महाराष्ट्र में लॉकडाउन ने रिश्वतखोरी को हिला दिया

महाराष्ट्र में लॉकडाउन ने रिश्वतखोरी को हिला दिया

Friday May 15, 2020,

2 min Read

पिछले साल अप्रैल में, रिश्वत के 58 मामले दर्ज किए गए थे, जिनमें 77 आरोपी शामिल थे, जबकि मई में इस तरह के 32 मामले दर्ज किए गए थे, जिनमें 41 आरोपी शामिल थे।

सांकेतिक चित्र

सांकेतिक चित्र



मुंबई, कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए लागू किए गए लॉकडाउन की वजह से महाराष्ट्र में रिश्वतखोरी के मामलों में काफी कमी आई है।


बंद ने सरकारी और अर्द्ध-सरकारी विभागों के कामकाज को बुरी तरह प्रभावित किया है।


एक अधिकारी ने बताया कि महाराष्ट्र में अप्रैल में केवल सात ऐसे मामले दर्ज हुए जिनमें भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) ने किसी सरकारी कर्मी को रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ पकड़ने के लिए जाल बिछाया और इस माह में (14 मई तक) ऐसे केवल पांच मामले दर्ज किए गए।


अधिकारी ने बताया कि पिछले साल अप्रैल में, रिश्वत के 58 मामले दर्ज किए गए थे, जिनमें 77 आरोपी शामिल थे, जबकि मई में इस तरह के 32 मामले दर्ज किए गए थे, जिनमें 41 आरोपी शामिल थे।


2019 के इन दो महीनों की तुलना में, अप्रैल 2020 में इन मामलों में 88 प्रतिशत और मई में अब तक लगभग 84 प्रतिशत की गिरावट हुई है।


अधिकारी ने बताया कि इस साल जनवरी से, एसीबी ने राज्य भर में रिश्वतखोरी के मामले में आरोपियों को पकड़ने के लिए 211 जाल बिछाए हैं, जिनमें 290 से अधिक सरकारी अधिकारियों और अन्य व्यक्तियों को पकड़ा गया है।