कर्नाटक सरकार ने की कोरोना वायरस को लेकर अफवाहों पर ध्यान नहीं देने की अपील

By भाषा पीटीआई
March 04, 2020, Updated on : Wed Mar 04 2020 13:01:30 GMT+0000
कर्नाटक सरकार ने की कोरोना वायरस को लेकर अफवाहों पर ध्यान नहीं देने की अपील
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

बेंगलुरु, कोरोना वायरस के मामले सामने आने के बाद लोगों में डर को कम करने की कोशिश करते हुए कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री बी श्रीरामुलु ने बुधवार को लोगों से सोशल मीडिया पर फैलाई जा रही अफवाहों पर ध्यान नहीं देने की अपील की।


k

कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री बी श्रीरामुलु (फोटो क्रेडिट: freepressjournal)



ट्विटर पर श्रीरामुलु ने लोगों को आश्वस्त किया कि सरकार ने यह सुनिश्चित करने के लिए पर्याप्त उपाय किए हैं कि बीमारी और न फैले।


उन्होंने ट्वीट किया,

“कोरोना वायरस को लेकर सोशल मीडिया पर फैलाई जा रही अफवाहों पर ध्यान नहीं दें। सिर्फ विश्वसनीय सूचनाओं पर भरोसा करें।”


बेंगलुरु में कोरोना वायरस का पहला मामला सामने आने के बाद मंत्री का यह ट्वीट आया है। एक इंजीनियर को हैदराबाद के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वह दुबई गया था और वहां हांगकांग के लोगों से बातचीत की थी।


शहर में दहशत फैलने के बीच, श्रीरामुलु ने कहा कि जिस फ्लैट में सॉफ्टवेयर इंजीनियर रह रहा था, उसकी साफ-सफाई कर दी गई है।


इसके अलावा, उसके 25 सहकर्मियों की पहचान की गई है। उनमें से एक को एहतियाती उपाय के तहत अस्पताल में भर्ती कराया गया है और उसके खून के नमूनों को जांच के लिए भेजा गया है।


श्रीरामुलु ने ट्वीट किया,

“अब तक अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर 40,207 लोगों की जांच की गई है। रक्त के 251 नमूनों का परीक्षण किया गया है, जिनमें से 238 निगेटिव पाए गए हैं, जबकि अन्य की अभी रिपोर्ट नहीं आई हैं।”


स्वास्थ्य विभाग ने कहा कि तीन लोगों को राजीव गांधी इंस्टीट्यूट ऑफ चेस्ट डीज़ीज़ (आरजीआईसीडी) में पृथक वार्ड में भर्ती कराया गया है।


कोरोना वायरस से संक्रमित सॉफ्टवेयर इंजीनियर के साथ रहने वाले शख्स के माता-पिता ने लोगों से अपील की है कि वह इस बात से नहीं डरें कि उनके अपार्टमेंट में कोरोना वारयस है।


उन्होंने एक संदेश में कहा,

“मेरे बेटा उसी अपार्टमेंट में था। वहां कुछ भी गलत नहीं है। इसे लेकर सोशल मीडिया पर ज्यादा दहशत है और उसने यह गढ़ा है।”


उन्होंने कहा कि तेलंगाना में कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया व्यक्ति 21 फरवरी को इस इमारत में रहा था।


उन्होंने कहा,

“उनके रूममेट (साथ रहने वाले) को अस्पताल ले जाया गया था और उसकी रिपोर्ट निगेटिव आई है।”


हाथ जोड़कर करें ‘नमस्कार’

उधर दूसरी तरफ कोरोना वायरस के भारत में फैलने की आशंका के मद्देनजर गोवा के भाजपा नेता ने लोगों को सुझाव दिया है कि उन्हें एक-दूसरे का अभिवादन करने के लिए भारतीय शैली के अनुसार दोनों हाथ जोड़कर ‘नमस्कार’ करना चाहिए।


पणजी के पूर्व विधायक सिद्धार्थ कुंकोलियेंकर ने यह भी कहा कि अब समय आ गया है कि लोग इस जानलेवा वायरस के फैलने की आशंका के चलते पर्याप्त एहतियात बरतें।


गोवा के पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के करीबी सहयोगी रहे कुंकोलियेंकर ने बुधवार को ट्वीट किया,

‘‘कोविड-19 के मामले बढ़ने पर अब समय आ गया है कि हम पर्याप्त एहतियात बरतें और अभिवादन की भारतीय शैली ‘नमस्कार’ को अपनाए।’’


भारत में छह लोगों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। इनमें राजस्थान में इटली का एक दंपति भी शामिल है।


चीन में घट रहे मामले, दुनियाभर में हो रही बढ़ोतरी

गौरतलब है कि चीन में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में धीरे-धीरे कमी देखी जा रही है जबकि दुनिया के तमाम अन्य देश तेजी से फैल रहे इस घातक वायरस को रोकने के लिए अब भी संघर्ष करते दिख रहे हैं।


चीनी स्वास्थ्य अधिकारियों ने 38 और लोगों की मौत की जानकारी दी है जिससे मृतकों की कुल संख्या 2,981 पर पहुंच गई है। वहीं दुनिया भर में 3,100 लोग इस वायरस के चलते अपनी जान गंवा चुके हैं।


राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने बताया कि मंगलवार रात तक चीन में कोविड-19 से 2,981 लोगों की जान गई और कुल 80,270 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई।


यहां की आधिकारिक मीडिया ने बताया कि दुनिया भर में घातक बीमारी से मरने वालों की संख्या 3,123 पर पहुंच गई और 91,783 से ज्यादा लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई है।


राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग (एनएचसी) को मंगलवार को चीन के 31 प्रांतीय स्तर के क्षेत्रों और शिनजियांग से 119 नये मामलों की जानकारी मिली। इनमें 115 मामले हुबेई प्रांत से और वायरस से सर्वाधिक प्रभावित इसकी राजधानी वुहान से सामने आए हैं।


एनएचसी ने कहा कि मंगलवार को हुबेई के बाहर से केवल चार मामलों की जानकारी मिली जो तीन फरवरी को सामने आए 890 मामलों से काफी कम है। आयोग ने बताया कि देश के अन्य हिस्सों में वायरस के मामले घट रहे हैं।


आयोग ने बताया कि 37 मौत हुबेई और एक मौत भीतरी मंगोलिया स्वायत्त क्षेत्र में हुई।


इस बीच मंगलवार को 143 नये लोग सामने आए जिनमें संक्रमण का संदेह है। आयोग ने बताया कि देश भर में 520 लोगों के अब भी संक्रमण की चपेट में आने की आशंका है।


मंगलवार को ही, गंभीर मामलों की संख्या 390 घट कर 6,416 पर पहुंच गई जबकि 2,652 लोगों को हालत में सुधार के बाद अस्पताल से घर भेज दिया गया।


आयोग ने बताया कि मंगलवार तक चीन में कुल 80, 270 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई जिनमें से 2,981 की मौत हो गई, 27,433 मरीजों का अब भी इलाज चल रहा है और 49,856 लोगों को सेहत में सुधार के बाद अस्पतालों से छुट्टी दे दी गई।