अगर आप भी हैं महिला आंत्रप्रेन्‍योर तो ये बातें न जानने की गलती भूलकर भी न करें

By yourstory हिन्दी
October 04, 2022, Updated on : Mon Jan 30 2023 12:56:55 GMT+0000
अगर आप भी हैं महिला आंत्रप्रेन्‍योर तो ये बातें न जानने की गलती भूलकर भी न करें
भारत सरकार इन योजनाओं के जरिए महिला उद्यमियों को दे रही है 50,000 रुपए से लेकर एक करोड़ रुपए तक बिजनेस लोन.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

मैकिन्‍जी ग्‍लोबल की एक रिपोर्ट कहती है कि यदि भारत अपने लेबर फोर्स में महिलाओं की भागीदारी को बढ़ा सके तो यह देश ग्‍लोबल जीडीपी में 700 अरब डॉलर का महत्‍वपूर्ण योगदान कर सकता है. भारत के टोटल वर्कफोर्स में इस वक्‍त महिलाओं की हिस्‍सेदारी 27 फीसदी है.


स्‍टार्टअप्‍स इकोसिस्‍टम को विकसित करने के मामले में भारत दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा देश है. हालांकि अभी भी हमारे यहां आंत्रप्रेन्‍योर्स में जेंडर गैप काफी ज्‍यादा है, लेकिन जिस तेजी के साथ महिलाएं इस क्षेत्र में आगे आ रही हैं, उसे देखकर एक उम्‍मीद जगती है. भारत में आज की तारीख में तकरीबन 1.5 करोड़ महिला आंत्रप्रेन्‍योर्स हैं, जो पूरे स्‍टार्टअप इकोसिस्‍टम का तकरीबन 20 फीसदी है. ये महिलाएं 2 से 3 करोड़ रोजगार पैदा कर रही हैं.     

  

हालांकि सरकार की तरफ से महिला उद्यमियों को प्रेरित करने और उनके लिए एक सपोर्ट सिस्‍टम विकसित करने की कोशिश भी की जा रही है. आज हम आपको बता रहे हैं कुछ योजनाओं और स्‍कीमों के बारे में, जिसकी जानकारी हर महिला उद्यमी को होनी चाहिए. यदि आप आंत्रप्रेन्‍योर नहीं हैं और होने की महत्‍वाकांक्षा रखती हैं, तो यह जानकारी आपके लिए उपयोगी हो सकती है. 

नीति आयोग का विमेन आंत्रप्रेन्‍योरशिप प्रोग्राम

भारत सरकार के नीति आयोग ने महिला आंत्रप्रेन्‍योर्स को बढ़ावा देने के लिए स्‍मॉल इंस्‍डस्‍ट्रीज डेवलपमेंट बैंक ऑफ इंडिया (Small Industries Development Bank of India -SIDBI)  के साथ मिलकर एक प्रोग्राम शुरू किया है. इस प्रोग्राम का मकसद मौजूदा महिला आंत्रप्रेन्‍योर्स के लिए एक ऐसा सपोर्टिव इकोसिस्‍टम विकसित करना है, जिसमें वह अपने बिजनेस को ग्रो कर सकें. उनका नारा है- इच्‍छा शक्ति, ज्ञान शक्ति और कर्म शक्ति.  


भारत सरकार की स्‍टार्टअप इंडिया वेबसाइट पर इस योजना के बारे में विस्‍तार से जानकारी दी गई है. नए स्‍टार्टअप फाउंडर्स से लेकर स्‍टार्टअप शुरू करने की योजना बना रही महिलाएं तक इस प्रोग्राम के लिए आवेदन कर सकती हैं. इसमें उन्‍हें फ्री क्रेडिट स्‍कोर से लेकर स्‍टार्टअप के लिए गाइड और मेंटरशिप तक मुहैया कराई जाती है. साथ ही इस प्‍लेटफॉर्म पर उनकी मुलाकात अपने जैसी और महिलाओं से होती है, जिनकी कहानियां और अनुभव उनकी अपनी यात्रा में मददगार हो सकते हैं.


कहां आवेदन करें - https://wep.gov.in/ आप इस वेबसाइट पर जाकर इस प्रोग्राम के लिए आवेदन कर सकती हैं. प्रोग्राम से जुड़ी सारी जानकारियां यहां विस्‍तार से दी गई हैं.

