IIT दिल्ली, IISc बेंगलुरु ने Times की वैश्विक रोजगार रैंकिंग में बनाई जगह, भारत के कुल 7 संस्थान शामिल

By Vishal Jaiswal
November 24, 2022, Updated on : Thu Nov 24 2022 05:36:55 GMT+0000
IIT दिल्ली, IISc बेंगलुरु ने Times की वैश्विक रोजगार रैंकिंग में बनाई जगह, भारत के कुल 7 संस्थान शामिल
विश्व स्तर पर, पिछले साल की तरह ही मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (MIT) ने इस वर्ष की रैंकिंग में शीर्ष रैंक हासिल की. MIT के बाद कैलिफोर्निया इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी और हार्वर्ड यूनिवर्सिटी दूसरे और तीसरे स्थान पर रहे. इन तीन संस्थानों ने लगातार दूसरी बार इसी क्रम में शीर्ष तीन रैंक हासिल
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

टाइम्स उच्च शिक्षा (Times Higher Education) की रोजगार नियोजन की वैश्विक विश्वविद्यालयों की रैकिंग में शीर्ष 50 संस्थानों की सूची में भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) दिल्ली एकमात्र भारतीय शैक्षणिक संस्थान है, जिसे स्थान हासिल हुआ है. वैश्विक रोजगार नियोजन विश्वविद्यालय रैंकिंग एवं सर्वेक्षण (जीईयूआरएस) में रोजगार योग्य स्नातक तैयार करने वाले 250 विश्वविद्यालयों का उल्लेख है.


इस सूची में भारतीय संस्थानों में आईआईटी-दिल्ली ने 29वां स्थान हासिल किया है जबकि बेंगलुरू स्थित इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस (आईआईएससी) को 58वां स्थान मिला और उसने तीन स्थानों का सुधार दर्ज किया. इसके बाद आईआईटी बाम्बे को 72वां स्थान मिला जिसे वर्ष 2021 में 97वां स्थान मिला था.


इस रैकिंग में शीर्ष 200 संस्थानों में पांच भारतीय संस्थानों ने स्थान हासिल किया और शीर्ष 250 संस्थानों में सात भारतीय संस्थानों ने अपना नाम दर्ज कराया . इसमें आईआईएम अहमदाबाद को 154वां स्थान और आईआईटी खडगपुर को 155वां स्थान मिला . इस रैकिंग में एमिटी विश्वविद्यालय नोएडा को 225वां और बेंगलुरु विश्वविद्यालय को 242वां स्थान मिला.


विश्व स्तर पर, पिछले साल की तरह ही मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (MIT) ने इस वर्ष की रैंकिंग में शीर्ष रैंक हासिल की. MIT के बाद कैलिफोर्निया इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी और हार्वर्ड यूनिवर्सिटी दूसरे और तीसरे स्थान पर रहे. इन तीन संस्थानों ने लगातार दूसरी बार इसी क्रम में शीर्ष तीन रैंक हासिल की है.


कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय और स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय ने भी क्रमशः चौथे और पांचवें स्थान पर अपना स्थान बरकरार रखा है. इस वर्ष, ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय आठवें से छठे स्थान पर पहुंच गया है. हालांकि, जापान से टोक्यो विश्वविद्यालय इस साल छठे से सातवें स्थान पर खिसक गया है.


सिंगापुर का राष्ट्रीय विश्वविद्यालय नौवें से आठवें स्थान पर पहुंच गया है और प्रिंसटन विश्वविद्यालय भी दसवें से नौवें स्थान पर पहुंच गया है. हालांकि, येल यूनिवर्सिटी ने 2021 में अपनी सातवीं रैंक से इस वर्ष 10 वीं रैंक तक भारी गिरावट देखी है.


इस साल, कुल 6 विश्वविद्यालय अमेरिका से, 2 ब्रिटेन से, 1 जापान से और एक सिंगापुर से हैं. हालांकि, चीन, फ्रांस, भारत, स्पेन, दक्षिण कोरिया, जर्मनी और इज़राइल सहित रैंकिंग में 44 देशों और क्षेत्रों का प्रतिनिधित्व किया गया है.


इसके अतिरिक्त, मेनलैंड चीन के विश्वविद्यालयों में स्नातक कौशल और कार्य अनुभव में प्रभाव के कारण पूरी रैंकिंग में लगातार वृद्धि देखी जा रही है. यूरोप महाद्वीप में पिछले दो वर्षों में स्पेन ने सबसे अधिक बढ़ोतरी की है. हालांकि, फ्लोरिडा इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी इस साल सबसे अधिक छलांग लगाई है, जो 85 स्थानों की छलांग के साथ 76वें स्थान पर पहुंच गया है.


सर्वे में पाया गया कि कोविड-19 महामारी के बाद से डिजिटल स्किल कंपनियों के लिए सबसे महत्वपूर्ण फैक्टर बन गया है. इसके अलावा, ग्रेजुएट स्किल्स वालों के लिए किसी खास सब्जेक्ट में स्पेशलाइजेशन और वर्क स्पेशलाइजेशन परफॉर्मेंस मापने के सबसे महत्वपूर्ण फैक्टर्स हैं.

हमारे दैनिक समाचार पत्र के लिए साइन अप करें