जापान की कंपनी ने किया उड़ने वाली कार का परीक्षण, 2023 तक उपलब्ध हो सकती है कार

By yourstory हिन्दी
September 04, 2020, Updated on : Fri Sep 04 2020 08:31:31 GMT+0000
जापान की कंपनी ने किया उड़ने वाली कार का परीक्षण, 2023 तक उपलब्ध हो सकती है कार
फिलहाल कई कंपनियाँ फ्लाइंग कार को विकसित करने में लगी हुई हैं, इसमें विमान निर्माता बोइंग और एयरबस से लेकर जापान की दिग्गज ऑटोमोटिव कंपनी टोयोटा और होंडा भी शामिल हैं।
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close
(चित्र साभार: eVTOL)

(चित्र साभार: eVTOL)



उड़ने वाली कार के बारे में बीते कुछ सालों से लगातार चर्चा होती आई है, लेकिन अब तक इसके बाज़ार में उपलब्ध होने का समय स्पष्ट नहीं हो सका है। इसी के साथ वर्तमान में इस तकनीक पर कई कंपनियाँ काम कर रही हैं, हालांकि अंतिम उत्पाद के रूप में लोगों के सामने अभी तक कुछ ठोस पेश नहीं किया जा सका है। इस बीच जापान की एक कंपनी ने उड़ सकने में सक्षम मानव चालित वाहन पेश किया है, जो दिखने में एकदम कार जैसी ही है।


इस खास कार में चार प्रोपेलर दिये गए हैं, जिनके जरिये इसे हवा में उड़ाया जा सकता है। हालांकि एएफ़पी की रिपोर्ट की मानें तो स्काईड्राइव नाम की इस कंपनी ने यह दावा नहीं किया है कि उसने सबसे पहले जापान में फ्लाइंग कार का सार्वजनिक प्रदर्शन किया है।


वीडियो के अनुसार इस कार का प्रदर्शन बीते महीने की 25 तारीख को किया गया है। इस कार का नाम SD-03 है, जिसने परीक्षण के दौरान 4 मिनट की उड़ान भरी है। कार में आठ प्रोपेलर हैं, जो किसी भी आपातकाल की स्थिति में प्रदर्शन करने में सक्षम हैं।


गौरतलब है कि कंपनी द्वारा जारी वीडियो में यह कार सिर्फ कुछ ही मीटर की ऊंचाई तय करती हुई नज़र आ रही है। कंपनी का कहना है कि जल्द ही यह कार 30 मिनट तक हवा में उड़ान भरने में सक्षम होगी, इसी के साथ अच्छी मांग होने पर इसे चीन समेत अन्य देशों को भी निर्यात किया जा सकेगा।





कंपनी द्वारा जारी किए गए वीडियो में इस कार को उड़ते हुए देखा जा सकता है। इसी के साथ स्काईड्राइव के सीईओ टॉमोहिरो फुकुजावा ने एक बयान में कहा, "हम समाज को यह महसूस करना चाहते हैं कि उड़ने वाली कारें आसमान में परिवहन का सुलभ और सुविधाजनक साधन बन सकती हैं।"


स्काईड्राइव का कहना है कि वह चाहती है कि वाहन 2023 तक खरीद के लिए जापान में उपलब्ध हो। रिपोर्ट्स की मानें तो या कार आपको 3 लाख डॉलर से अधिक की पड़ सकती है।


हालांकि ऐसा नहीं है कि यह अपनी तरह की सबसे अनोखी कार है, इसके पहले वोल्कॉप्टर, जो एक जर्मन स्टार्ट-अप है, उसने पिछले साल के अंत में सिंगापुर में एक फ्लाइंग टैक्सी का प्रदर्शन किया था, जो किसी ओवरसाइज़ ड्रोन के जैसी ही थी, लेकिन दोनों ही कारों का मुख्य उद्देश्य भारी भीड़ वाले शहरों में ट्रैफिक से लड़ना ही है।


फिलहाल कई कंपनियाँ फ्लाइंग कार को विकसित करने में लगी हुई हैं, इसमें विमान निर्माता बोइंग और एयरबस से लेकर जापान की दिग्गज ऑटोमोटिव कंपनी टोयोटा और होंडा भी शामिल हैं। कुछ दिनों पहले उबर ने भी भविष्य में अपनी फ्लीट में फ्लाइंग को शामिल करने की बात कही थी।