Mukesh Ambani खरीद सकते हैं इस कंपनी का भारतीय बिजनेस, जानिए कितने रुपये में हो रही है ये डील

By Anuj Maurya
November 07, 2022, Updated on : Mon Nov 07 2022 07:43:31 GMT+0000
Mukesh Ambani खरीद सकते हैं इस कंपनी का भारतीय बिजनेस, जानिए कितने रुपये में हो रही है ये डील
देश के दूसरे सबसे अमीर शख्स मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) जर्मनी की एक कंपनी का भारतीय बिजनेस खरीदने की तैयारी कर रहे हैं. वह इस बिजनेस को 50 करोड़ यूरो यानी करीब 4060 करोड़ रुपये में खरीद सकते हैं.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

एक ओर देश के सबसे अमीर शख्स गौतम अडानी (Gautam Adani) तेजी से नए-नए बिजनेस में उतर रहे हैं. वहीं दूसरी ओर देश के दूसरे सबसे अमीर शख्स मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) भी पीछे नहीं हैं. जल्द ही मुकेश अंबानी एक और कंपनी को खरीदने वाले हैं. यह है जर्मनी की रिटेल कंपनी मेट्रो कैश एंड कैरी (Metro Cash and Carry), जिसका भारतीय कारोबार जल्द ही मुकेश अंबानी खरीदने की तैयारी कर रहे हैं. वह इस बिजनेस को 50 करोड़ यूरो यानी करीब 4060 करोड़ रुपये में खरीद सकते हैं.


न्यूज एजेंसी पीटीआई को सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इस डील में कंपनी के 31 होलसेल डिस्ट्रीब्यूशन सेंटर भी शामिल हैं. इसके अलावा जमीन और मेट्रो कैश एंडज कैरी के मालिकाना हक वाली तमाम संपत्तियां शामिल हैं. बता दें कि रिलायंस रिटेल पहले ही देश की सबसे बड़ी रिटेल कंपनी है और अब इस डील के बाद बी2बी कैटेगरी में कंपनी की मौजूदगी और मजबूत हो जाएगी.


रिलायंस इंडस्ट्रीज (Reliance Industries) और मेट्रो के बीच पिछले कई महीनों से इस डील को लेकर चर्चा चलने की खबरें हैं. सूत्रों के अनुसार पिछले हफ्ते ही जर्मनी की यह कंपनी रिलायंस रिटेल के प्रस्ताव पर राजी हो गई है. हालांकि, ना तो मेट्रो ने और ना ही रिलायंस इंडस्ट्रीज ने इस डील को लेकर कोई आधिकारिक घोषणा की है. जर्मनी की इस कंपनी मेट्रो एजी ने 2003 में भारत के मार्केट में एंट्री की थी, लेकिन अब वह भारत से निकलने की तैयारी में है.

1 अरब डॉलर की है ये कंपनी

JP Morgan और Goldman Sachs ने कंपनी के बिजनेस की वैल्यू करीब 1 अरब डॉलर आंकी है. ऐसा नहीं है कि सिर्फ मुकेश अंबानी ही इसे खरीदना चाहते थे, बल्कि थाईलैंड की सबसे बड़ी कंपनी Charoen Pokphand (CP) ग्रुप ने भी इसे खरीदने में दिलचस्पी दिखाई थी. हालांकि, शुरुआती दिलचस्पी के बाद वह इस डील से पीछे हट गई. जब थाईलैंड की कंपनी ने हाथ पीछे खींच लिए तो इसे खरीदने की रेस में सिर्फ रिलायंस ही बची और वह इस बिजनेस को खरीद रही है. इस तरह एक और विदेशी कंपनी भारत से रुखसत होने की तैयारी में है. हाल में मलेशिया की कंपनी एयरएशिया ने भारत में अपना कारोबार समेट लिया था.

सैलून के बिजनेस में भी उतर रही है रिलायंस

मुकेश अंबानी के नेतृत्व वाली रिलायंस इंडस्ट्रीज Reliance Industries की नजरें अब देश के 20 हजार करोड़ रुपये सैलून मार्केट पर भी हैं. यही कारण है कि उसकी कंपनी रिलायंस रिटेल Reliance Retail सैलून के कारोबार में उतरने की तैयारी कर चुकी है. रिलायंस रिटेल ने चेन्नई स्थित नेचुरल्स सैलून एंड स्पा Naturals Salons & Spa में लगभग 49 फीसदी हिस्सेदारी खरीदने के लिए बातचीत कर रही है.


मामले की जानकारी रखने वाले अधिकारियों ने बताया कि रिलायंस रिटेल, नेचुरल्स सैलून एंड स्पा चलाने वाली कंपनी ग्रूम इंडिया सैलून एंड स्पा में लगभग 49 फीसदी हिस्सेदारी हासिल करके एक जॉइंट वेंचर में प्रवेश करने के लिए अंतिम चरण में है. बता दें कि, Reliace Retail की कमान मुकेश अंबानी की बेटी ईशा अंबानी के हाथ है. सितंबर में रिलायंस के 45वें वार्षिक मीटिंग के मौके पर रिलायंस के मुखिया मुकेश अंबानी ने शेयरधारकों के सामने ईशा का परिचय रिलायंस रिटेल के नेतृत्वकर्ता के तौर पर कराया था.