स्‍त्री शक्ति योजना

महिला आंत्रप्रेन्‍योर्स को प्रमोट करने के लिए भारत सरकार और वित्‍तीय संस्‍थाएं कई सारी योजनाएं चला रही हैं. स्‍त्री शक्ति योजना उनमें से एक है, जो स्‍टेट बैंक ऑफ इंडिया के द्वारा संचालित है. यह योजना उन महिलाओं के लिए है, जो पहले से अपना सफल बिजनेस चला रही हैं और उसे और आगे बढ़ाना चाहती हैं. इस योजना के लिए आवेदन करने से पहले आंत्रप्रेन्‍योरशिप डेवलप प्रोग्राम में रजिस्‍टर होना जरूरी है, जो विभिन्‍न राज्‍य एजेंसियों के द्वारा चलाया जाता है. इस योजना के अंतर्गत महिलाओं को रियायती दर पर लोन मिल सकता है.


कहां आवेदन करें- अपने स्‍टेट के आंत्रप्रेन्‍योरशिप डेवलप प्रोग्राम में रजिस्‍ट्रेशन करवाने के बाद महिलाएं स्‍टेट बैंक ऑफ इंडिया की किसी भी शाखा में जाकर स्‍त्री शक्ति योजना के अंतर्गत आवेदन कर सकती हैं.  

अन्‍नपूर्णा योजना  

यह भारत सरकार की एक और योजना है, जो केटरिंग के बिजनेस में काम कर रही महिलाओं के लिए है. इस योजना के अंतर्गत महिलाओं को अपने बिजनेस को आगे बढ़ाने के लिए 50,000 रुपए तक का लोन दिया जाता है, जो कि रियायती दरों पर होता है. इस लोन को 36 महीने यानी तीन साल की अवधि के भीतर इंस्‍टॉलमेंट में या मंथली ईएमआई में चुकाना होता है.


कहां आवेदन करें – स्‍टेट बैंक ऑफ इंडिया, स्‍टेट बैंक ऑफ मैसूर और भारतीय महिला बैंक में अन्‍नपूर्णा योजना के अंतर्गत लोन के लिए आवेदन कर सकते हैं.   

उद्योगिनी योजना

ग्रामीण और पिछड़े क्षेत्रों में रह रही अशिक्षित महिलाओं को ध्‍यान में रखकर भारत सरकार की यह योजना बनाई गई है, जिसका संचालन विमेन डेवलपमेंट कॉरपोरेशन के द्वारा किया जाता है. इस योजना के अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्रों की महिलाओं को अपना बिजनेस शुरू करने के लिए छोटे लोन देने से लेकर उनकी ट्रेनिंग और मेंटरशिप का काम भी होता है.


कहां आवेदन करें – सभी क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों, सहकारी बैंकों और सरकारी बैंकों को उद्योगिनी योजना के साथ जोड़ा गया है. अपने आसपास के किसी भी बैंक में जाकर इस योजना के लिए आवेदन किया जा सकता है. 

मु्द्रा लोन

भारत सरकार की इस महत्‍वाकांक्षी योजना के अंतर्गत महिला उद्यमियों को रियायती ब्‍याज दरों पर 10 लाख रुपए तक का लोन दिया जाता है, जिसे चुकाने की समय सीमा भी फ्लेक्जिबल होती है.


कहां आवेदन करें – भारत सरकार की वेबसाइट details: https://www.mudra.org.in/ पर इस योजना के बारे में सारी जानकारियां दी गई हैं. कुछ बैंक और वित्‍तीय संस्‍थाओं को इस योजना में जोड़ा गया है, जहां मुद्रा लोन के लिए अप्‍लाय किया जा सकता है.

महिला उद्यम निधि योजना

पंजाब नेशनल बैंक और स्‍मॉल इंस्‍डस्‍ट्रीज डेवलपमेंट बैंक ऑफ इंडिया (SIDBI) महिला उद्यम निधि योजना चलाते हैं, जिसके अंतर्गत महिला आंत्रप्रेन्‍योर्स को अपना बिजनेस बढ़ाने के लिए 10 लाख रुपए तक का लोन दिया जाता है, जिसे चुकाने की अवधि 10 वर्ष तक हो सकती है.


कहां आवेदन करें – पंजाब नेशनल बैंक और स्‍मॉल इंस्‍डस्‍ट्रीज डेवलपमेंट बैंक ऑफ इंडिया

सेंट कन्‍याणी स्‍कीम

सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया की इस स्‍कीम के अंतर्गत महिलाओं को 100 लाख यानी एक करोड़ रुपए तक का बिजनेस लोन दिया जाता है. कोई भी महिला उद्यमी अपना नया बिजनेस शुरू करने या वर्तमान बिजनेस को बढ़ाने के लिए सेंट कल्‍याणी स्‍कीम के अंतर्गत आवेदन कर सकती है.

 कहां आवेदन करें – सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया


Edited by Manisha Pandey