Brands
YSTV
Discover
Events
Newsletter
More

Follow Us

twitterfacebookinstagramyoutube
Yourstory

Brands

Resources

Stories

General

In-Depth

Announcement

Reports

News

Funding

Startup Sectors

Women in tech

Sportstech

Agritech

E-Commerce

Education

Lifestyle

Entertainment

Art & Culture

Travel & Leisure

Curtain Raiser

Wine and Food

Videos

ys-analytics
ADVERTISEMENT
Advertise with us

IIT और IIM से पढ़ाई करने वाले शख्स ने शुरू किया ऑर्गैनिक बटर का बिजनेस

IIT और IIM से पढ़ाई करने वाले शख्स ने शुरू किया ऑर्गैनिक बटर का बिजनेस

Tuesday June 11, 2019 , 5 min Read

jitin and shilpa

जितिन और शिल्पा

सोचिये आप खाने पीने का सामान लेने के लिए किसी सुपरमार्केट या स्टोर में जाते हैं और वहां से सामान उठाना शुरू करते हैं। लेकिन आप देखते हैं कि हर एक प्रॉडक्ट के साथ कुछ न कुछ दिक्कतें जरूर होती हैं। अगर स्वास्थ्यकर होता है तो सस्ता नहीं होता। अगर सस्ता होता है तो पौष्टिक नहीं होता अगर पौष्टिक है तो स्वादिष्ट नहीं है। इन सब से आगे बढ़कर आपको कोई ऐसा सामान मिल जाता है जिसमें ये सारी चीजें हैं, लेकिन फिर आप देखते हैं कि उसमें ऐसी चीजें हैं जिनसे आपको एलर्जी है। इस समस्या का समाधान कैसे हो, इसके लिए बेंगलुरु में "जस' अमेजिन" (Jus’ Amazin) नाम के स्टार्टअप की शुरुआत हुई है।


इस स्टार्टअप ने शाकाहारी, ऑर्गैनिक, सोय फ्री, डेयरी फ्री और ग्लूटन फ्री नट्स और सीड बटर की लंबी श्रृंखला पेश की है जो स्वास्थ्य के लिए अच्छा होने के साथ ही स्वादिष्ट भी है। इसके साथ ही यह स्टार्टअप अपने प्रॉडक्ट्स को कई फ्लेवर्स में उपलब्ध करा रहा है ताकि उपभोक्ताओं की जरूरतें आसानी से पूरी हो सकें।


इस कंपनी की शुरुआत दो साल पहले जितिन मुंजाल और उनकी पत्नी शिल्पा मोगिलिशेट्टी ने की थी। जितिन ने पहले आईआईटी दिल्ली और आईआईएम अहमदाबाद से पढ़ाई की और फिर लंदन स्कूल ऑफ इकॉनोमिक्स से डिग्री ली। उनके पास बिजनेस मैनेजमेंट, मार्केटिंग और प्रॉडक्ट डेवलपमेंट का 20 साल के अधिक का अनुभव है। वहीं शिल्पा ने यूनिवर्सिटी ऑफ ससेक्स से एंथ्रोपोलॉजी में मास्टर्स किया है। वे सोशल डेवलपमेंट सेक्टर में काफी समय तक रही हैं और कॉर्पोरेट के लिए काम किया है।





जितिन और शिल्पा के बच्चे को सोय और डेयरी के उत्पादों से एलर्जी है। जब वे एलर्जी रहित उत्पादों को खोजने के लिए मार्केट निकलते थे तो उन्हें निराशा हाथ लगती। यहीं से उन्हें स्टार्टअप शुरू करने का आइडिया आया। जितिन बताते हैं, 'जब हम मार्केट में घूम रहे थए तो हमें मालूम चला कि अलग-अलग लोगों के लिए पौष्टिक उत्पादों के विकल्पों की भारी कमी है। ऐसे विकल्प तो बिल्कुल कम थे जिसमें डेयरी, सोय या ग्लूटन न मिला हो। जिनमें ये सब नहीं मिला होता था वो स्वाद में अच्छे नहीं थे।'


इस वजह से उन्हें ऐसे प्रॉडक्ट्स खुद तैयार करने का विचार आया जो 100 प्रतिशत ऑर्गैनिक हों और उन्हें ऐसे लोगों के लिए बनाया जा सके जिन्हें कई प्रकार की एलर्जी होती हैं। हालांकि शुरुआत में कंपनी को असफलताओं का सामना करना पड़ा। कंपनी में काम करने के लिए सही लोग नहीं मिल रहे थे। जितिन बताते हैं, 'हमने नए ग्रैजुएट्स की भर्ती की क्योंकि उनके भीतर कुछछ सीखने का जुनून था और वे तेजी से बदलते हुए माहौल में खुद को ढालने में सक्षम थे।' 


