कैसे क्रिप्टो में निवेश को आसान बना रहा है Vested Finance ?

Vested Finance क्रिप्टोकरंसी की सीधी खरीद के बिना क्रिप्टोकरंसी तक पहुंच आसान बनाता है. क्रिप्टो लाभ पर 30% टैक्स और नए नियमों के अनुसार 1% TDS की तुलना में निवेशकों को LRS के तहत टैक्स लगाया जाना है.

कैसे क्रिप्टो में निवेश को आसान बना रहा है Vested Finance ?

Thursday June 09, 2022,

3 min Read

Vested Finance ने Grayscale Investments द्वारा पेश की गई क्रिप्टोकरेंसी-समर्थित सिक्योरिटीज को प्लेटफॉर्म पर अपने प्रीमियम ऑफर में जोड़ा है. Vested Finance एक इन्वेस्टमेंट प्लेटफॉर्म है जो भारतीय निवेशकों को अमेरिकी शेयर बाजार में निवेश करने में सक्षम बनाता है. इसका मुख्याल्य कैलिफोर्निया में है.

Grayscale द्वारा दी जाने वाली सिक्योरिटीज में निवेश करके, भारतीय निवेशक बिटकॉइन, एथेरियम और दूसरी क्रिप्टोकरेंसी के लिए बिना किसी क्रिप्टोकरेंसी को खरीदे प्रत्यक्ष रूप से निवेश कर सकते हैं.

इसके जरिए निवेश अमेरिकी इक्विटी में निवेश के समान पूंजीगत लाभ के अंतर्गत आता है और क्रिप्टो लाभ पर 30% टैक्स और बजट 2022 में पेश किए गए प्रत्येक ट्रांजेक्शन पर 1% TDS के अधीन नहीं है.

how-vested-finance-making-investing-in-crypto-easy-grayscale-investments

सांकेतिक चित्र

Grayscale अप्रैल 2022 तक 40 बिलियन डॉलर AUM (Assets under management) के साथ दुनिया का सबसे बड़ा डिजिटल करेंसी असेट मैनेजर है. Grayscale सिक्योरिटीज का कारोबार ओवर-द-काउंटर (OTC) बाजारों में किया जाता है.

Vested Finance के जरिए, भारतीय निवेशक इन Grayscale सिक्योरिटीज में निवेश कर सकते हैं:

  • Grayscale Bitcoin Trust (GBTC)
  • Grayscale Ethereum Trust (ETHE)
  • Grayscale Litecoin Trust (LTCN)
  • Grayscale Ethereum Classic Trust (ETCG)
  • Grayscale Bitcoin Cash Trust (BCHG)

निवेशकों के पास Grayscale Digital Large Cap Fund (GDLC) में निवेश करने का विकल्प भी है, यदि वे एक ही फंड के माध्यम से लार्ज-कैप डिजिटल असेट्स में निवेश करना चाहते हैं. जबकि फंड का लगभग 90% वर्तमान में बिटकॉइन (Bitcoin) और एथेरियम (Ethereum) में निवेश किया गया है. इसमें Litecoin, Solana, Cardano, Avalanche और दूसरी करेंसी का भी निवेश है.

Grayscale द्वारा दी जाने वाली सिक्योरिटीज में निवेश पर भारत में 30% क्रिप्टो टैक्स और प्रत्येक ट्रांजेक्शन पर 1% टीडीएस नहीं लगेगा. इसके बजाय, इस पर अमेरिकी बाजार के अनुसार टैक्स लगेगा. शॉर्ट टर्म कैपिटल गेन्स (यदि कोई निवेश 36 महीने से कम समय के लिए रखा गया है) पर व्यक्ति के टैक्स स्लैब के अनुसार टैक्स लगेगा. लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन्स (यदि निवेश 36 महीने से अधिक के लिए रखा जाता है) पर इंडेक्सेशन लाभ के साथ 20% टैक्स लगाया जाएगा.

इसके अतिरिक्त, निवेशकों को अपनी क्रिप्टो असेट की सुरक्षा के बारे में चिंता करने की आवश्यकता नहीं होगी क्योंकि यह काम Grayscale करता है.

Vested पर Grayscale प्रोडक्ट्स के लॉन्च के बारे में बोलते हुए, Vested Finance के को-फाउंडर और सीईओ, वीरम शाह ने कहा, “Vested Finance में, यह हमेशा हमारा लक्ष्य रहा है कि हम अपने निवेशकों को सबसे ग्लोबल मार्केट के लेटेस्ट प्रोडक्ट्स तक पहुंच प्रदान करें. क्रिप्टोकरंसी पर टैक्स ने क्रिप्टो में निवेश को भारतीय निवेशकों के लिए कम आकर्षक बना दिया है. Grayscale के जरिए, निवेशक स्टॉक में निवेश करके क्रिप्टो के संपर्क में आ सकते हैं और साथ ही उच्च कराधान (high taxation) के अधीन नहीं हो सकते हैं. साथ ही, उन्हें अपनी क्रिप्टो होल्डिंग्स की सुरक्षा के बारे में चिंता करने की आवश्यकता नहीं है. यह निवेशकों को अधिक विकल्प देता है, क्योंकि अब उनके पास अपने पोर्टफोलियो में क्रिप्टो एक्सपोजर जोड़ने का एक वैकल्पिक तरीका होगा."


निवेशकों को ध्यान देना चाहिए कि सभी प्रकार के निवेश में जोखिम होता है और पिछला प्रदर्शन भविष्य के रिटर्न का संकेत नहीं है, साथ ही, यह सलाह दी जाती है कि आप निवेश का निर्णय लेने से पहले टैक्स एडवाइजर से परामर्श जरूर लें.