हैकर्स ने चुराए 824 करोड़ के Binance Coin, रूस में क्रिप्टो पेमेंट्स पर EU ने लगाया बैन

By रविकांत पारीक
October 07, 2022, Updated on : Fri Oct 07 2022 12:35:26 GMT+0000
हैकर्स ने चुराए 824 करोड़ के Binance Coin, रूस में क्रिप्टो पेमेंट्स पर EU ने लगाया बैन
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

हैकर्स ने ब्लॉकचेन और Binance को जोड़ने वाले ब्रिज पर सेंध लगाई और 10 करोड़ डॉलर (823.57 करोड़ रुपये) के बिनांसे कॉइन (Binance Coin) को चुरा लिया. दुनिया की सबसे बड़ी क्रिप्टो एक्सचेंज बिनांसे के को-फाउंडर चैंगपेंग सीजेड झाओ ने इस हैक की जानकारी ट्वीट कर दी है.


बिनांसे की ब्लॉकचेन बीएनबी चेन के प्रवक्ता के मुताबिक इस हैकिंग में 10 करोड़ डॉलर से 11 करोड़ डॉलर का डिजिटल टोकन शामिल है. हालांकि प्रवक्ता ने आगे कहा कि जितनी क्रिप्टोकॉइन चोरी हुई हैं, उसमें से कम से कम 70 लाख डॉलर को फ्रीज कर दिया गया है. इसके अलावा ब्लॉकचेन और क्रिप्टो एक्सचेंज के बीच के ब्रिज BSC Token Hub को बंद कर दिया गया है.


यह वर्ष 2022 क्रिप्टो मार्केट के लिए बहुत बुरा साबित हो रहा है. इस साल अब तक हैकिंग के चलते करीब 200 करोड़ डॉलर (16471.40 करोड़ रुपये) मूल्य के क्रिप्टो गुम हो गए. इसमें से अधिकतर घटनाओं के पीछे उत्तर कोरिया के कुछ लोगों का हाथ था. हैकर्स के निशाने पर सबसे अधिक एक ब्लॉकचेन से दूसरे ब्लॉकचेन पर टोकन ट्रांसफर करने के लिए इस्तेमाल होने वाला क्रॉस-चेन ब्रिज रहता है.

यूरोपियन यूनियन ने रूस में क्रिप्टो पेमेंट्स पर लगाया बैन

पिछले कई महीनों से चल रहे रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध के कारण बहुत से देशों पर असर पड़ रहा है. यूक्रेन पर हमला करने के कारण रूस पर बहुत से देशों ने प्रतिबंध भी लगाए हैं. यूरोपियन यूनियन (EU) ने भी इसी कड़ी में रूस से जुड़ी सभी क्रिप्टोकरेंसी ट्रांजैक्शंस पर पूरी तरह बैन लगा दिया है.


EU की ओर से की गई एक पोस्ट में बताया गया है, "क्रिप्टो एसेट्स पर मौजूदा बंदिशों को कड़ा किया गया है और रूस से जुड़े सभी क्रिप्टो वॉलेट्स, एकाउंट्स और कस्टडी सर्विसेज पर बैन लगाया गया है. इसके लिए रकम की कोई लिमिट नहीं होगी."


EU के रेगुलेटर्स का कहना है कि रूस के खिलाफ इन प्रतिबंधों का उद्देश्य रूस की सेना और इंडस्ट्री को महत्वपूर्ण कंपोनेंट्स की सप्लाई रोकना है. हाल ही में रूस की सरकार ने विदेश में पेमेंट्स के लिए वर्चुअल डिजिटल एसेट्स का इस्तेमाल करने की अनुमति दी थी. पिछले महीने रूस के डिप्टी फाइनेंस मिनिस्टर Alexei Moiseev ने कहा था कि सेंट्रल बैंक ने देश के लोगों को क्रिप्टोकरेंसीज का इस्तेमाल कर विदेश से पेमेंट्स लेने और भेजने की अनुमति पर सहमति दी है.


मार्केट कैप के हिसाब से सबसे बड़ी क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन की बात करें तो यह 20 हजार डॉलर के नीचे फिसल गया है. पिछले 24 घंटे में 0.96 फीसदी की गिरावट के साथ बिटकॉइन 19,988.74 डॉलर (16.45 लाख रुपये) के भाव पर मिल रहा है.


पूरे क्रिप्टो मार्केट की बात करें तो पिछले 24 घंटे में वैश्विक मार्केट कैप में 0.72% की गिरावट आई है और अब यह 95.86 हजार करोड़ डॉलर (78.90 लाख करोड़ रुपये) पर फिसल गया है.