मॉडल थिएटर पॉलिसी ला रही सरकार, क्या सस्ते होंगे टिकट के दाम?

By Upasana
September 28, 2022, Updated on : Wed Sep 28 2022 19:10:48 GMT+0000
मॉडल थिएटर पॉलिसी ला रही सरकार, क्या सस्ते होंगे टिकट के दाम?
देश में बंद होने वाले थिएटरों की बढ़ती संख्या के ट्रेंड को पलटने के लिए मिनिस्ट्री ऑफ इन्फॉर्मेशन एंड ब्रॉडकास्टिंग जल्द ही मॉडल थिएटर पॉलिसी और सिंगल विंडो मेकैनिजम पर काम कर रही है.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

कोविड के बाद से लोग अब थिएटर जाने की बजाए अपने फोन या स्मार्ट टीवी में ही फिल्में देखना पसंद कर रहे हैं. ये स्थिति सिनेप्लेक्स और मल्टीप्लेक्स कंपनियों के कारोबार के लिए मुश्किल होते जा रही है. इससे निपटने के लिए मिनिस्ट्री ऑफ इंफॉर्मेशन एंड ब्रॉडकास्टिंग जल्द ही थिएटर्स के लिए मॉडल थिएटर पॉलिसी और सिंगल विंडो मेकैनिज्म पेश करने जा रही है.


देश भर में बंद होने वाले थिएटरों की बढ़ती संख्या को देखते हुए यह कदम उठाया जा रहा है. इंफॉर्मेशन एंड ब्रॉडकास्टिंग सचिव अपूर्व चंद्रा ने मंगलवार को कहा कि सरकार मॉडल थिएटर पॉलिसी तैयार करने के लिए राज्यों के साथ मिलकर काम करेगी.


उन्होंने FICCI फ्रेम्स फास्ट ट्रैक 2022 में एक सत्र में कहा, पिछले 5-6 सालों में थिएटरों की संख्या में लगातार गिरावट आई है. हमें इस ट्रेंड को पलटना होगा. फिल्म फैसिलिटेशन ऑफिस और इनवेस्ट इंडिया मिलकर थिएटर्स खोलने के सिलसिले में एक सिंगल विंड पोर्टल लाएंगे. ताकि, लोगों के पास फिल्में देखने के लिए अधिक से अधिक थिएटर्स का विकल्प हो और वो उच्च स्तर का अनुभव ले सकें.


मालूम हो कि एक दिन पहले ही PVR ने भी ऐलान किया था कि वो FY23 में 100 थिएटर खोलने के लिए 350  करोड़ रुपये का निवेश करेगी. पीवीआर के चीफ एग्जिक्यूटिव गौतम दत्ता ने कहा था कि यह विस्तार खासकर उन क्षेत्रों में होगा जहां पर उसकी उपस्थिति कम है. ऐसे 60 फीसदी इलाके पुराने क्षेत्रों में हैं. उनके हिसाब से कंपनी का टारगेट खासतौर पर राउरकेला, देहरादून, वापी, चेन्नै, कोयंबटूर, तिरुवनंतपुरम और अहमदाबाद जैसी जगहों पर होगा.


कोविड महामारी की वजह से लोगों के कंटेंट देखने के पैटर्न में बदलाव दिखा है. सचिव अपूर्व चंद्र का कहना है कि जब तीन दिन पहले टिकट की कीमतें घटाकर 75 रुपये पर लाई गईं तो सभी शो फुल नजर आए. ये दिखाता है कि अगर टिकट के दाम सही हों तो थिएटरों भीड़ जरूर लगेगी. लोगों के अंदर थिएटर जाने की चाह है बस हमें ये देखना है कि हमें उन्हें वापस थिएटर में कैसे ला सकते हैं.


अगर इन ऐलानों को देखा जाए तो कहा जा सकता है कि आने वाले दिनों में विशेष रूप से टियर 2 टियर 3 में थिएटरों की संख्या बढ़ सकती है. चंद्रा ने आगे ये भी कहा कि मीडिया और एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री 2030 तक 100 अरब डॉलर से ऊपर की इंडस्ट्री बन जाएगी.


उन्होंने कहा कि एनिमेशन, विजुअल इफेक्ट्स, गेमिंग और कॉमिक्स (AVGC) प्रमोशन टास्क फोर्स अगले 15 दिनों में अपनी रिपोर्ट जमा कर देगी. हम सब टास्क फोर्स की रिपोर्टों से नतीजे तैयार कर रहे हैं. उसके बाद सुझावों को जमा करेंगे और फिर उन्हें अपनाने पर काम किया जाएगा. 


Edited by Upasana

Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close