हमने अपने साथी रीसेलरों (ज्यादातर महिलाओं) के साथ एक बहुत मजबूत समुदाय बनाया है और विशेष रूप से इन समय में आय के वैकल्पिक स्रोत प्रदान करके उन्हें सशक्त बनाया है, जबकि इस समय आय के अन्य स्रोत सूख गए थे। इसके अलावा एपीएमसी में हाल के बदलावों के साथ हमारा किसान नेटवर्क बहुत तेज गति से बढ़ रहा है।"



ओटिपी के अनुसार यह मौजूदा प्रौद्योगिकी बुनियादी ढांचे को बढ़ाने के लिए नए फंडिंग का उपयोग करेगा, आगे दिल्ली/एनसीआर में रीसेलरों के आधार का विस्तार करेगा और किसान इकोसिस्टम के साथ गहरे संबंधों का निर्माण करेगा। इसने पहले स्माइल ग्रुप से 1 मिलियन डॉलर जुटाए थे।


ओटिपी की दिल्ली, गुरुग्राम, नोएडा, गाजियाबाद और ग्रेटर नोएडा में मौजूदगी है।


ओटिपी में निवेश पर आईपीवी के संस्थापक और सीईओ विनय बंसल ने कहा,

“ओटिपी भारत में एक नई अवधारणा है और अब तक बहुत बड़ा कर्षण प्राप्त कर चुकी है। यह न केवल किसानों के लिए उचित मूल्य निर्धारण की चुनौती को समाप्त करता है, बल्कि उपभोक्ताओं के लिए नए उत्पादन का वितरण सुनिश्चित करता है।”

इस साल मार्च से आईपीवी द्वारा यह 12वां निवेश है।


ओटिपी उपज की खरीद के लिए ऐतिहासिक डेटा एकत्र करने के लिए एआई-आधारित मांग पूर्वानुमान उपकरण का उपयोग करता है, ऑन-डिमांड कटाई की सुविधा प्रदान करता है और इसी के साथ ताजा उपज का वितरण सुनिश्चित करता है। यह उपभोक्ताओं के साथ बातचीत करने के लिए व्हाट्सएप पर ग्राहक संबंध प्रबंधन टूल का भी उपयोग करता है।