हाँगकाँग है दुनिया का सबसे महंगा शहर, सर्वे में मुंबई को मिला ये स्थान

  • +0
Share on
close
  • +0
Share on
close
Share on
close

हाल ही में 28 देशों को लेकर हुए सर्वे के आधार पर दुनिया के सबसे महंगे शहरों की एक नई सूची जारी हुई है। इस सूची के टॉप 5 शहरों में चार शहर एशिया से हैं, जबकि देश के सबसे महंगे शहर माने जाने वाले मुंबई को इस सूची में आखिरी स्थान मिला है।

हाँगकाँग ने इस सूची में टॉप किया है।

हाँगकाँग ने इस सूची में टॉप किया है। (चित्र: ट्वीटर)



बढ़ती महंगाई के साथ देश के मेट्रो शहरों में जीवनयापन और भी महंगा होता जा रहा है। दिल्ली, बेंगलुरु और मुंबई इस सूची में सबसे महंगे शहरों में आते हैं, हालांकि देश की आर्थिक राजधानी कहलाए जाने वाले शहर मुंबई को देश में सबसे महंगा शहर माना जाता है। हाल ही में हुए एक सर्वे में विश्वभर के सबसे महंगे शहरों की एक सूची तैयार की गई है, इस सर्वे में कुल 28 शहरों को लेकर किया गया था, जिसमें मुंबई भी शामिल है।


आपको भी यह जानकार आश्चर्य होगा कि इन महंगे शहरों की सूची में सबसे आखिरी में मुंबई का नाम आया है। भारत का सबसे महंगा शहर अगर इस सूची में आखिरी आता है, तो सबसे महंगे शहर कौन से हो सकते हैं?


स्विस बैंक जूलियस बेयर के अनुसार इस सर्वे के लिए कई मानक तय किए गए थे, जिनमे लग्ज़री से जुड़ी सुविधाओं को ध्यान में रखा गया था। हाँगकाँग ने इस सूची में टॉप किया है, वहीं इस सूची में टॉप 5 में आने वाले शहरों में 4 शहर एशियाई है, इन में शंघाई, टोक्यो और सिंगापुर शामिल हैं।

इन मानकों पर सूची हुई तैयार

इस सूची को तैयार करने में जिन मानकों को आधार बनाया गया है, उनमें प्रॉपर्टी, बिजनेस क्लास फ्लाइट, कार, व्हिस्की, महिलाओं के पर्स, वकीलों की फीस और लेजर द्वारा आँखों की सर्जरी को शामिल किया गया है।


रिपोर्ट के अनुसार इस सूची में एशिया विश्व का सबसे महंगा क्षेत्र बनकर सामने आया है। उत्पाद और सेवाओं की बात करें तो एशिया से हाँगकाँग ने इस सूची में पहले स्थान पर कब्जा किया है। गौरतलब है कि 2019 में हाँगकाँग में प्रॉपर्टी के दाम जरूर गिरे थे, लेकिन अन्य लग्जरी उत्पादों की कीमतों ने हाँगकाँग को इस सूची में पहले स्थान पर जगह दिलाने में मदद की है।

एशिया ने किया टॉप

एशिया के अन्य शहरों में हाँगकाँग के बाद शंघाई और टोक्यो का नाम है, इन शहरों ने दूसरे और तीसरे स्थान पर अपना कब्जा जमाया है। एशियाई शहरों कि सूची यहीं नहीं थमी है, बल्कि सिंगापुर ने पांचवे स्थान पर, ताइपे आठवें स्थान पर तो वहीं बैंकॉक ने 11वें स्थान पर अपनी जगह बनाई है।


इस सूची में 28 शहरों को शामिल किया गया था, जिसमें एशिया की तरफ से सबसे आखिरी स्थान मुंबई ने हासिल किया है, इन सभी शहरों की तुलना में मुंबई में रहना-खाना और अन्य लग्ज़री काफी सस्ती है।


mumbai

देश का सबसे महंगा शहर मुंबई इस सूची में आखिरी स्थान पर है। (चित्र: इंटरनेट)



खाने के मामले में पेरिस को सबसे महंगे शहर का दर्जा हासिल हुआ है, इसी के साथ पेरिस ने इस सूची में 12वें स्थान पर अपनी जगह बनाई है। यूरोप की बात करें तो पेरिस को इस सूची में शामिल अन्य यूरोपीय शहरों जैसे लंदन, ज्यूरिख और मोनाको के बाद इस सूची में जगह मिली है। सूची में लंदन सातवें स्थान पर, ज्यूरिख नवें स्थान पर तो मोनाको को दसवां स्थान हासिल हुआ है।



मोनाको में जमीन सबसे महंगी

रियल इस्टेट कीमतों की बात करें तो मोनाको ने इस सूची में पहले स्थान पर कब्जा किया है। मोनाको में आपको जमीन खरीदना कितना महंगा पड़ सकता है, इस बात का अंदाजा आप इस बात से भी लगा सकते हैं कि वहाँ पर 16 वर्ग मीटर जमीन खरीदने के लिए आपको 1 मिलियन डॉलर यानी करीब 7 करोड़ रुपये खर्च करने पड़ेंगे।


मोनाको

मोनाको शहर में जमीन खरीदना है सबसे महंगा। (चित्र: विकिपीडिया)



अमेरिका की बात करें तो इस सूची में 3 अमेरिकी शहरों ने ही अपनी जगह बनाई है। सूची में न्यूयॉर्क चौथे स्थान पर, लॉस एंजिल्स छठवें स्थान पर और मियामी 13वें स्थान पर काबिज है।


महाद्वीप के अन्य शहरों में मेक्सिको सिटी 18वें और रियो डि जनेरो 16वें स्थान पर शामिल है, इस शहरों में होटल सुइट्स की कीमतें इस सूची में शामिल अन्य शहरों की तुलना में कम पाई गईं हैं। अमेरिकी महाद्वीप की बात करें तो वैंकूवर के साथ कनाडा इस सूची में सबसे सस्ता शहर बनकर सामने आया है। कनाडा को इस सूची में 21वां स्थान मिला है।



  • +0
Share on
close
  • +0
Share on
close
Share on
close
Report an issue
Authors

Related Tags

Latest

Updates from around the world

Our Partner Events

Hustle across India