दिवाली से पहले सरकार ने किसानों को दिया डबल तोहफा, इन दो फसलों की MSP बढ़ाई, जानिए नए रेट्स

मोदी सरकार ने दिवाली से पहले ही किसानों को डबल तोहफा दिया है. सरकार ने गेहूं की एमएसपी 110 रुपये प्रति क्विंटल बढ़ा दी है. सरसों की एमएसपी भी 400 रुपये प्रति क्विंटल बढ़ाई गई है.

दिवाली से पहले सरकार ने किसानों को दिया डबल तोहफा, इन दो फसलों की MSP बढ़ाई, जानिए नए रेट्स

Tuesday October 18, 2022,

3 min Read

मोदी सरकार (Modi Government) ने दिवाली (Diwali) से पहले ही मंगलवार को किसानों को दो बड़े तोहफे दिए हैं. पहला तो ये है कि सरकार ने गेहूं का न्यूनतम समर्थन मूल्य यानी एमएसपी (MSP) 110 रुपये बढ़ा दिया है. दूसरा ये कि सरकार ने सरसों की एमएसपी को भी 400 रुपये बढ़ा दिया है. दिवाली से पहले किसानों को ये दो बड़े तोहफे उनके लिए किसी राहत से कम नहीं हैं. पीएम मोदी की अध्यक्षता में आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडल की समिति (सीसीईए) की बैठक में एमएसपी बढ़ाने का फैसला किया गया.

क्या हो गए नए दाम?

फसल वर्ष 2022-23 के लिए गेहूं की एमएसपी में 110 रुपये की बढ़ोतरी के बाद नया भाव 2125 रुपये प्रति क्विंटल हो गया है. फसल वर्ष 2021-22 में 2,015 रुपये प्रति क्विंटल था. इस बार गेहूं की उत्पादन लागत 1,065 रुपये प्रति क्विंटल रहने का अनुमान है. वहीं सरसों की एमएसपी में 400 रुपये की बढ़ोतरी के बाद अब नया भाव 5450 रुपये प्रति क्विंटल हो गया है. हालांकि, सरसों के दाम बढ़ने से अब इसका असर सरसों के तेल पर दिख सकता है और वह महंगा हो सकता है.

क्या होती है एमएसपी

एमएसपी वह दर होती है, जिस पर सरकार किसानों से उनकी फसल खरीदती है. इस समय सरकार खरीफ और रबी दोनों सत्रों में उगाई जाने वाली 23 फसलों के लिए एमएसपी तय करती है. रबी यानी सर्दियों की फसलों की बुवाई, खरीफ यानी गर्मी की फसलों की कटाई के बाद अक्टूबर-नवंबर में शुरू होती है. गेहूं और सरसों रबी की मुख्य फसलें हैं, जिन पर अधिकतर किसान फोकस करते हैं.

मोदी सरकार के इस कदम से किसानों की जेब में अतिरिक्त पैसे आएंगे और त्योहार से पहले ऐसा फैसला हर किसान को खुश करने वाला कदम है. सरकार ने एक बयान में कहा है कि किसानों के उत्पादन और आय को बढ़ावा देने के लिए यह फैसला किया गया है. सीसीईए ने फसल वर्ष 2022-23 (जुलाई-जून) और विपणन सत्र 2023-24 में 6 रबी फसलों के लिए एमएसपी में बढ़ोतरी को मंजूरी दी है.

पीएम किसान योजना की 12वीं किस्त जारी

पीएम किसान योजना की 12वी किस्त के जरिए भी सरकार ने किसानों को दिवाली से पहले एक बड़ा तोहफा देने का काम किया है. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सोमवार को ही प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (पीएम-किसान) योजना के अंतर्गत 16 हजार करोड़ रुपये की 12वीं किस्त जारी की. मोदी ने अपनी सरकार की 8वीं वर्षगांठ के अवसर पर मई महीने में हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला में किसान सम्मान निधि की 11वीं किस्त के रूप में 21,000 करोड़ रुपये जारी किए थे.

देश में मझोले और छोटे किसानों की मदद के लिए शुरू की गई इस योजना को 8 साल हो चुके हैं और देश में करोड़ों किसान इसका लाभ प्राप्त कर चुके हैं. केंद्र सरकार ने 24 फरवरी 2019 को पीएम किसान सम्मान निधि योजना की शुरुआत की थी. इस योजना के तहत, पात्र लाभार्थी किसान परिवारों को 6,000 रुपये प्रति वर्ष का वित्तीय लाभ प्रदान किया जाता है. यह प्रत्येक चार माह में 2,000 रुपये की तीन समान किस्तों में देय होता है. फंड सीधे लाभार्थियों के बैंक खातों में हस्तांतरित किया जाता है.