इस युगल ने सादे समारोह में शादी कर बचाए हुए पैसे मुख्यमंत्री राहत कोष में दान कर दिये

By yourstory हिन्दी
May 16, 2020, Updated on : Sat May 16 2020 07:31:30 GMT+0000
इस युगल ने सादे समारोह में शादी कर बचाए हुए पैसे मुख्यमंत्री राहत कोष में दान कर दिये
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

ओड़ीसा के इस युगल ने सादे समारोह में अपनी शादी का आयोजन कर सीएम रिलीफ़ फंड में पैसे दान किए हैं।

ज्योति रंजन स्वैन और रोजलिन चेक सौंपते हुए (चित्र: NDTV)

ज्योति रंजन स्वैन और रोजलिन चेक सौंपते हुए (चित्र: NDTV)



मार्च के अंतिम सप्ताह में लॉकडाउन की घोषणा के साथ लोगों की कई योजनाओं पर पानी फिर गया और इस दौरान कई भारतीयों को अपने जीवन के बारे में जाने के लिए महत्वपूर्ण निर्णय लेने पड़े।


विशेष रूप से शादी उद्योग इस दौरान सबसे अधिक प्रभावित हुआ है, क्योंकि कई जोड़ों ने अपनी शादी को स्थगित करने के लिए चुना है, हालांकि यह अनुमान था कि इस तरह के कार्यक्रमों के लिए छूट दी जाएगी, लेकिन इसमें भी अनिश्चितता बनी रही।


हालांकि ओडिशा के एक जोड़े ने एक ऐसा विकल्प चुना जो उनके समुदाय की सहायता करने के लिए था। जगतसिंहपुर जिले से आते हुए ज्योति रंजन स्वैन और रोजलिन ने कम खर्च और निजी व्यवस्था के बीच शादी करने का रास्ता, जिससे उन्हें शादी समारोहों के लिए खर्च होने वाले पैसे बचाने का मौका मिला। यह बची धनराशि तब उन्होने कोरोनोवायरस के खिलाफ लड़ाई में योगदान देने के लिए मुख्यमंत्री राहत कोष में दान करने का फैसला किया।


दूल्हा, ज्योति रंजन, जिले के इरसामा ब्लॉक का निवासी है। दंपत्ति ने सार्वजनिक राहत कोष में 10,000 रुपये का योगदान दिया है। एक भव्य शादी की योजना बनाने के बावजूद युगल ने उस खर्च को दान कर बड़ी शादी के स्टीरियोटाइप को तोड़ने  का विकल्प चुना।





ज्योति रंजन ने द न्यू इंडियन एक्सप्रेस को बताया,

“हमने पहले एक भव्य समारोह की व्यवस्था की थी, लेकिन लॉकडाउन ने इस योजना को हिला दिया, इसलिए हमने राज्य को महामारी से निपटने में मदद करने के लिए शादी के लिए बचाए गए धन का एक हिस्सा दान करने का फैसला किया।"

इस दंपति ने पड़ोस के पुलिस स्टेशन के इंस्पेक्टर प्रभारी, प्रशांत कुमार मांझी साथ ही कार्तिक चंद्र बेहरा, इरसामा खंड विकास अधिकारी को भी आमंत्रित किया। उन्होंने बेहरा को CMRF के लिए 10,000 रुपये का चेक सौंपा। समारोह सभी सुरक्षा सावधानियों और सोशल डिस्टेन्सिंग मानदंडों को ध्यान में रखते हुए आयोजित किया गया था।


आउटलुक के अनुसार बेहरा ने बताया, "यहाँ कोई सामाजिक सभा नहीं थी। इस जोड़े ने समारोह के बाद मिठाई बांटी। यह एक साधारण मामला था।"