Meesho पर अब आप कर सकेंगे अपनी मनपसंद की भाषा में शॉपिंग, लेकिन कैसे?

By yourstory हिन्दी
August 10, 2022, Updated on : Wed Aug 10 2022 16:30:07 GMT+0000
Meesho पर अब आप कर सकेंगे अपनी मनपसंद की भाषा में शॉपिंग, लेकिन कैसे?
मीशो ने अपनी क्षेत्रीय पकड़ मजबूत की; अपने प्लेटफॉर्म पर 8 नई स्थानीय भाषाओं को जोड़ा
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

भारत की सबसे तेजी से बढ़ती इंटरनेट कॉमर्स कंपनियों में से एक Meesho ने सभी के लिए इंटरनेट कॉमर्स को आसान बनाने के अपने मिशन के अनुरूप अपने प्लेटफॉर्म पर आठ नई स्थानीय भाषाओं को जोड़े जाने की घोषणा की. यह कदम त्योहारी सीजन से ठीक पहले उठाया गया है, जब देश के कोने-कोने से लाखों उपयोगकर्ताओं द्वारा प्लेटफॉर्म पर लेनदेन किए जाने की उम्मीद है.


प्लेटफॉर्म पर जोड़ी गई अतिरिक्त भाषाएं हैं - बंगाली, तेलुगु, मराठी, तमिल, गुजराती, कन्नड़, मलयालम और ओडिया. मीशो के ग्राहक अब एंड्रॉयड फोन्स पर अपनी पसंदीदा भाषा का चयन कर अपने खाते पर जा सकते हैं एवं चयन की गई भाषा में उत्पाद संबंधी जानकारी देख सकते हैं, ऑर्डर दे सकते हैं, उसे ट्रैक कर सकते हैं और भुगतान कर सकते हैं.


पिछले साल, मीशो ने अपने प्लेटफॉर्म पर भाषा विकल्प के रूप में हिंदी पेश की, जिसे अब तक 20 प्रतिशत की उच्च दर से उपयोग में लाया गया है. अधिकांश मीशो ग्राहक टियर 2+ शहरों जैसे अहमदाबाद, वडोदरा और जमशेदपुर और गैर-हिंदी भाषाभाषी राज्य, जहां अंग्रेजी या हिंदी हमेशा पसंदीदा भाषा नहीं हो सकती है, से आते हैं. यह नवीनतम पहल इन क्षेत्रों में मीशो के उपयोग को बढ़ावा देगी और लाखों ग्राहकों के लिए ऑनलाइन खरीदारी के अनुभव को और सरल बनाएगी.


इन नई भाषाओं में सटीक और प्रामाणिक अनुभव सुनिश्चित करने के लिए, मीशो ने उपयोगकर्ता अनुसंधान से महत्वपूर्ण अंतर्दृष्टि प्राप्त की और विशेषज्ञ भाषाविदों के साथ मिलकर काम किया. टीम ने पूरे अनुवाद में आम बोलचाल के शब्दों का उपयोग किया ताकि उससे हर रोज प्रयोग में लाई जाने वाली भाषा की झलक मिले और खरीदारी का अनुभव सहज बन सके. उदाहरणार्थ - हिन्दी में 'रिक्वायर्ड' (required) शब्द का शाब्दिक अनुवाद 'अनिवार्य' है लेकिन बोलचाल में 'ज़रूरी' शब्द का व्यापक रूप से प्रचलन है. कुल मिलाकर, इन आठ भाषाओं में से प्रत्येक भाषा में लगभग 33,000 अंग्रेजी शब्दों का अनुवाद किया गया.


मीशो के फाउंडर और सीटीओ, संजय बरनवाल ने कहा, "यहाँ यह ध्यान देना महत्वपूर्ण है कि हमारे लगभग 50% उपयोगकर्ता ई-कॉमर्स के लिए नए हैं और शायद उन्होंने पहले कभी इस तरह के प्लेटफार्मों पर लेन-देन नहीं किया है. प्लेटफॉर्म पर स्थानीय भाषाओं को पेश करके, मीशो का उद्देश्य भाषा की बाधाओं को खत्म करना है. यह भारत में अगले एक अरब उपयोगकर्ताओं के लिए एकल खरीदारी गंतव्य बनने की हमारी यात्रा की दिशा में बढ़ाया गया एक स्वाभाविक कदम है. हमारी टीमों ने यह सुनिश्चित करने के लिए अप्रत्यक्ष रूप से अथक प्रयास किया है कि प्लेटफॉर्म इन सभी 8 स्थानीय भाषाओं में 100% सटीक और प्रासंगिक हो."


हाल ही में, मीशो ने दावा किया है कि 100 मिलियन लेनदेन करने वाले उपयोगकर्ताओं तक पहुंचने वाली यह भारत की सबसे तेज ई-कॉमर्स कंपनी बन गई है. मार्च 2021 के बाद से, प्लेटफॉर्म पर लेनदेन करने वाले उपयोगकर्ता का आधार ~ 5.5X बढ़ गया है, जबकि इसी अवधि के दौरान एसॉर्टमेंट 9X बढ़कर ~ 72 मिलियन हो गया है. टियर 2+ बाजारों के ग्राहक इस विकास के प्रमुख चालक रहे हैं, जो सभी खरीदारों में से लगभग 80% हैं.


Edited by रविकांत पारीक