हमारा मान, हमारा राष्ट्रगान, बना कीर्तिमान

By रविकांत पारीक
August 15, 2021, Updated on : Sun Aug 15 2021 04:10:53 GMT+0000
हमारा मान, हमारा राष्ट्रगान, बना कीर्तिमान
डेढ़ करोड़ देशवासियों द्वारा अपना गाया राष्ट्रगान वेबसाइट पर अपलोड किया जाना एक असाधारण कीर्तिमान बना है। यह भारत की एकता, अखंडता और समरसता का उदघोष है।
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

आज पूरा भारत देश आज़ादी का अमृत महोत्सव मना रहा है। सारे देश ने इसका जयघोष एक साथ राष्ट्रगान गाकर कर दिया है। डेढ़ करोड़ देशवासियों द्वारा अपना गाया राष्ट्रगान वेबसाइट पर अपलोड किया जाना एक असाधारण कीर्तिमान बना है। यह भारत की एकता, अखंडता और समरसता का उदघोष है।


विगत 25 जुलाई को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मन की बात में देशवासियों से एक साथ राष्ट्रगान गाने का आह्वान किया था। यह आह्वान किसी मंत्र की तरह समूचे भारत वासियों के मन में समा गया और देखते ही देखते सबने मिलकर एक अपराजेय कीर्तिमान रच डाला।


भारत सरकार के संस्कृति मंत्रालय की पहल पर 15 अगस्त तक राष्ट्रगान गाकर वेबसाइट पर अपलोड करने का कार्यक्रम रचा गया। इसमें देश के सभी हिस्सों से, सभी वर्गों से लोगों ने बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया। बच्चे, बुजुर्ग, युवा, महिलाएं मानों कोई किसी से पीछे नहीं रहना चाहता था।

f

प्रतीकात्मक चित्र (साभार: AsiaTimes)

नामी गिरामी कलाकार, जाने माने विद्वान, बड़े से बड़े नेता, आला अफसर, जाबांज सिपाही, मशहूर खिलाड़ियों से लेकर किसान, मजदूर, दिव्यांग तक सभी ने बराबरी से इसमें भाग लिया और एक स्वर में राष्ट्रगान गाया। कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक और अरुणाचल प्रदेश से लेकर कच्छ तक सभी दिशाओं से जन गण मन के ही स्वर गूंज रहे हैं।


भारत के बाहर रहने वाले देशवासियों ने भी इसमें उत्साह से हिस्सा लिया और दिखा दिया कि तन उनका भले ही दूसरे देश में हो लेकिन मन तो उनका इसी भारत भूमि में रचा बसा है। हज़ारों मील दूर किसी कोने में बैठे भारत वासी ने जब अकेले में राष्ट्रगान गाया तो उसका स्वर एक सौ छत्तीस करोड़ देशवासियों के साथ एकाकार हो गया।


सिर्फ इकीस दिन में डेढ़ करोड़ की संख्या पार हो जाना प्रतीक है इस बात का कि अगर भारत वासी ठान लें तो कोई लक्ष्य कठिन नही हैं। यह इस बात का भी प्रतीक है कि डिजिटल इंडिया का भी स्वप्न साकार होने वाला है क्योंकि हर भारत वासी ने डिजिटल तकनीक का उपयोग करके अपना गान अपलोड किया है।


राष्ट्रगान हमारी आन बान शान का प्रतीक है। राष्ट्रगान गाने के इस कार्यक्रम से सभी में उत्साह और उमंग का तो संचार हुआ ही है साथ ही पूरे विश्व को भी भारत की मजबूत एकता का संदेश मिल गया है।