खुल गया Inox Green Energy का IPO, 15 नवंबर तक लगा सकेंगे पैसा

आइनॉक्स ग्रीन एनर्जी सर्विसेज कंपनी की स्थापना 2012 में हुई थी.

खुल गया Inox Green Energy का IPO, 15 नवंबर तक लगा सकेंगे पैसा

Friday November 11, 2022,

3 min Read

आइनॉक्स विंड (INOX Wind) की अनुषंगी आइनॉक्स ग्रीन एनर्जी सर्विसेज का आईपीओ (INOX Green Energy Services) आज 11 नवंबर को खुल गया है. कंपनी ने अपने 740 करोड़ रुपये के आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) के लिए मूल्य दायरा 61-65 रुपये प्रति शेयर तय किया है. आईपीओ 15 नवंबर को बंद होगा. आईपीओ दस्तावेजों के मसौदे के अनुसार, आईपीओ में 370 करोड़ रुपये के नए शेयर जारी किये जायेंगे. कंपनी की प्रमोटर आइनॉक्स विंड कुल 370 करोड़ रुपये की बिक्री पेशकश (ओएफएस) लाएगी.

आइनॉक्स ग्रीन ने पहले फरवरी में आईपीओ के लिए सेबी के पास मसौदा दस्तावेज जमा करवाए थे. लेकिन कंपनी ने अप्रैल में बिना कोई कारण बताए इन दस्तावेजों को वापस ले लिया था. इसके बाद आइनॉक्स ग्रीन एनर्जी सर्विसेज ने 20 जून को फिर से सेबी के पास आईपीओ के कागजात दाखिल किए थे. नियामक की तरफ से 13 सितंबर को इस पर ‘निष्कर्ष’ जारी किया गया था. किसी भी कंपनी को आईपीओ लाने के लिए सेबी का निष्कर्ष जरूरी होता है.

कितना साइज रिजर्व

आईपीओ के लिए कंपनी ने 230 शेयरों का लॉट साइज तय किया है. कंपनी ने इस आईपीओ का 75 प्रतिशत हिस्सा क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल बायर्स के लिए आरक्षित रखा है. वहीं, नॉन-इंस्टीट्यूशनल बायर्स के लिए 15 प्रतिशत शेयर रिजर्व रखे गए हैं. वहीं, शेष 10 प्रतिशत शेयर रिटेल इन्वेस्टर्स के लिए आरक्षित रखे गए हैं.

गौतम अडानी को बेचीं तीन स्पेशल यूनिट

आइनॉक्स ग्रीन एनर्जी सर्विसेज कंपनी की स्थापना 2012 में हुई थी. यह भारत की प्रमुख पवन एनर्जी ऑपरेटर और मेन्टेनेंस (O&M) सर्विस प्रोवाइडर है. आइनॉक्स ग्रीन एनर्जी, विंड फार्म प्रॉजेक्ट्स, विशेष तौर पर विंड टर्बाइन जनरेटर्स के लिए लॉन्ग टर्म ऑपरेशन और मेंटीनेंस सर्विसेज उपलब्ध कराती है. इसके अलावा कंपनी विंड फार्म को लेकर कॉमन इंफ्रास्ट्रक्चर फैसिलिटीज भी उपलब्ध कराती है. हाल ही में Inox ग्रीन एनर्जी सर्विसेज ने तीन स्पेशल यूनिट्स (SPV) में अपनी समूची इक्विटी हिस्सेदारी गौतम अडानी की कंपनी अडानी ग्रीन एनर्जी को बेच दी है.

हाल ही में खुले हैं ये दो IPO

9 नवंबर को दो कंपनियों के आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (IPO) खुले हैं. एक आईपीओ आर्कियन केमिकल इंडस्ट्रीज का है और दूसरा फाइव स्टार बिजनेस फाइनेंस का. आर्कियन केमिकल विशेष प्रकार के समुद्री रसायन बनाने वाली कंपनी है, जबकि फाइव स्टार बिजनेस फाइनेंस, नॉन बैंकिंग फाइनेंस कंपनी (NBFC) है. दोनों आईपीओ 11 नवंबर को बंद होंगे. आर्कियन केमिकल इंडस्ट्रीज के आईपीओ के लिए मूल्य दायरा 386-407 रुपये प्रति शेयर तय किया गया है. फाइव स्टार बिजनेस फाइनेंस के आईपीओ के लिए मूल्य दायरा 450-474 रुपये प्रति शेयर तय किया गया है.


Edited by Ritika Singh