मंच पर ही मिसेज श्रीलंका के सिर से उतार लिया गया ताज, वापस पाकर सिंगल मदर्स को समर्पित की अपनी जीत

विवाद हुआ और छीन लिया गया ब्यूटी क्वीन का ताज
Clap Icon0 claps
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Clap Icon0 claps
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

"श्रीलंका में मिसेज श्रीलंका कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है और देश में इस प्रतियोगिता को काफी प्रतिष्ठित माना जाता है, लेकिन यह प्रतियोगिता जीतने वाली महिला के साथ मंच पर हुए सलूक ने सभी को हैरान करके रख दिया।"

पड़ोसी देश श्रीलंका की एक बेहद प्रतिष्ठित सौन्दर्य प्रतियोगिता के दौरान एक ऐसा वाकया देखने को मिला जिसने सभी को हैरान कर दिया। पूरी दुनिया में इस घटना को शर्मनाक बताया जा रहा है, लेकिन इस घटनाक्रम का अंत जिस तरह हुआ वह काफी सराहनीय है। श्रीलंका में मिसेज श्रीलंका कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है और देश में इस प्रतियोगिता को काफी प्रतिष्ठित माना जाता है, लेकिन यह प्रतियोगिता जीतने वाली महिला के साथ मंच पर हुए सलूक ने सभी को हैरान करके रख दिया।

पहले मिला फिर छिना ताज

प्रतियोगिता के अंत में यह ऐलान किया गया कि मिसेज श्रीलंका वर्ल्ड का खिताब पुष्पिका डी सिल्वा को मिला है और इसके बाद उन्हे ताज पहनाया भी गया। इस पूरे कार्यक्रम का प्रसारण श्रीलंका के सरकारी टीवी चैनल पर किया जा रहा था। जैसे ही डी सिल्वा को ताज पहनाया गया, उसके ठीक बाद ही मंच पर पूर्व विजेता कैरोलिन जूरी ने यह कहते हुए डी सिल्वा के सिर से ताज उतार लिया कि डी सिल्वा तलाक़शुदा हैं और इस वजह से वह इस प्रतियोगिता के लिए अयोग्य हैं।


कैरोलिन ने बाकायदा माइक के जरिये दर्शकों को संबोधित करते हुए उस समय बताया कि प्रतियोगिता के नियम के मुताबिक तलाक़शुदा महिलाएं इस प्रतियोगिता के लिए अयोग्य हैं औए इस वजह से वो इस ताज को अब दूसरे नंबर की प्रतियोगी को विजेता के तौर पर पहना रही हैं।

ताज उतारते समय सिर पर आई चोट

कैरोलिन अपने इस ऐलान के बाद फौरन ही डी सिल्वा की तरफ बढ़ गईं और उनके सिर से ताज को उतारने की कोशिश करने लगीं। डी सिल्वा ने बाद में दावा किया कि कैरोलिन कि इस हरकत से उनके सिर में चोटें आई और उन्हे डॉक्टर के पास भी जाना पड़ा।


ताज उतारे जाने के ठीक बाद डी सिल्वा रोते हुए मंच से चली गईं, हालांकि डी सिल्वा ने स्पष्ट तौर पर आयोजकों को यह बताया कि वह तलाक़शुदा नहीं हैं बल्कि अपने सिर्फ पति से अलग रह रही हैं। इस घटना का पूरा वीडियो बड़ी तेजी से सोशल मीडिया पर फैल गया जिसके बाद बड़ी संख्या में लोग डी सिल्वा के समर्थन में खड़े हो लग गए। इस दौरान डी सिल्वा को मिसेज वर्ल्ड इंक का भी समर्थन हासिल हुआ। गौरतलब है कि डी सिल्वा साल 2011 में मिस श्रीलंका भी रह चुकी हैं।

वापस मिला खिताब

घटना के दो दिन बीत जाने के बाद आयोजकों ने डी सिल्वा को उनका खिताब वापस दिलवाया और इस पूरे घटनाक्रम के लिए उनसे माफी भी मांगी। डी सिल्वा ने एक फेसबुक पोस्ट के जरिये यह बताया कि वो अब उनके साथ हुए इस अपमानजनक व्यवहार के खिलाफ कानूनी रास्ता अपनाएंगी।


इतना ही नहीं इसके बाद डी सिल्वा ने बाकायदा एक प्रेस कॉन्फ्रेंस भी की जिसमें उन्होने कहा कि वो अपने इस ताज को ऐसी महिलाओं को समर्पित कर रही हैं जो सिंगल मदर हैं यानी बिना अपने पति की सहायता के अपने बच्चों को पाल-पोस रही हैं। मालूम हो कि इस प्रतियोगिता के आयोजकों ने कैरोलिन द्वारा मंच पर किए गए उनके दुर्व्यवहार के खिलाफ जांच शुरु कर दी है।


हालांकि अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस में डी सिल्वा ने कहा कि वो इस कृत्य लिए आरोपी को माफ कर देंगी क्योंकि उन्हे किसी से घृणा नहीं करनी है, ईश्वर ने उन्हे प्यार करना सिखाया है।


Edited by Ranjana Tripathi