Surf Excel ने एक साल में कर डाली 8200 करोड़ रुपये की कमाई, डिटर्जेंट मार्केट पर जमाया कब्जा

सर्फ एक्सेल के अलावा, एचयूएल के पास दो अन्य डिटर्जेंट केयर ब्रांड, रिन (Rin) और सनलाइट (Sunlight) भी हैं. कुल मिलाकर भारत के डिटर्जेंट बाजार में इनकी हिस्सेदारी 43 फीसदी है.

Surf Excel ने एक साल में कर डाली 8200 करोड़ रुपये की कमाई, डिटर्जेंट मार्केट पर जमाया कब्जा

Thursday February 16, 2023,

2 min Read

हिंदुस्तान यूनिलीवर Hindustan Unilever का डिटर्जेंट ब्रांड सर्फ एक्सेल (Surf Excel) पहला ऐसा भारतीय होम केयर और पर्सनल केयर ब्रांड बन गया है, जिसने सालाना बिक्री के मामले में साल 2022 में 8200 करोड़ रुपये (1 अरब डॉलर) का आंकड़ा पार कर लिया है.

इकॉनमिक टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, सर्फ एक्सेल, हिंदुस्तान यूनिलीवर (HUL) का भी पहला ऐसा ब्रांड है, जिसने इस मील के पत्थर को छुआ है.

HUL होम केयर के एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर दीपक सुब्रमण्यन के अनुसार, ऐसा इसलिए संभव हो पाया क्योंकि वह लिक्विड डिटर्जेंट्स और फैब्रिक कंडीशनर्स के सहारे इस सेगमेंट में प्रीमियम ब्रांड बन गया.

सुब्रमण्यन ने आगे कहा कि सर्फ एक्सेल को मील के पत्थर तक पहुंचने में मदद करने के लिए मार्केटिंग और इनोवेशन की बड़ी भूमिका थी.

HUL का दूसरा सबसे बड़ा ब्रांड ब्रूक बॉन्ड (Brook Bond) है, जिसकी सालाना बिक्री 5000 करोड़ रुपये की है. सर्फ एक्सेल के अलावा, एचयूएल के पास दो अन्य डिटर्जेंट केयर ब्रांड, रिन (Rin) और सनलाइट (Sunlight) भी हैं. कुल मिलाकर भारत के डिटर्जेंट बाजार में इनकी हिस्सेदारी 43 फीसदी है. पिछले एक दशक में यह HUL की सबसे अधिक हिस्सेदारी है.

इसके अलावा, खास तौर पर 10 रुपये के पैकेट बढ़ती बिक्री के कारण भारी महंगाई के बावजूद सर्फ एक्सेल की बिक्री में 32 प्रतिशत की वृद्धि हुई है.

बता दें कि, एचयूएल भारतीय बाजार में छह दशकों से अधिक समय से है. 1985 में निरमा (Nirma) इसे पीछे छोड़कर पहले स्थान पर काबिज हो गया था. इसके जवाब में, एचयूएल ने व्हील (Wheel) डिटर्जेंट लॉन्च किया. बाद में 2012 में घड़ी (Ghari) ने शीर्ष स्थान प्राप्त किया. हालांकि, पिछले तीन वर्षों से, सर्फ एक्सेल भारत में इस सेगमेंट लीडर रहा है.


Edited by Vishal Jaiswal