वो दिग्गज जिन्होंने हिंदी को बनाया 'कूल'

By Rajat Pandey
September 14, 2022, Updated on : Wed Sep 14 2022 14:35:10 GMT+0000
वो दिग्गज जिन्होंने हिंदी को बनाया 'कूल'
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

आज 14 सितंबर को पूरा देश हिंदी दिवस (Hindi Diwas 2022) मना रहा है. आज का दिन हिंदी भाषा को समर्पित करने का कारण है ​कि 14 सितंबर 1949 को हिंदी को संविधान सभा द्वारा भारत की आधिकारिक भाषा का दर्जा मिला था. तब से इस दिन को हिंदी दिवस के तौर पर मनाया जाता है. 


बदलते दिनों के साथ हिंदी का स्वरुप भी बदलता जा रहा है. हिंदी दिन-प्रतिदिन ‘कूल’ बनती जा रही है. विदेशी लाइफस्टाइल ब्रांड्स अपनी टी-शर्ट्स पर अब हिंदी कोट्स प्रिंट करते हैं. बड़े-बड़े स्टैंडउप कॉमेडियन अपने शोज हिंदी में करने लगे हैं. इंग्लिश मूवीज के हिंदी रीमेक बनाये जा रहे हैं. IIT और IIM में हिंदी में स्पीचे दी जा रही हैं.आज हम बात करेंगे ऐसे लोगों की जिन्हीनें हिंदी को लोगों के लिए कूल बनाया है. 

अटल बिहारी वाजपेयी 

भारत के पूर्व प्रधानमंत्री Atal Bihari Vajpayee हिंदी के पुरजोर समर्थक थे. वाजपेयी अक्सर संसद में अपनी बात को हिंदी कविता के माध्यम से बड़ी खूबसूरती से कहा करते थे. वो चाहे अपने देश के मंच पर भाषण दे रहे हों या विदेशी धरती पर वो अपना उद्बोधन हिंदी में ही देते थे. अटल जी भारत के पहले प्रधानमंत्री थे जिन्होंने यूनाइटेड नेशन में अपना भाषण हिंदी में दिया था. इस भाषण के बाद तो जैसे सारे राजनेताओं ने इसी रास्त पर चलने कि ठानली. 

पीयूष पाण्डेय 

विज्ञापन जगत की मशहूर शख़्सियत Piyush Pandey को भला कौन नहीं जाता. 2014 के चुनाव में प्रधानमंत्री मोदी के जिस नारे ने पूरे हिंदुस्तान के लोगों के दिलों-दिमाक पर एक अलग छाप छोड़दी थी वो था - अबकी बार मोदी सरकार. इस कैंपेन के पीछे के मास्टरमाइंड थे पीयूष पाण्डेय.यही नहीं चल मेरी लूना,फेवीकोल,डेरी मिल्क से लेकर एशियन पेंट,वोडाफ़ोन के साथ-साथ और भी कई मशहूर कैंपेन को डिजाईन किया है पीयूष पाण्डेय ने.पीयूष पाण्डेय ने हिंदी भाषा में मशहूर कैंपेन डिजाईन कर हिंदी को विश्व के कोने-कोने तक पहुँचाया.

कपिल शर्मा 

मशहूर एक्टर और कॉमेडियन Kapil Sharma के शो को देखकर हर घर में हंसी के गुब्बारे फूटते हैं. कपिल शर्मा का हिंदी भाषी शो हिंदी की कूलनेस को घर-घर पहुंचा रहा है.बात चाहे शो में मौजूद ऑडियंस कि करें या घर में अपने-अपने घरों में बैठे दर्शकों की सभी हिंदी के इस कूल अंदाज़ का खूब लुत्फ़ उठाते हैं.

टेक्निकल गुरु जी  

Gaurav Chaudhary एक सिक्यूरिटी सिस्टम इंजिनियर है,वो अलग-अलग कंपनियों को सिक्यूरिटी इक्विपमेंट उपलब्ध करवाते है.वो दुबई में रहते हैं और Technical Guruji के नाम से एक YouTube चैनल चलाते हैं.गौरव के चैनल से 22.4 मिलियन लोग जुड़े हैं. गौरव इस चैनल पर नए-नए मोबाइल फ़ोन के फीचर के बारे में बड़ी ही आसान ‘हिंदी’ भाषा में बताते हैं.  

कुमार विश्वास 

इंजीनियरिंग कैंपस की फ्रेशेर्स और फेयरवेल में लम्बे समय तक गयी जाने वाली ये कविता - कोई दीवाना कहता है, कोई पागल समझता है भला कौन भूल सकता है. भारत के साथ-साथ विदेश में भी इस कविता का बहुत गुनगुनाया गया है. ये कविता लिखी है कुमार विश्वास ने. कुमार ने हिंदी कविताओं को गाकर देश और विदेश के मंचो पर खूब सुनाया. कुमार नई प्रतिभाओं को भी मौका देतें है कि वो अपनी भाषा में अपने हुनर को प्रदर्शित कर सकें.   

अमिताभ बच्चन 

बॉलीवुड इंडस्ट्री के महानायक Amitabh Bachchan अपनी फिल्म की स्क्रिप्ट हिंदी में ही लिखवाते हैं. उनका खासा लोकप्रिय टीवी शो ‘कौन बनेगा करोड़पति’ जिसकी टीआरपी बहुत हाई रहती है,वो भी हिंदी में ही बनाया गया. इस शो के कुछ डायलॉग तो इतने फेमस हुए कि हर घर में बोले जाने लगे.