मुकेश अंबानी ने बस 1 दिन में की 3 बड़ी डील, आखिर क्या प्लान कर रहे हैं रिलायंस के मालिक?

By Anuj Maurya
December 23, 2022, Updated on : Fri Dec 23 2022 05:49:38 GMT+0000
मुकेश अंबानी ने बस 1 दिन में की 3 बड़ी डील, आखिर क्या प्लान कर रहे हैं रिलायंस के मालिक?
भारत के दूसरे सबसे अमीर शख्स मुकेश अंबानी ने पिछले दो दिनों में 3 बड़ी डील की हैं. पहले उन्होंने मेट्रो इंडिया को खरीदा. उसके बाद रिलायंस इंफ्राटेल को खरीदा. साथ ही अमरिका की Exyn Tech में 23.3 फीसदी हिस्सेदारी खरीद ली.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

रिलायंस इंडस्ट्रीज (RIL) के चेयरमैन मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) तेजी से अपना बिजनेस बढ़ाने में लगे हुए हैं. एक दिन पहले ही खबर आई थी कि रिलायंस रिटेल (Reliance Retail) ने मेट्रो इंडिया (Metro India) का अधिग्रहण कर लिया है. अब खबर ये है कि रिलायंस इंडस्ट्रीज ने अमेरिका की Exyn Technologies Inc में 23.3 फीसदी हिस्सेदारी खरीद ली है. इतना ही नहीं, उन्होंने अपने भाई अनिल अंबानी (Anil Ambani) की कंपनी रिलायंस इंफ्राटेल (Reliance Infratel) का भी अधिग्रहण कर लिया है.

Exyn Technologies Inc में 23.3 फीसदी हिस्सेदारी खरीदी

रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड की सब्सिडियरी कंपनी रिलायंस स्ट्रेटेजिक बिजनेस वेंचर्स ने अमेरिका की टेक्नोलॉजी कंपनी Exyn Technologies Inc में 23.3 फीसदी हिस्सेदारी खरीद ली है. यह डील 25 मिलियन डॉलर में हुई है. यह नेविगेशन टेक्नोलॉजी वाली कंपनी है, जो ड्रोन और रोबोट्स को बिना जीपीएस के मुश्किल भरे इलाकों में भी नेविगेशन की सुविधा देती है.


इस कंपनी की शुरुआत 2014 में हुई थी, जिसका हेडक्वार्टर पेन्सिलवेनिया के फिलाडेल्फिया शहर में स्थित है. बता दें कि रिलायंस इंडस्ट्रीज ने पहले से ही रोबोटिक्स कंपनी Addverb Technologies और ड्रोन फर्म Asteria Aerospace में मेज्योरिटी स्टेक लिया हुआ है. यानी रोबोटिक्स और ड्रोन के क्षेत्र में रिलायंस अपनी पकड़ मजबूत करने की कोशिश में लगी हुई है.

रिलायंस इंफ्राटेल का भी किया अधिग्रहण

वहीं दूसरी ओर रिलायंस जियो की सब्सिडियरी कंपनी रिलायंस प्रोजेक्ट्स एंड मैनेजमेंट सर्विसेस ने अनिल अंबानी की रिलायंस इंफ्राटेल में 100 फीसदी हिस्सेदारी खरीद ली है. यह डील 3725 करोड़ रुपये में हुई है. इसके लिए मुकेश अंबानी ने नवंबर 2019 में 3720 करोड़ रुपये की बोली लगाई थी, ताकि कंपनी के टावर और फाइबर असेट्स बिजनेस का अधिग्रहण किया जा सके.

हाल ही में खरीदा है मेट्रो इंडिया को

हाल ही में रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (Reliance Industries) की सब्सिडियरी कंपनी रिलायंस रिटेल वेंचर्स लिमिटेड ने जर्मन फर्म मेट्रो कैश एंड कैरी इंडिया प्राइवेट लिमिटेड (मेट्रो इंडिया) का अधिग्रहण किया है. यह डील करीब 2850 करोड़ रुपये में हुई है. पिछले कई सालों से रिटेल सेक्टर में रिलायंस अपनी पकड़ मजबूत करने की कोशिशों में लगा हुआ है. इसी के तहत रिलायंस ने अब मेट्रो इंडिया का अधिग्रहण किया है. रिलायंस और मेट्रो इंडिया के बीच 22 दिसंबर को ये डील साइन हुई है. इसके तहत रिलायंस रिटेल की तरफ से मेट्रो इंडिया की 100 फीसदी इक्विटी का अधिग्रहण किया जा रहा है.


मेट्रो इंडिया ने भारत में 2003 में बिजनेस शुरू किया था. उस वक्त यह पहली कंपनी थी, जो भारत में कैश एंड कैरी बिजनेस फॉर्मेट को लेकर आई थी. मौजूदा वक्त में कंपनी के 31 बड़े स्टोर्स हैं. अभी देश के 21 शहरों में 3500 कर्मचारी इस कंपनी में काम करते हैं. बता दें कि इस मल्टी-चैनल बी2बी कैश एंड कैरी थोक कंपनी की पहुंच मौजूदा समय में भारत के करीब 30 लाख ग्राहकों तक है. मेट्रो इंडिया ने 2021-22 (सितंबर 2022 को समाप्त वित्त वर्ष) में करीब 7700 करोड़ रुपये की सेल्स की है. जब से कंपनी भारत आई थी, उसके बाद से अब तक की ये सबसे अच्छी बिक्री रही है, लेकिन अब इस बिजनेस को मुकेश अंबानी ने खरीद लिया है.


कंपनी के करीब 10 लाख ग्राहक ऐसे हैं जो हर रोज कंपनी से सामान खरीदते हैं. ये ग्राहक कंपनी से सामान की खरीदारी के लिए ईB2B ऐप का इस्तेमाल करते हैं. अगर थोक मार्केट की बात करें तो मेट्रो इंडिया ने किराना मार्केट में खुद को एक मजबूत कंपनी की तरह स्थापित किया है. इससे देश के तमाम किराना दुकानदारों को सामान किफायदी दाम में आसानी से मिल पाता है.