नौकरी और घर के काम के बीच समय निकालकर कंटेंट बनाती थीं शिवानी, आज हैं लाखों फॉलोअर्स की चहेती

By Upasana
December 28, 2022, Updated on : Wed Dec 28 2022 05:18:50 GMT+0000
नौकरी और घर के काम के बीच समय निकालकर कंटेंट बनाती थीं शिवानी, आज हैं लाखों फॉलोअर्स की चहेती
शिवानी कपिला LittleGlove नाम से अपना यूट्यूब चैनल चलाती हैं, उनके 9.49 मिलियन सब्सक्राइबर्स हैं, जबकि इंस्टाग्राम पर 1.4 मिलियन फॉलोअर्स हैं. शिवानी कंटेंट क्रिएटर बनने से पहले एक कंपनी में BHR के पोस्ट पर काम करती थीं.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

कंटेंट क्रिएशन की दुनिया क्रिएटर्स से भर चुकी है. ये मार्केट इतना बड़ा है कि हर क्रिएटर इसमें अपनी जगह बना सकता है. सबसे बड़ी बात जो कंटेंट क्रिएशन के काम में क्रिएटर्स का दिल जीतती है वो अपना पैशन फॉलो करने का मौका.


कितने ही ऐसे क्रिएटर हैं जिन्होंने नौकरी छोड़कर कंटेंट बनाने का फैसला किया क्योंकि उन्हें अपना पैशन फॉलो करने का मौका मिल रहा है. ऐसी ही एक क्रिएटर हैं शिवानी कपिला.


शिवानी कपिला LittleGlove नाम से अपना यूट्यूब चैनल चलाती हैं, उनके 9.49 मिलियन सब्सक्राइबर्स हैं, जबकि इंस्टाग्राम पर 1.4 मिलियन फॉलोअर्स हैं. आइए जानते हैं शिवानी के कंटेंट क्रिएशन के सफर के बारे में………………


रांची की रहने वाली शिवानी ने दिल्ली यूनिवर्सिटी से अपनी पढ़ाई की है. उनके पास एमबीए की डिग्री भी है. कॉलेज के बाद उन्होंने BHR के तौर पर करियर की शुरुआत की थी.


शिवानी अपने कंटेंट क्रिएशन के सफर की शुरुआत पर बात करते हुए बताती हैं कि एक बार मैं किसी फेस्ट में गई थी जहां मैंने पहली बार सोशल मीडिया कंटेंट क्रिएटर्स को देखा.


उन्हें फैन्स से जो प्यार और सराहना मिल रही थी उसने मुझे बिल्कुल हैरान कर दिया था. मैंने सोचा आखिर ये लोग भी तो मेरी ही तरह सामान्य लोग हैं. बस इसी से मुझे प्रेरणा मिली और मैंने कंटेंट बनाना शुरू कर दिया.


शिवानी बताती हैं कि तब मैं कंटेंट क्रिएशन की एबीसीडी भी नहीं जानती थी, कौन सा कंटेंट काम करता है और कौन सा नहीं. हैशटैग कैसे काम करता है मुझे ये समझने में तीन महीने लग गए. 


लेकिन मुझे कंटेंट बनाने में इतना मजा आ रहा था कि कुछ नहीं आने के बाद भी मैंने वीडियो बनाना जारी रखा और साथ में सीखती गई.


इस सफर का हर एक कदम चुनौती भरा था. पहले परिवार को नौकरी करने के लिए राजी किया. नौकरी से वापस लौटकर तीन घंटे कंटेंट क्रिएशन को देती थी बाकी समय में घर के काम करती. मैं मुश्किल से दो घंटे सोती थी.


मैं शादीशुदा थी इसलिए जिम्मेदारियां भी थीं, लेकिन मैंने कंटेंट बनाना बंद नहीं किया क्योंकि मुझे इतना मालूम पड़ गया था कि लोग मेरे काम को सराह रहे हैं. मुझे मेरे काम के लिए प्यार और इज्जत दोनों मिल रही है.


मेरे पास कोई इक्विपमेंट नहीं था इसलिए सुबह-सुबह सूरज की रोशनी में वीडियो शूट किया करती थी. मुझे पुराने दिन याद करके बड़ी खुशी होती है और खुद पर गर्व भी होता है.


इस पूरे सफर में मेरी सास और पति ने मेरा काफी साथ दिया. मेरी सास ने मुझे अपने दिल की सुनने को कहा. उसी का नतीजा था कि आलोचना के बावजूद मैंने बिना हिचके अपनी नौकरी छोड़ दी. आज मैं जो कुछ भी हूं उनकी वजह से ही हूं.


शिवानी अपने चैनल पर एंटरटेनमेंट वाले फनी विडियोज बनाती हैं. वो बताती हैं कि जब कंटेंट बनाना शुरू किया था तब मुझे इसका बिल्कुल अंदाजा नहीं था कि इससे कमाई भी हो सकती है.


लेकिन 8 महीनों के बाद मुझे कंटेंट क्रिएशन के लिए पैसे मिलने लग गए. पहला चेक 5000 रुपये का मिला था. शुरुआती समय में 15 सेकंड के वीडियो के बदले 5000 रुपये मिलना काफी मोटिवेटिंग था. इस तरह एक इंफ्लुएंसर की तरह मेरा सफर शुरू हुआ.


जब मेरे कंटेंट के बदले मुझे पैसे मिलने लगे तब मैंने इसे और गंभीरता से लेना शुरू कर दिया. यहीं पर मेरी एमबीए की पढ़ाई काम आई और मैंने कंटेंट क्रिएशन के लिए बिजनेस मॉडल तैयार किया. आज मैं ना सिर्फ एक क्रिएटर हूं बल्कि सूरत में मेरा खुद का एक स्टूडियो भी है.


व्यूअर के पास हमेशा कई अकाउंट देखने और उनके कंटेंट फॉलो करने का विकल्प होता है. इसलिए आपको ये समझना जरूरी है कि आपका कॉम्पिटीशन खुद आपसे और आपके काम से है.


मुझे कंटेंट बनाते हुए 3 साल हो गए हैं. मैंने आज तक कोई एक कंटेंट दोहराया नहीं है, हमेशा शेड्यूल के हिसाब से पोस्टिंग की है और कंटेंट ईकोसिस्टम में जो भी बदलाव होते रहे हैं उनके हिसाब से अपने काम को ढालते गई हूं. मैं अपने ही बनाए बेंचमार्क के ऊपर जाना चाहती हूं और उसमें सुधार लाना चाहती हूं.


मैंने जब कंटेंट क्रिएशन शुरू किया था तब मुझे गाइड करने वाला कोई नहीं था. लेकिन मैं नए लोगों को वो सब बताना चाहती हूं जो मैंने अपने सफर में सीखा है. एक आंत्रप्रेन्योर के तौर पर मेरा ध्यान "The LittleGlove Studio को ग्रो कराने पर भी है. आगे जाकर इसे और बड़ा करना ही मेरी मकसद है.


अगर आप भी एक कंटेंट क्रिएटर बनकर सफल होना चाहते हैं तो आपको तीन चीजों पर ध्यान देना होगा- बी यूनिक (जरा हटकर कंटेंट बनाएं), बी कंसिस्टेंट (निरंतरता रखें), बी पेशेंट (धैर्य रखें). इस "UCP," को अगर आप सच्चे दिल से फॉलो करेंगे तो यकीनन आपको सफल होने से कोई नहीं रोक सकता है.

Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close