किसी दूसरे के लिए मुंबई की सड़कों पर पोहा-पराठा बेच रहा MBA पास यह कपल, इमोशनल करने वाली है वजह

  • +0
Share on
close
  • +0
Share on
close
Share on
close

गरीबी से निपटने में सरकार के साथ जुड़ने और बुनियादी स्वास्थ्य सेवाओं की पहुंच में कमी के चलते, कई लोग और गैर-सरकारी संगठन हाल के दिनों में इस मुद्दे को सुलझाने के लिए आगे आए हैं। अब मुंबई के इस एमबीए दंपति को ही ले लीजिए। एमबीए पास ये कपल मुंबई की सड़कों पर पोहा-पराठा बेच रहा है। हालांकि इसके पीछे की वजह बेहद इमोशनल करने वाली है।


1


एक बहुराष्ट्रीय कंपनी में काम करने वाले इस गुजराती दंपति ने दूसरों की मदद के लिए बेहद नेक काम किया है। दरअसल ये दंपति पोहा, उपमा, पराठे और इडली जैसे व्यंजन बेचने के लिए मुंबई के कांदवाली स्टेशन के बाहर हर सुबह 4 बजे से लेकर सुबह 10 बजे तक अपना भोजन स्टाल लगाता है। द लॉजिकल इंडियन के अनुसार, इस कियोस्क की स्थापना अश्विनी शेनॉय शाह और उनके पति ने की है। वे फूड स्टॉल इसलिए लगाते हैं ताकि वह अपनी 55 वर्षीय रसोइये महिला की मदद कर सके। महिला के पति पैरालाइज्ड हैं, जिसकी वजह से उसे घर-घर में खाना बनाना पड़ता है।


यह कपल अब सोशल मीडिया पर काफी तारीफें बटोर रहा है। दरअसल ये दंपति उस समय फेमस हुए जब एक फेसबुक यूजर दीपाली भाटिया ने इनके स्टॉल पर रुकर कुछ खाने के लिए ऑर्डर किया और जब उन्हें इनके बारे में पता चला तो उन्होंने अपने इस अनुभव को सोशल मीडिया पर शेयर किया।


उन्होंने अपनी पोस्ट में लिखा-


“मुंबई की भागती-दौड़ती दुनिया में, जहाँ हमारे पास रुकने और सोचने के लिए शायद ही कभी समय होता है, ऐसे में यहां दो सुपरहीरो हैं, जो किसी के लिए खुद से ज्यादा सोचते हैं… .. 2 अक्टूबर की सुबह हम अच्छे खाने की तलाश में कांदिवली स्टेशन के बाहर पहुंचे। हम एक छोटे से स्टॉल पर गए। यहां पोहा, उपमा, पराठे, इडली बिक रही थी। स्टॉल लगाने वाला कपल गुजराती परिवार से लग रहा था। कुछ खाने के बाद मैंने उनसे पूछा कि वे इस तरह सड़क पर फूड कैसे बेच रहे हैं? उसके बाद उन्होंने जो मुझे बताया उसे सुनकर मैं बेहद खुश हुई।"


दीपाली ने अपनी पोस्ट में आगे लिखा कि ये कपल बहुत अच्छे परिवार से है। दोनों एमबीए पास हैं और जॉब करते हैं। उन्होंने लिखा,


"ये कपल सुबह 4 बजे से 10 बजे तक यहां स्टॉल लगाता है। वो इसलिए कि उनके यहां जो खाना बनाने वाली अम्मा आती हैं वो 55 साल की हैं। पति लकवे के शिकार हैं और पैसों की कमी के चलते वो अपने पति का इलाज नहीं करा पा रही थीं। ऐसे में कपल ने उनकी मदद करने की सोची। वे यहां अम्मा के बनाए समान बेचते हैं। और इस पैसे से उनकी मदद करते हैं। 10 बजे स्टॉल हटाने के बाद वे अपने ऑफिस के लिए निकल जाते हैं।"


न्यूज 18 की रिपोर्ट के मुताबिक दीपाली की इस पोस्ट को अब तक 11,000 से अधिक लाइक्स मिले हैं और 4,800 से अधिक बार शेयर किया जा चुका है। लोगों ने उनकी पोस्ट पर कई कमेंट्स किए हैं जिसने सभी ने अश्विनी की सराहना की और कहा कि उनके इस "महान काम के लिए... सलाम है।"




  • +0
Share on
close
  • +0
Share on
close
Share on
close
Report an issue
Authors

Related Tags

Latest

Updates from around the world

Our Partner Events

Hustle across India