साथ ही रिटेल स्टोर्स और मार्केट में प्रॉडक्ट को उतारना एक मुश्किल काम था। इसके लिए उन्हें मार्केट में सही संपर्क स्थापित करने थे। सके लिए उन्होंने अपनी मशीनों को और हाईटेक बनाया ताकि प्रॉडक्ट्स को ज्यादा दिनों तक सहेज कर रखा जा सके।


just amazin

ऑर्गैनिक बटर

Jus’ Amazin के प्रॉडक्ट्स की बात करें तो इसमें तीन तरह के बादाम बटर हैं, दो काजू बटर हैं और पीनट बटर के चार वैरिएंट्स हैं। साथ ही कंपनी तरबूज, कद्दू, सूरजमुखी और अलसी के बीजों से बने बटर भी तैयार करती है। इसे तैयार करने में लगने वाली सारी सामग्री भारत में प्रमाणित जैविक उत्पाद कंपनियों से खरीदी जाती है। जितिन कहते हैं कि हम किसी भी केमिकल, प्रसंस्कृत वसा, कृत्रिम स्वाद या एडिटिव्स का उपयोग नहीं करते हैं। उनका मानना है कि हमारे खाने में किसी भी तरह के कृत्रिम रसायन नहीं होना चाहिए।


जितिन कहते हैं, 'हम स्वाद पर काफी ध्यान देते हैं। हमारा मानना है कि कोई भी उत्पाद स्वादिष्ट होना ताहिए जिससे कि लोगों को खाने में मजा आए। ये बटर 125 और 200 ग्राम के पैक में उपलब्ध हैं और उनकी कीमत 150 से 500 रुपये के बीच में है। वर्तमान में मैन्युफैक्चरिंग और मार्केटिंग दोनों Jus’ Amazin के द्वारा की जा रही है। हमारी टीम में 15 लोग काम कर रहे हैं।'


Jus’ Amazin के प्रॉडक्ट्स बेंगलुरु, दिल्ली-एनसीआर, चेन्नई, हैदराबाद, मुंबई और गोवा में फूडहॉल, स्पर, ले मार्चे, मॉडर्न बाज़ार और लॉयल वर्ल्ड जैसे स्टोर्स में उपलब्ध हैं। इसके अलावा, बिगबॉस्केट, अमेज़ॅन और हेल्थकार्ट सहित 20 ई-कॉमर्स प्लेटफार्मों पर ये प्रॉडक्ट्स उपलब्ध हैं। ग्राहकों को सीधे सामान बेचने के अलावा ताज ग्रुप और शेरटन जैसे बड़े होटलों में भी Jus’ Amazin के प्रॉडक्ट की सप्लाई होती है।





जितिन कहते हैं, 'हमारे पास इतने सारे फ्लेवर्स हैं कि शेफ को शाकाहारी खाना बनाने में काफी आसानी हो जाती है।' यह स्टार्टअप ऑर्गैनिक प्रॉडक्ट्स तैयार करता है और इसकी वृद्धि भी ऑर्गैनिक तरीके से हुई। जितिन ने इसे खुद के पैसों से शुरू किया था। एक साल बाद इसे एंजेल इन्वेस्टर्स से फंडिंग मिली। एक कमरे से शुरू हुआ Jus’ Amazin ऑफलाइन व ऑनलाइन दोनों तरीकों से मार्केट पर अपना फोकस कर रहा है। कंपनी ने अपने रेवेन्यू में हर महीने 15 से 20 फीसदी वृद्धि देखी है। Jus’ Amazin के मुकाबले में एल्पिनो, हैपी जार्स और द बटरनट जैसे प्रॉडक्ट बाजार में हैं।


अनुमान लगाया जा रहा है कि भारतीय खुदरा बाजार 2017 में $ 840 बिलियन से बढ़कर 2020 तक $ 1.1 ट्रिलियन हो जाएगा। Jus’ Amazin इस वृद्धि के साथ आगे बढ़ना चाहता है। अगले 6 महीने में कंपनी कई नए प्रॉडक्ट लॉन्च करने की योजना में है। इस साल के अंत तक कुछ फंडिंग भी जुटाने की योजना है। भारतीय खाद्य बाजार में वृद्धि की काफी संभावनाएं हैं। शायद तभी हाल ही में मैट्रिक्स पार्टनर्स ने फूड बेवररेज कंपनी में 5.6 करोड़ रुपये का निवेश किया है। वहीं स्विगी ने फिंगरलिक्स में 31 करोड़ रुपये का निवेश किया है।