Gautam Adani भी लाएंगे अपनी एयरलाइन? उनके निवेशों को देखकर तो कुछ ऐसे ही कयास लग रहे हैं!

Gautam Adani ने पिछले दिनों में तेजी से एविएशन सेक्टर में निवेश बढ़ाया है. ऐसे में कयास लग रहे हैं कि क्या अडानी अब अपनी एयरलाइन भी लाएंगे? अगर ऐसा हो जाए तो हैरानी नहीं होनी चाहिए क्योंकि अडानी तेजी से नए-नए बिजनेस में एंट्री मार रहे हैं.

Gautam Adani भी लाएंगे अपनी एयरलाइन? उनके निवेशों को देखकर तो कुछ ऐसे ही कयास लग रहे हैं!

Friday October 21, 2022,

4 min Read

Gautam Adani तेजी से अपना बिजनेस बढ़ा रहे हैं. हाल ही में खबर आई थी कि अडानी ने भारत के सबसे पुराने एमआरओ एयरवर्क्स (AirWorks) का अधिग्रहण कर लिया है. अब खबर है कि वह अहमदाबाद एयरपोर्ट को और विकसित करने के लिए उसमें करीब 10 हजार करोड़ रुपये का निवेश करने जा रहे हैं. गौतम अडानी के इन निवेशों से अब ये भी कयास लगने लगे हैं कि क्या गौतम अडानी भी अपनी एयरलाइन लाने की तैयारी कर रहे हैं?

अमदाबाद एयरपोर्ट में 10 हजार करोड़ का निवेश

अडानी ग्रुप ना सिर्फ नए-नए बिजनेस में उतर रहा है, बल्कि अपने पुराने बिजनेस को भी तेजी से बढ़ा रहा है. बिजनेस स्टैंडर्ड की रिपार्ट के अनुसार अडानी ग्रुप 2023-2027 के बीच में अहमदाबाद एयरपोर्ट के विकास के लिए 10 हजार करोड़ रुपये निवेश करेगा. बताया जा रहा है कि अडानी ग्रुप की प्लानिंग अहमदाबाद एयरपोर्ट की पैसेंजर हैंडलिंग को 3 गुना बढ़ा ने की है. अभी इसकी क्षमता करीब 9 मिलियन यात्रियों की है, जिसे बढ़ाकर 28 मिलियन तक करने की योजना है. हालांकि, कंपनी ने इस पर कोई आधिकारिक बयान जारी नहीं किया है.

रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि अडानी ग्रुप अहमदाबाद एयरपोर्ट को रीजनल हब बनाने की तैयारी में है. यहां से भुज, कांडला, जामनगर और भावनगर को कनेक्ट करने की भी तैयारी चल रही है. नवंबर 2020 से ही अहमदाबाद एयरपोर्ट का कंट्रोल अडानी समूह के हाथों में है. 2025 तक एयरपोर्ट का कमर्शियल एरिया 2000 स्क्वायर फुट से बढ़ाकर 9000 स्क्वायर फुट करने की प्लानिंग है. इतना ही नहीं, अहमदाबाद एयरपोर्ट पर अडानी ग्रुप ज्यादा आउटलेट खोलने की भी प्लानिंग में है.

अभी कौन-कौन से एयरपोर्ट हैं अडानी ग्रुप के हाथ में?

अडानी समूह के पास लखनऊ, जयपुर, तिरुअनंतपुरम, अहमदाबाद, मंगलुरू, अहमदाबाद और गुवाहाटी एयरपोर्ट हैं. 2019 में सरकार की तरफ से मांगी गई बोली में अडानी ग्रुप ने टेंडर जीता और इन एयरपोर्ट का संचालन उसके हाथ चला गया. देखा जाए तो पिछले कुछ सालों के दौरान अडानी समूह ने एविएशन सेक्टर में खूब तेजी के साथ निवेश किया है.

हाल ही में किया है एमआरओ एयरवर्क्स का अधिग्रहण

एशिया के सबसे अमीर कारोबारी गौतम अडानी के ग्रुप ने देश की दूसरी सबसे पुरानी मेंटेनेंस रिपेयर और ओवरहॉल कंपनी एयर वर्क्स का 400 करोड़ रुपये में खरीद लिया है. यह खरीद अडानी ग्रुप की कंपनी डिफेंस सिस्टम्स एंड टेक्नोलॉजीज लिमिटेड (ADSTL) ने किया है. अडानी ग्रुप सात हवाई अड्डों का संचालन करता है और इस हालिया अधिग्रहण इसे तीनों विमान रखरखाव वर्टिकल - एयरलाइन, बिजनेस जेट और डिफेंस में रखरखाव क्षमता प्रदान करेगा.

1951 में दो दोस्तों पीएस मेनन और बीजी मेनन द्वारा स्थापित, एयर वर्क्स की 27 शहरों में मौजूदगी है, जिसमें मुंबई, होसुर और कोच्चि में हैंगर शामिल हैं. देश का सबसे पुराना निजी मेंटनेंस मरम्मत और ओवरहाल (MRO) इंदामेर एविएशन 1947 में स्थापित किया गया था. एयर वर्क्स में छह निवेशक हैं और इसने 2007 में जीटीआई समूह और पुंज लॉयड से अपना पहला बाहरी वित्त पोषण प्राप्त किया था. मेनन सहित सभी मौजूदा निवेशक लेनदेन के बाद कंपनी से बाहर निकल जाएंगे.

क्या अपनी एयरलाइन लॉन्च करेंगे गौतम अडानी?

वैसे तो कंपनी ने इस बारे में कभी जिक्र नहीं किया है, लेकिन जितनी तेजी से एविएशन सेक्टर में वह निवेश कर रहे हैं, कयास लगने लगे हैं. वैसे भी आज के वक्त में एविशएन की दुनिया में बहुत ही लिमिटेड खिलाड़ी मौजूद हैं. अंबानी-अडानी जैसे अरबपति अभी तक इस बिजनेस से दूर हैं तो मुमकिन है कि आने वाले वक्त में यह लोग भी एविएशन में कूदें. वैसे भी गौतम अडानी तेजी से अपने बिजनेस का विस्तार करने में लगे हैं. हाल ही में वह सीमेंट बिजनेस में कूदे हैं और उनके टेलिकॉम सेक्टर में भी उतरने के अनुमान लगाए जा रहे हैं. खैर, ये देखना दिलचस्प होगा कि गौतम अडानी कब तक अपनी एयरलाइन लाते हैं, क्योंकि उनके पास एयरपोर्ट्स हैं ही, एयरलाइन एविएशन मेंटेनेंस की कंपनी भी ले ली, अब तक अडानी एविशन शुरू करने की देरी है.