Meta ने Tata CLiQ के इस पूर्व सीईओ को किया हायर, भारत में संभालेंगे ग्लोबल बिजनेस ग्रुप की जिम्मेदारी

मेटा में आने से पहले पुरोहित टाटा क्लिक के सीईओ रहे हैं. वह अमेजन, रिलायंस ब्रान्ड्स, आदित्य बिड़ला समूह और टॉमी हिलफिगर जैसी कंपनियों में भी रह चुके हैं. उनके पास कारोबार, सेल्स और मार्केटिंग क्षेत्र का 20 साल से अधिक का अनुभव है.

Meta ने Tata CLiQ के इस पूर्व सीईओ को किया हायर, भारत में संभालेंगे ग्लोबल बिजनेस ग्रुप की जिम्मेदारी

Monday January 09, 2023,

2 min Read

सोशल मीडिया मंच मेटा ने विकास पुरोहित को भारत में वैश्विक व्यापार कारोबार समूह का निदेशक नियुक्त किया है. कंपनी ने कहा कि पुरोहित रणनीति की अगुवाई करेंगे और प्रमुख विज्ञापनदाताओं और एजेंसी भागीदारों पर ध्यान देंगे.

मेटा ने सोमवार को एक बयान में कहा कि पुरोहित भारत में कंपनी के विज्ञापन कारोबार के निदेशक एवं प्रमुख अरुण श्रीनिवास को रिपोर्ट करेंगे.

श्रीनिवास ने कहा, ‘‘मैं समूह में विकास का स्वागत करते हुए बेहद खुश हूं. वह मेटा मंच व्यवसायों को सशक्त बनाने, भारत की आर्थिक वृद्धि को बढ़ावा देने और देश के डिजिटल विज्ञापन पारिस्थितिकी तंत्र की स्थापना करने में अहम भूमिका निभाएंगे.’’

मेटा में आने से पहले पुरोहित टाटा क्लिक के सीईओ रहे हैं. वह अमेजन, रिलायंस ब्रान्ड्स, आदित्य बिड़ला समूह और टॉमी हिलफिगर जैसी कंपनियों में भी रह चुके हैं. उनके पास कारोबार, सेल्स और मार्केटिंग क्षेत्र का 20 साल से अधिक का अनुभव है.

उन्होंने टॉमी हिलफिगर में शामिल होने से पहले आदित्य बिड़ला समूह में अपने करियर की शुरुआत की और फिर रिलायंस ब्रांड्स में रिटेल का नेतृत्व किया. Amazon में उन्होंने Amazon Fashion को आगे बढ़ाने और बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई.

विकास पुरोहित ने 1996-2000 तक वाराणसी में भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, बीएचयू (IIT BHU) से मैकेनिकल इंजीनियरिंग से बी.टेक किया है. उन्होंने 2000-2002 के दौरान आईआईएम बेंगलुरु से बिजनेस मैनेजमेंट में पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा (PGDBM) की डिग्री हासिल की थी.

मेटा की इंडिया यूनिट ने फाइनेंशियल ईयर 2021-22 के लिए 297 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ दर्ज किया था, जो पिछले वित्तीय वर्ष में 128.2 करोड़ रुपये के लाभ से 132 प्रतिशत अधिक है. वित्तीय वर्ष के लिए कुल आय बढ़कर 2,324 करोड़ रुपये हो गई, जो पिछले वित्तीय वर्ष में 1,485.1 करोड़ रुपये से 56.5 प्रतिशत अधिक है. इस अवधि के दौरान सकल विज्ञापन राजस्व में 74 प्रतिशत की वृद्धि हुई और यह 16,189 करोड़ रुपये हो गया.


Edited by Vishal Jaiswal