अब इस कंपनी में भी Gautam Adani ने खरीदी बड़ी हिस्सेदारी, लिक्विड स्टोरेज के मामले में ये बनी नंबर वन

By Anuj Maurya
November 10, 2022, Updated on : Thu Nov 10 2022 06:11:11 GMT+0000
अब इस कंपनी में भी Gautam Adani ने खरीदी बड़ी हिस्सेदारी, लिक्विड स्टोरेज के मामले में ये बनी नंबर वन
गौतम अडानी तेजी से अपने बिजनस को फैला रहे हैं. अब उनकी कंपनी अडानी पोर्ट्स ने आईओटीएल में 49.38 फीसदी हिस्सेदारी खरीद ली है.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

अडानी ग्रुप (Adani Group) तेजी से अपने बिजनस को फैला रहा है. इसी बीच खबर आ रही है कि अडानी पोर्ट्स एंड स्पेशल इकनॉमिक जोन लि. (APSEZ) ने इंडियन ऑयलटैंकिंग लि. (Indian Oiltanking Ltd) यानी आईओटीएल (IOTL) में हिस्सेदारी ले ली है. अडानी पोर्ट्स (Adani Ports) ने इस कंपनी में करीब 49.38 फीसदी हिस्सेदारी खरीदी है. दोनों कंपनियों के बीच यह डील करीब 1050 करोड़ रुपये में हुई है.


इस डील के बाद अब अडानी पोर्ट्स भारत की सबसे बड़ी थर्ड पार्टी लिक्विड टैंक स्टोरेज कंपनी बन गई है. कंपनी के एक बयान के अनुसार अडानी पोर्ट्स ने इस समझौते के तहत आईओटी उत्कल एनर्जी सर्विसेज लि. में भी 10 फीसदी अतिरिक्त हिस्सेदारी खरीदी है. बता दें कि आईओटीएल की इस सब्सिडियरी कंपनी में कुल हिस्सेदारी करीब 71 फीसदी है.

68.5 फीसदी बढ़ा मुनाफा

अडानी ग्रुप (Adani Group) की कंपनी अडानी पोर्ट्स एंड स्पेशल इकनॉमिक जोन को इस साल की दूसरी तिमाही यानी जुलाई-सितंबर 2022 में 1677.48 करोड़ रुपये का कंसोलिडेटेड मुनाफा हुआ है. यह मुनाफा पिछले साल के मुकाबले 68.5 फीसदी अधिक है, जब कंपनी को 995.34 करोड़ रुपये का नेट प्रॉफिट हुआ था.

33 फीसदी बढ़ गया कंपनी का रेवेन्यू

अगर दूसरी तिमाही के नतीजों की बात करें तो कंपनी को जुलाई-सितंबर में 5210.80 करोड़ रुपये की इनकम हुई है. यह पिछले साल के मुकाबले 33 फीसदी अधिक है. पिछले साल कंपनी की आय 3992.85 करोड़ रुपये थी. अडानी पोर्ट्स एंड स्पेशल इकनॉमिक जोन के सीईओ करण अडानी के अनुसार इस वित्त वर्ष की पहली छमाही अडानी पोर्ट्स के इतिहास में रिकॉर्ड हाफ ईयर है. जुलाई-सितंबर में कंपनी की पोर्ट और SEZ एक्टिविटीज का रेवेन्यू बढ़कर 4609.29 करोड़ रुपये पहुंच गया. यह पिछले साल की समान अवधि के दौरान 3530.68 करोड़ रुपये था.

सीमेंट के दिग्गजों में हो चुके हैं शामिल

इस साल मई में अडानी समूह ने स्विटजरलैंड के होल्सिम लिमिटेड से अंबुजा सीमेंट्स लिमिटेड और एसीसी लिमिटेड को खरीद लिया था. हाल ही में यह डील पूरी हुई है, जो 10.5 अरब डॉलर (करीब 81,361 करोड़ रुपये) में हुई है. अडानी ग्रुप ने अंबुजा सीमेंट्स लिमिटेड (Ambuja Cements Ltd.) और उसकी सहायक एसीसी सीमेंट (ACC Cement) की 63.19 प्रतिशत हिस्सेदारी जबरदस्त बोली में हासिल की. इसी के साथ अडानी समूह अब भारत का दूसरे नंबर का सबसे बड़ा सीमेंट निर्माता बन गया है.

एयरक्राफ्ट मेंटेनेंस में भी रख चुके हैं कदम

एशिया के सबसे अमीर कारोबारी गौतम अडानी के ग्रुप ने देश की दूसरी सबसे पुरानी मेंटेनेंस रिपेयर और ओवरहॉल कंपनी एयर वर्क्स का 400 करोड़ रुपये में खरीद लिया है. यह खरीद अडानी ग्रुप की कंपनी डिफेंस सिस्टम्स एंड टेक्नोलॉजीज लिमिटेड (ADSTL) ने किया है. अडानी ग्रुप सात हवाई अड्डों का संचालन करता है और इस हालिया अधिग्रहण इसे तीनों विमान रखरखाव वर्टिकल - एयरलाइन, बिजनेस जेट और डिफेंस में रख-रखाव क्षमता प्रदान करेगा.