खुल गए इन दो कंपनियों के IPO, 11 नवंबर तक रहेगा पैसा लगाने का मौका

आर्कियन केमिकल विशेष प्रकार के समुद्री रसायन बनाने वाली कंपनी है, जबकि फाइव स्टार बिजनेस फाइनेंस, नॉन बैंकिंग फाइनेंस कंपनी (NBFC) है.

खुल गए इन दो कंपनियों के IPO, 11 नवंबर तक रहेगा पैसा लगाने का मौका

Wednesday November 09, 2022,

3 min Read

शेयरों में निवेश करने वालों के लिए अच्छी खबर है. 9 नवंबर को दो कंपनियों के आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (IPO) खुले हैं. एक आईपीओ आर्कियन केमिकल इंडस्ट्रीज का है और दूसरा फाइव स्टार बिजनेस फाइनेंस का. आर्कियन केमिकल विशेष प्रकार के समुद्री रसायन बनाने वाली कंपनी है, जबकि फाइव स्टार बिजनेस फाइनेंस, नॉन बैंकिंग फाइनेंस कंपनी (NBFC) है. दोनों आईपीओ 11 नवंबर को बंद होंगे. आर्कियन केमिकल ने अपने आईपीओ की पेशकश से पहले एंकर निवेशकों से 658 करोड़ रुपये जुटाए हैं.

बीएसई की वेबसाइट पर उपलब्ध सर्कुलर के अनुसार, आर्कियन केमिकल ने 407 रुपये प्रति शेयर के हिसाब से एंकर निवेशकों को 1,61,67,991 शेयर आवंटित किये हैं. इस तरह यह राशि 658 करोड़ रुपये बैठती है. गोल्डमैन सैक्स, अबू धाबी इन्वेस्टमेंट अथॉरिटी, सेगंटी इंडिया मॉरीशस, बीएनपी पारिबा, सोसायटी जनरल, गवर्नमेंट पेंशन फंड ग्लोबल, आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल, डीएसपी स्मॉल कैप फंड, टाटा म्यूचुअल फंड (एमएफ), एसबीआई एमएफ, निप्पॉन इंडिया एमएफ और आदित्य बिड़ला सनलाइफ इंश्योरेंस ने कंपनी में एंकर निवेश के रूप में शेयर खरीदे हैं.

प्राइस बैंड और रिजर्व रेशियो

आर्कियन केमिकल के आईपीओ के तहत 805 करोड़ रुपये के नए शेयर जारी किए जाएंगे. इसके अलावा कंपनी के प्रमोटर्स और निवेशक 1.61 करोड़ शेयरों की बिक्री पेशकश (ओएफएस) लाएंगे. आईपीओ से 1,462.3 करोड़ रुपये जुटने का लक्ष्य है. आईपीओ के लिए मूल्य दायरा 386-407 रुपये प्रति शेयर तय किया है.

कंपनी ने बताया कि इश्यू का 75 प्रतिशत हिस्सा पात्र संस्थागत निवेशकों के लिए आरक्षित रखा गया है, 15 प्रतिशत गैर-संस्थागत निवेशकों और शेष 10 प्रतिशत खुदरा निवेशकों के लिए आरक्षित रखा गया है. कंपनी ब्रोमाइन, इंडस्ट्रियल सॉल्ट और सल्फेट का उत्पादन करती है और दुनियाभर के ग्राहकों को इनका निर्यात भी करती है।.यह अपने उत्पादों का उत्पादन और विनिर्माण गुजरात में करती है.

फाइव स्टार बिजनेस फाइनेंस के आईपीओ की डिटेल

इस आईपीओ के लिए मूल्य दायरा 450-474 रुपये प्रति शेयर तय किया गया है. आईपीओ 11 नवंबर को बंद होगा. यह आईपीओ पूरी तरह से बिक्री पेशकश (OFS) होगा, जिसमें मौजूदा शेयरधारक और प्रमोटर्स 1,960 करोड़ रुपये के शेयरों की बिक्री करेंगे. निवेशक न्यूनतम 31 इक्विटी शेयरों और उसके बाद मल्टीप्लाई में बोली लगा सकते हैं. आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज, कोटक महिंद्रा कैपिटल कंपनी, एडेलविस फाइनेंशियल सर्विसेज और नोमुरा फाइनेंशियल एडवाइजरी एंड सिक्योरिटीज (इंडिया) प्राइवेट लिमिटेड, आईपीओ के लिए बुक-रनिंग लीड मैनेजर हैं.

फाइव स्टार बिजनेस फाइनेंस, छोटे उद्यमियों और स्वरोजगार वाले लोगों को व्यवसाय ऋण प्रदान करती है. कंपनी की दक्षिण भारत में मजबूत मौजूदगी है. इस NBFC को TPG, Matrix Partners, Norwest Ventures, Sequoia और KKR जैसे निवेशकों का सहयोग प्राप्त है. एनबीएफसी ने 1984 में उपभोक्ता ऋण और व्हीकल फाइनेंस पर ध्यान केंद्रित करने के साथ संचालन शुरू किया था.


Edited by Ritika Singh

Montage of TechSparks Mumbai Sponsors